रेडक्रास के नेत्र शिविर पर भी कोरोना की मार, 17 व 24 अप्रैल को लगने वाला शिविर स्थगित Jamshedpur News

Corona Effect on Eye Camp कोरोना की दूसरी लहर का असर चिकित्सा व्यवस्था पर भी पड़ने लगा है। तमाम अस्पतालों में ओपीडी समेत दूसरे इलाज पर रोक लग चुकी है तो अब रेडक्रास का नेत्र शिविर भी स्थगित कर दिया गया है।

Rakesh RanjanPublish: Tue, 13 Apr 2021 04:38 PM (IST)Updated: Tue, 13 Apr 2021 04:38 PM (IST)
रेडक्रास के नेत्र शिविर पर भी कोरोना की मार, 17 व 24 अप्रैल को लगने वाला शिविर स्थगित Jamshedpur News

जमशेदपुर, जासं। कोरोना की दूसरी लहर का असर चिकित्सा व्यवस्था पर भी पड़ने लगा है। तमाम अस्पतालों में ओपीडी समेत दूसरे इलाज पर रोक लग चुकी है, तो अब रेडक्रास का नेत्र शिविर भी स्थगित कर दिया गया है। रेडक्रास के मानद सचिव विजय कुमार सिंह ने कहा कि कोरोना की वजह से 17 व 24 अप्रैल को निर्धारित नेत्र चिकित्सा शिविर स्थगित कर दिया गया है।

इससे पूर्व टाटा पिगमेंट लिमिटेड के सौजन्य से रेडक्रास का 608वां नेत्र शिविर मरीजों की विदाई के साथ संपन्न हो गया। इसमें डा. बीपी सिंह ने आपरेशन कराने वाले मरीजों की आंखों की जांच की, जिसके बाद टाटा पिगमेंट व रेडक्रास के प्रतिनिधियों ने मरीजों को काला चश्मा व आवश्यक देकर विदा किया।  बागबेड़ा स्थित राम मनोहर लोहिया नेत्रालय में चिमनलाल भालोटिया सेवा संस्थान, राजस्थान सेवा सदन तथा जिला ग्रामीण स्वास्थ्य समिति के सहयोग से लगे शिविर के अंतिम दिन जाने-माने नेत्र चिकित्सक डा. बीपी सिंह व उनकी टीम ने आपरेशन करा चुके नेत्र रोगियों की आंखों की पट्टी खोलकर अंतिम जांच की।

स्थिति सामान्य होने पर दोबारा नेत्र शिविर

इस अवसर पर उपस्थित रेडक्रास सोसाइटी, पूर्वी सिंहभूम के मानद सचिव विजय कुमार सिंह ने कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रति चिंता जाहिर करते हुए कहा कि रेडक्रास सोसाइटी की प्रबंध समिति ने निर्णय लिया है कि 17 व 24 अप्रैल से आयोजित होने वाले शिविर स्थगित कर दिए जाएं। उन्होंने कहा कि स्थिति सामान्य होने पर दोबारा नेत्र शिविरों का सामान्य आयोजन किया जाएगा। ज्ञात हो कि शनिवार को इस शिविर में 34 रोगी आए थे, लेकिन इनमें से 20 नेत्र रोगियों काे ही उपयुक्त पाए जाने के बाद आपरेशन व लेंस प्रत्यारोपण किया गया।

Edited By Rakesh Ranjan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept