Electricity Bill Issues: बिजली कनेक्शन लेकर फंस गए बीपीएल कार्डधारी, खाने को लाले पड़े; 25,000 रुपये आ गया बिजली का बिल

झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के अधिकारियों ने बीपीएल कार्ड धारकों का जहां बिजली बिल नहीं भरने के कारण कनेक्शन काट दिया है वहीं 10000 से 25000 रुपये तक का बिल थमाया जा रहा है। ऐसे में बीपीएल उपभोक्ता काफी परेशान व लाचार दिख रहे हैं।

Rakesh RanjanPublish: Thu, 25 Nov 2021 09:54 AM (IST)Updated: Thu, 25 Nov 2021 09:54 AM (IST)
Electricity Bill Issues: बिजली कनेक्शन लेकर फंस गए बीपीएल कार्डधारी, खाने को लाले पड़े; 25,000 रुपये आ गया बिजली का बिल

जमशेदपुर, जासं। जमशेदपुर के घोड़ाबंधा के खापचाडुंगरी व राजाबस्ती के बीपीएल कार्डधारी बिजली कनेक्शन लेकर फंस गए हैं। झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड के अधिकारियों ने बीपीएल कार्ड धारकों का जहां बिजली बिल नहीं भरने के कारण कनेक्शन काट दिया है वहीं 10,000 से 25,000 रुपये तक का बिल थमाया जा रहा है।  ऐसे में बीपीएल उपभोक्ता काफी परेशान व लाचार दिख रहे हैं। कई ऐसे उपभोक्ता हैं, जिनके पास दो जून की रोटी खाने व रहने को घर नहीं है। विद्युत विभाग द्वारा थमाए गए बिल का भुगतान करना उनके लिए संभव प्रतीत नहीं हो रहा है।

यह मामला प्रकाश में आने के बाद बीते सप्ताह भाजपा नेता अंकित आनंद ने बिजली विभाग के अधिकारियों से मिलकर इस मामले में उचित समाधान का आग्रह किया था। इसके बावजूद खापचाडुंगरी गांव के कई गरीबों पर विभाग ने बकाये बिल और बिजली चोरी का केस कर दिया है। इस कार्रवाई को आदिवासियों पर अत्याचार और ज्यादती बताते हुए भाजपा के पूर्व जिला प्रवक्ता अंकित आनंद ने बुधवार को राज्य के ऊर्जा सचिव और जेबीवीएनएल के महाप्रबंधक अविनाश कुमार सहित पूर्वी सिंहभूम के उपायुक्त सूरज कुमार और जिले के विद्युत प्रबंधक को पत्र लिखकर गरीबों पर दर्ज़ हुए केस और काटे गए बिजली कनेक्शन के संदर्भ में ध्यानाकर्षित किया है।

भिक्षाटन आंदोलन की चेतावनी

अंकित ने छह बिंदुओं पर मांग पत्र समर्पित करते हुए बिजली विभाग और डीसी से उचित हस्तक्षेप का आग्रह किया है, ताकि मध्यस्थता से समाधान किया जा सके जिससे विभाग की गरिमा भी बनी रहे और गरीबों का स्वाभिमान भी बरकरार रहे। बीजेपी नेता अंकित आनंद ने अपने पत्र में छह बिंदुओं पर सुझाव देकर रविवार तक मामले में पहल सुनिश्चित करने का निवेदन किया है। सुनवाई नहीं होने की स्थिति में अंकित आनंद ने 'भिक्षाटन आंदोलन' शुरू करने की चेतावनी दी है। कहा कि यदि अगले तीन दिनों के अंदर बिजली विभाग गरीब बीपीएल उपभोक्ताओं के हित में पहल करता है, तो उसका स्वागत रहेगा। मांग को अनसुना करने की स्थिति में सत्याग्रह आंदोलन का शंखनाद होगा और भिक्षाटन करके बकाया बिल के लिए निधि संग्रह किया जाएगा। पत्र की एक प्रति छोटा गोविंदपुर के थाना प्रभारी को भी भेजी गई है और उनसे गरीबों पर किसी प्रकार की दमनकारी कार्रवाई नहीं करने का आग्रह किया है।

मांग पत्र में निहित प्रमुख आग्रह

  •   खापचाडुंगरी एवं राजा बस्ती में शिविर लगाकर ग्रामीण बिजली कनेक्शन धारकों की समस्याओं का निष्पादन सुनिश्चित हो।
  •  खापचाडुंगरी एवं राजा बस्ती के गरीब लोगों पर गोविंदपुर थाना में दर्ज़ मुकदमे पर सहानुभूति पूर्वक विचार करते हुए सुलहनामे से समाप्त किया जाए।
  • इन ग्रामीणों के भारी-भरकम विद्युत बिल को माफ किया जाए या 6 से 10 किस्त में भुगतान की व्यवस्था सुनिश्चित हो।
  • काटे गए बिजली कनेक्शन को अविलंब जोड़ने की कार्रवाई हो।
  • बीपीएल कनेक्शन धारकों के ख़राब/शॉर्ट सर्किट से जले हुए विद्युत मीटर जल्द से जल्द बदला जाए। 
  • उक्त ग्रामीणों को नियमित रूप से विद्युत बिल थमाया जाए, ताकि उन्हें बकाया भुगतान में परेशानी नहीं हो।

Edited By Rakesh Ranjan

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept