होटल कैनेलाइट के निदेशक की सड़क दुर्घटना में मौत, बिहार के दरभंगा के निवासी थे मिथिलेश झा

होटल कैनेलाइट के निदेशक मिथिलेश झा की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई । मौत की खबर से जमशेदपुर में शोक की लहर दौड़ गई है। मिथिलेश झा के साथ होटल के दो अन्य निदेशक निर्मल दीप व विनोद सिंह छत्तीसगढ़ स्थित रायगढ़ गए थे।

Rakesh RanjanPublish: Tue, 18 Jan 2022 12:51 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 01:55 PM (IST)
होटल कैनेलाइट के निदेशक की सड़क दुर्घटना में मौत, बिहार के दरभंगा के निवासी थे मिथिलेश झा

जमशेदपुर, जासं। साकची स्थित होटल कैनेलाइट के निदेशक मिथिलेश झा की सड़क दुर्घटना में मौत हो गई है।  बताया जाता है मिथिलेश झा के साथ होटल के दो अन्य निदेशक निर्मल दीप व विनोद सिंह छत्तीसगढ़ स्थित रायगढ़ गए थे। वहां से जमशेदपुर लौटते समय रायगढ़ में ही मंगलवार भोर में उनकी कार दुर्घटनाग्रस्त हो गई।

इसमें मिथिलेश झा की घटनास्थल पर ही मौत हो गई, जबकि निर्मल दीप व विनोद सिंह को भी गंभीर चोट लगी है। निर्मल दीप की स्थिति काफी गंभीर है। यह खबर मिलते ही जमशेदपुर में शोक की लहर दौड़ गई है। मिथिलेश झा के बड़े भाई होटल के निदेशक अमलेश झा मूर्छित हो गए हैं। परिवार में कोहराम मच गया है। जमशेदपुर से होटल के मैनेजर समेत स्वजन रायगढ़ रवाना हो गए हैं।

दरभंगा के मूल निवासी थे मिथिलेश झा

होटल कैनेलाइट के निदेशक स्व. मिथिलेश झा दरभंगा के मूल निवासी थे। इनकी हाईस्कूल की पढ़ाई 1990 से 1994 तक दरभंगा के राज हाईस्कूल से हुई थी, जबकि स्नातक की पढ़ाई बिहार के दरभंगा स्थित ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय से हुई थी। इनका विवाह सात फरवरी 2007 को डा. आरती झा से हुआ था, जिनसे स्व. मिथिलेश झा को दो संतान हुई।

2008 में बने थे कैनेलाइट होटल्स प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक

कैनेलाइट होटल्स प्राइवेट लिमिटेड का गठन 21 जनवरी 2016 को हुआ था। इसके साथ ही साकची में जामा मस्जिद से सटे होटल कैनेलाइट का उदघाटन पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास ने किया था। यहां पहले साकची सराय था, जो वर्षों से खंडहर पड़ा था। झारखंड सरकार के पर्यटन विभाग ने होटल कैनेलाइट को लीज पर होटल चलाने के लिए दिया था। मिथिलेश झा इससे पहले कैनेलाइट फेसिलिटी मैनेजमेंट सर्विसेज प्राइवेट लिमिटेड के निदेशक बने थे। उस वक्त यह कंपनी टाटा समूह के बिष्टुपुर स्थित होटल जिंजर में कैटरिंग का संचालन कर रही थी। इसके बाद इस कंपनी ने कई कंपनियों में कैटरिंग सर्विस का कारोबार शुरू किया। इनकी कंपनी कैनेलाइट फाउंडेशन भी चलाती है, जिसके माध्यम से समाजसेवा के कार्य किए जाते हैं।

Edited By Rakesh Ranjan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept