20 हजार ने राशन कार्ड किया सरेंडर

प्रशासन की कार्रवाई के भय से सक्षम लोगों ने राशन कार्ड लौटाया गरीबों के निवाले पर सक्षम लोग

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 08:24 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 08:24 PM (IST)
20 हजार ने राशन कार्ड किया सरेंडर

प्रशासन की कार्रवाई के भय से सक्षम लोगों ने राशन कार्ड लौटाया

गरीबों के निवाले पर सक्षम लोग डाल रहे थे डाका, कई पर हुई कार्रवाई

मासूम अहमद,

हजारीबाग : समाज के कमजोर वर्ग के लोगों को न्यूनतम दर पर खाद्यान्न उपलब्ध कराने के लिए सरकार द्वारा जन वितरण प्रणाली की योजना चल रही है। राष्ट्रीय और राज्य खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत लाभुकों के बीच राशन कार्ड निर्गत किया जाता है। मगर योजना के तहत वास्तविक जरूरतमंदों के निवाले पर कुछ सक्षम लोगों की भी नजर लगी रहती है। नतीजा यह होता है कि कुछ संपन्न परिवार के लोग भी अपना राशन कार्ड बनवा कर गरीबों के निवाले को हजम करते रहते हैं। इतना ही नहीं कुछ भ्रष्ट किस्म के डीलर भी डमी राशन कार्ड बनवा कर गरीबों का हक मारते हैं। योजना का लाभ संपन्न परिवार के लोग व डीलर न उठाएं इसके लिए विभाग की सख्ती का असर दिखने लगा है। सख्ती का परिणाम है कि वर्ष 2021 में पहली जनवरी से लेकर 2021 के 31 दिसंबर तक यानी एक वर्ष की अवधि में 19530 राशन कार्ड सरेंडर किए गए। इन कार्डों में परिवार के सदस्यों की संख्या 66406 थी। यानी करीब 20 हजार राशन कार्ड के लाभुकों का हक छीना जा रहा था। यह प्रवृति कोई नई नहीं है। इस प्रवृति के खिलाफ जबसे यह अभियान शुरू हुआ है तब से अब तक जिले में 58188 राशन कार्ड कैंसिल किया जा चुका है। इनमें खुद से कार्ड सरेंडर करने के अलावा प्रशासन और विभाग द्वारा जब्त किए गए कार्ड भी शामिल हैं। इनमें हजारीबाग नगर क्षेत्र से सर्वाधिक 7165 कार्ड शामिल हैं।

अयोग्य राशन कार्डधारियों से वसूली गई थी डेढ़ लाख की राशि

संपन्न और अयोग्य कार्डधारियों के विरुद्ध प्रशासन द्वारा दो वर्ष पूर्व चलाए गए अभियान में जिले भर में छह अयोग्य राशन कार्डधारियों से एक लाख 56 हजार 632 रुपये की वसूली की गई थी। इनमें बारहमोरिया विष्णुगढ के विष्णु महतो से 13675 रुपये, हरली दारू के ब्रह्मदेव गिरि से 22407रुपये, कमल लोहार से 11353 रुपये, बसंत कुमार से 8066 रुपये, पेटो दारू की उमनी देवी से 15685 रुपये और जबरा के गोपाल राम से 85446 रुपये की वसूली की गई थी।

-----------------------

सक्षम लोगों और अयोग्य राशन कार्डधारियों से लगातार आग्रह किया जा रहा है कि वह अपना कार्ड खुद से सरेंडर कर दें। ऐसा नहीं करने पर विभाग और प्रशासन द्वारा उनके विरुद्ध नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी। पूर्व में ऐसे कुछ लोगों के विरुद्ध कार्रवाई हुई भी है।

अरविद कुमार, जिला आपूर्ति पदाधिकारी हजारीबाग

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept