SBI Alert : स्टेट बैंक ने कोरोना संक्रमित स्टाफ के लिए फायनेंसियल स्कीम वापस ले ली, आखिर क्यों...

SBI Alert कोरोना की तीसरी लहर में फ्रंटलाइन वर्कर्स दिन-रात एक किए हुए हैं। बैंककर्मी बिना अपनी फिक्र किए हमारी सेवा कर रहे हैं। इस बीच स्टेट बैंक ने बड़ा फैसला लेते हुए कोरोना से संक्रमित होने वाली कर्मचारिओं को दी जाने वाली वित्तीय सहायता वापस ले ली है...

Jitendra SinghPublish: Tue, 18 Jan 2022 06:15 AM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 09:35 AM (IST)
SBI Alert : स्टेट बैंक ने कोरोना संक्रमित स्टाफ के लिए फायनेंसियल स्कीम वापस ले ली, आखिर क्यों...

जमशेदपुर, जासं। जब इस वर्ष की शुरुआत से ही कोरोना या यहां कोविड-19 के मामलों में तेजी से वृद्धि हो रही है, भारतीय स्टेट बैंक ने कोरोना संक्रमित कर्मचारियों के लिए अपनी "विशेष सहायता योजना’ को समयसीमा से पहले वापस ले लिया है। आखिर बैंक प्रबंधन ने ऐसा क्यों किया, यह किसी को समझ में नहीं आ रहा है।

वहीं बैंक प्रबंधन ने इस योजना को वापस लेने की सूचना के साथ कहा है कि कोविड पॉजिटिव पाए गए प्रत्येक कर्मचारी को 20,000 रुपये देने की विशेष योजना को एक जनवरी से बैंक की पहले से मौजूद चिकित्सा योजना में शामिल कर लिया गया है। इस वजह से इस योजना की विस्तारित समयसीमा से तीन महीने पहले इसे बंद कर दिया गया है। बैंक ने 13 जनवरी को विभागीय सूचना में कहा है कि "विशेष सहायता योजना 2020' के तहत दावे की सुविधा समाप्त हो जाएगी। बैंक ने अक्टूबर 2021 में योजना की अवधि 31 मार्च 2022 तक बढ़ा दी थी।

बैंक प्रबंधन ने कहा, घबराने की जरूरत नहीं

निर्धारित समय से पहले योजना बंद करने के निर्णय से कुछ कर्मचारी खुश हैं, तो कुछ कर्मचारी नाराज हैं। दूसरी ओर इस मामले में बैंक प्रबंधन का कहना है कि बैंक कर्मचारी और उनके आश्रित परिवार के सदस्यों के लिए कोविड के इलाज के लिए किए गए सभी स्वीकार्य चिकित्सा खर्चों की 100 प्रतिशत प्रतिपूर्ति की जा रही है। मृत्यु होने पर कर्मचारियों को 20 लाख रुपये नकद मुआवजा देने की योजना भी लागू है।

सामान्य बीमारी की तरह मिलेगा खर्च

बैंक प्रबंधन ने कहा है कि दिल्ली, मुंबई और कोलकाता में अब कोविड पॉजिटिव के मामलों में गिरावट देखी जा रही है। स्थानीय सरकारें जनवरी के तीसरे या चौथे सप्ताह में दैनिक मामलों के चरम को देखने का अनुमान लगा रही हैं। इसका दूसरा पहलू है कि तीसरी लहर पिछली लहरों के विपरीत है, क्योंकि अधिकांश कर्मचारियों को टीका लगाया गया है।

अस्पतालों में कोविड बेड और ऑक्सीजन की आपूर्ति जैसी चिकित्सा सुविधाओं में सुधार हुआ है। हमारा बैंक इमरजेंसी चिकित्सा के लिए प्रभावित कर्मचारियों के साथ पूरी तरह खड़ा है। अस्पतालों और होटलों के साथ विशेष करार के साथ बिस्तरों की व्यवस्था कर रहा है। प्रभावित या संक्रमित कर्मचारियों को अकेला नहीं छोड़ा जाएगा। कोविड -19 से संबंधित इलाज के खर्च का भुगतान सामान्य तरीके से किया जाएगा।

Edited By Jitendra Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept