गलत आधार कार्ड बना नाबालिग मजदूरों को ले जाते हैं दलाल

आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिला के कोटापटनम स्थित फूड पार्क प्रा. लिमिटेड में कंपनी द्वारा पीड़ित नाबालिग एवं अन्य मजदूरों को सुरक्षित घर वापसी एवं मामले की तह तक पहुंचने के लिए जिला प्रशासन रेस हो गया है। इस मामले को लेकर थाना प्रभारी अवनीश कुमार ने झाड़बेड़ा के कुछ मजदूरों को लेकर सुबह वरीय पुलिस अधीक्षक जमशेदपुर के कार्यालय पहुंचे।

JagranPublish: Sat, 27 Nov 2021 07:00 AM (IST)Updated: Sat, 27 Nov 2021 07:00 AM (IST)
गलत आधार कार्ड बना नाबालिग मजदूरों को ले जाते हैं दलाल

संसू, धालभूमगढ़ : आंध्र प्रदेश के नेल्लोर जिला के कोटापटनम स्थित फूड पार्क प्रा. लिमिटेड में कंपनी द्वारा पीड़ित नाबालिग एवं अन्य मजदूरों को सुरक्षित घर वापसी एवं मामले की तह तक पहुंचने के लिए जिला प्रशासन रेस हो गया है। इस मामले को लेकर थाना प्रभारी अवनीश कुमार ने झाड़बेड़ा के कुछ मजदूरों को लेकर सुबह वरीय पुलिस अधीक्षक जमशेदपुर के कार्यालय पहुंचे। वहां एसएसपी ने मछली कंपनी में काम कर रहे मजदूरों से घाटना की जानकारी ली एवं थाना प्रभारी को आवश्यक दिशा निर्देश दिया। दोपहर के बाद धालभूमगढ़ थाना में एसडीओ सत्यवीर रजक, मुसाबनी डीएसपी चंद्रशेखर आजाद, जिला समाज कल्याण पदाधिकारी सत्या ठाकुर, घाटशिला महिला थाना प्रभारी रूकमणी कुमारी, पुलिस निरीक्षक राजेन्द्र दास, थाना प्रभारी अवनिश कुमार, कार्यपालक दंडाधिकारी सुरेश करमाली, सीओ सदानंद महतो, सीएसआई अर्जुन यादव ने पदाधिकारियों के साथ मामले को लेकर बैठक की। मजदूरों से घटना की पूरी जानकारी ली। मजदूर मो. वाजिद चाकुलिया, रोहित कालिदी डुमरिया, मनोज कुमार मुर्मू वनकाटी, बड़ा महेश्वर मुर्मू वनकाटी, देबू मांडी झाड़बेड़ा, आरसु मुर्मू, सुनिता मांडी, सुनिला मांडी से एसडीओ ने व डीएसपी ने जानकारी ली। कब काम करने गए थे कितने गए थे संबंधित जानकारी लेने के बाद रिपोर्ट तैयार किया। मजदूरों अपनी आपबीती सुनाया एवं नाबालिग व अन्य मजदूरों को वापस लाने की गुहार लगाई। एसडीओ ने बताया कि पूरी घटना की जांच की जा रही है। वहां फंसे मजदूरों को किस तरह से लाया जाए इसके लिए वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर आगे की कार्रवाई की जाएगी। डीएसपी ने कहा कि आंध्र प्रदेश के लिए एक टीम का गठन किया गया है वरीय पदाधिकारी के निर्देश पर उम्मीद की जा रही है कि आज रात टीम आंध्र प्रदेश रवाना होगी। टीम वहां की पुलिस के मदद से कंपनी में जाकर जांच पड़्ताल कर पीड़ित की जानकारी लेगी। आंध्र प्रदेश के लिए रवाना हुई टीम : आंध्र प्रदेश रवाना होने वाली टीम में घाटशिला महिला थाना प्रभारी रूकमणी कुमारी, चाकुलिया पीएसआई अभय कुमार, धालभूमगढ़ के एएसआई देवनाथ सिंह, चाइल्ड लाइन के राकेश मिश्रा व एक अन्य चाइल्ड लाइन की महिला कर्मी आंध्र प्रदेश के लिए रवाना होगी। संभवत आज ही रात को जाने की तैयारी में है। देर शाम धालभूमगढ़ थाना में कागजी प्रक्रिया पूरी की जा रही है। मजदूरों को वापस लाने के लिए चाहिए सहयोग : धालभूमगढ़ थाना प्रभारी अवनीश कुमार के निर्देश पर युवा शक्ति संगठन के अध्यक्ष हेमंत मुंडा ने झाड़बेड़ा, वनकाटी के मजदूरों को थाना लाया एवं मजदूरों का थाना प्रभारी के हवाले किया। इस संबंध में मुंडा ने कहा कि इस क्षेत्र के कई मजदूर आंध्र प्रदेश में काम करते है। वहां इस तरह की घटना घटी है ऐसे में मजदूर किस तरह से धालभूमगढ़ पहुंचे। मजदूरों को प्रशासन की सहयोग से घर तक पहुंचाया जाए। मजदूरों को न्याय दिलाने एवं फंसे हुए मजदूरों को वापस लाने के लिए सहयोग चाहिए। इसके लिए मजदूरों को लाया गया था। जन्म तिथि बढ़ा कर बनाया दूसरा आधार कार्ड, स्कूल पंजी से हुआ खुलासा : आधार कार्ड में जन्म तिथि को बढ़ाकर दूसरा आधार कार्ड बनाकर मजदूर दूसरे राज्यों में पलायन कर काम कर रहे है। वैसे ही एक मामला आंध्र प्रदेश में काम कर रही पीड़ित नाबालिग मजदूर के साथ भी किया गया है। इसका खुलासा पीड़ित नाबालिग ढेडांग उत्क्रमित मध्य विद्यालय की कक्षा 8 वीं की छात्रा है। लॉकडाउन के कारण विद्यालय बंद होने के कारण छात्रा विद्यालय नही जाती थी। विद्यालय के प्रधानाध्यापक विक्रम सोरेन ने जब विद्यालय की पंजी व उक्त छात्रा का आधार कार्ड एसडीओ को दिखाया तो सह मामला सामने आया है। विद्यालय में दिया गया आधार कार्ड में पीडिता का जन्म तिथि 28 मई 2008 है। जबकि जहां काम रही थी वहां दर्शाया गया आधार कार्ड में जन्म तिथि 28 मई 2002 दर्शाया गया है। सही आधार कार्ड के आधार पर 14 वर्ष पीड़िता का उम्र है। जबकि बदला गया आधार कार्ड में 19 वर्ष दर्शाया जा रहा है। इस संबंध में एसडीओ व डीएसपी ने बताया कि आधार कार्ड गलत तरीके से बनाकर कंपनी में काम कराया जाता है। ऐसे काम कर रहे लोगों को भी सोचना होगा। इस तरह के काम को रोकने की हरसंभव प्रयास किया जाएगा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept