आपराधिक गिरोह व नशा कारोबार पर पुलिस की दबिश

जागरण टीम गोड्डा गुलजारबाग मोहल्ला में कर्मयोगी श्याम रजक की हत्या के बाद पुलिस ने शह

JagranPublish: Wed, 19 Jan 2022 07:20 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 07:20 PM (IST)
आपराधिक गिरोह व नशा कारोबार पर पुलिस की दबिश

जागरण टीम, गोड्डा : गुलजारबाग मोहल्ला में कर्मयोगी श्याम रजक की हत्या के बाद पुलिस ने शहर में गुंडागर्दी करने वाले गिरोह को कुचलने की तैयारी तेज कर दी है। स्व. रजक के बेटे से नशेड़ी गिरोह के आरोपितों ने बंधक बनाकर मारपीट की और बाद में बेटे को छुड़ाने आए पिता श्याम रजक को मौत के घाट उतार दिया। पुलिस प्रशासन अब ऐसे गिरोह को कुचलने की तैयारी में जुट गया है। लगातार कार्रवाई की जा रही है।

एसपी वाइएस रमेश ने इस मामले में सदर एसडीपीओ व नगर पुलिस निरीक्षक को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि इस गिरोह के नेटवर्क को ध्वस्त करते हुए जो भी इसमें शामिल हैं, उस पर कठोर कार्रवाई होनी चाहिए और दोबारा ऐसे गिरोह के द्वारा किसी घटना की पुनरावृति नहीं होनी चाहिए। इस ग्रुप से जुड़कर बादल साह व सक्षम मिश्रा नामक दो हत्यारोपितों ने एक गरीब परिवार को पीड़ा दी व उसे मौत के घाट उतार दिया, पुलिस अब किसी तरह के ढील देने के मूड में नहीं है। पुलिस की तकनीकी शाखा आपराधिक गिरोह व शहर के ग्रुप के सोशल साइट फेसबुक, इंस्टाग्राम, व्हाटएग्रुप आदि को खंगाल रही है जहां उससे पुलिस को कई सुराग मिल रहे हैं। पुलिस गिरोह से जुड़े हाई कंप्रेशर मोटरसाइकिल की भी पहचान कर रही है। हास्टल व लाज पर भी शिकंजा कसा जा रहा है। वहीं आम लोगों से भी अपील की जा रही है कि जहां से किसी गिरोह व ग्रुप के अड्डाबाजी व नशाखोरी के साथ ही मारपीट सहित अन्य अपराधिक गतिविधि की जानकारी मिले इसकी सूचना पुलिस को दें। कार्रवाई के लिए भी पुलिस ने टीम बनाई है। श्याम रजक हत्याकांड से शहरवासी भी हतप्रभ हैं। पुलिस जांच में भी यह बात सामने आ रही है कि गुलजारबाग के आसपास के मोहल्ले में बादल साह व सक्ष्म मिश्रा गिरोह के लड़के को सेल्टर देता था व पार्टी चलती थी जहां मारपीट योजना बनती थी। पुलिस ने इस अपराध को गंभीर माना है व कहा है गिरोह व ग्रुप बनाकर किसी के साथ मारपीट करना जानलेवा हमला करना या फिर हत्या कर देना यह जघन्य अपराध की श्रेणी है। ऐसे मामले में अभिभावक भी कम दोषी नहीं है जो अपने बच्चों की गतिविधि पर नजर नहीं रखते।

नगर थाना पुलिस ने बुधवार को आधा दर्जन लड़कों को थाना पूछताछ के लिए बुलाया जो किसी न किसी ग्रुप व गलत कार्य के जुड़े थे। जहां पुलिस ने गहन पुछताछ की इसके बाद लड़के के अभिभावक को बुलाकर सख्त हिदायत दी गई जहां पीआर बांड पर छोड़ा गया। स्पष्ट कहा गया है दोबारा अगर शिकायत मिली तो अब कानूनी कार्रवाई भी होगी। नाबालिग की स्थिति में अभिभावक पर भी कार्रवाई हो सकती है। लोगों ने भी शहर में पनप रहे ग्रुप व गिरोह पर सख्त कार्रवाई की मांग पुलिस प्रशासन से की है जो समाज, आम लोग और विधि व्यवस्था के लिए समस्या बन रहे है।

गिरोह व ग्रुप के साथ ही नशाखोर व नशा में संलिप्त लोगों पर भी शिकंजा कसा जा रहा है जहां कई तरह की जांच की जा रही है। सोशल साइट से पुलिस की कई जानकारी मिल रही है। मोहल्ले के लोग भी पुलिस को जानकारी दे रहे हैं। शहर में सरकंडा से लेकर रौतारा चौक, मिशन चौक, गंगटा, गुलजारबाग तक कई ग्रुप व गिरोह बने हुए हैं जो अब पुलिस रडार पर है। पुलिस अब इनके अड्डा पर भी छापेमारी कर रही है। किसी गलत कार्य में संलिप्त लोगों को संरक्षण देना भी अपराध है। संरक्षण दाता को भी पुलिस चिन्हित कर रही है जो पैरवी के लिए आते है।

---------------------

शहर व आसपास संचालित अपराधिक गिरोह व ग्रुप पर पुलिस नजर है लगातार कार्रवाई हो रही है पुलिस की तकनीकी शाखा ऐसे ग्रुप के सोशल साइट को भी खंगाल रही है जहां से कई जानकारी व नाम मिल रहे है। लाज हास्टल पर कार्रवाई हो रही है। कुृछ को लाया गया था जिन्हें पूछताछ के बाद अभिभावक को सौंप दिया गया। अभिभावक हिदायत दी जा रही है कि वे अपने बच्चों पर नजर रखें।

- मुकेश कुमार पांडेय, नगर थाना प्रभारी गोड्डा

---------------------

अपराध के बाद भी हटिया परिसर से नहीं हटा अतिक्रमण

गोड्डा: नगर थाना के हटिया परिसर में चार दिन पूर्व सरकारी जमीन पर बने अवैध आलू गोदाम में पिता पूत्र की पिटाई में पिता श्याम रजक की मौत के बाद भी नगर परिषद कहीं से गंभीर नहीं दिख रही है। अबतक अवैध रूप से अतिक्रमित गोदाम दुकान व गैरेज को हटाने में नगर परिषद से स्तर से कोई कार्रवाई नहीं हो रही है जबकि पुलिस कार्रवाइ के लिए तैयार है। घटना से आक्रोशित लोगों ने हटिया परिसर अवैध अतिक्रमण को हटाने की मांग की थी जिसकी आड़ में अपराध पनप रहा है व हटिया परिसर असामाजिक तत्वों का अड्डा बनता जा रहा है। अबतक नगर परिषद निष्क्रिय रहा है जिससे लोगों में नपं के पदाधिकारी के प्रति भी नाराजगी है। जहां अब इसकी शिकायत वरीय अधिकारी से लोग करेंगे। नपं अध्यक्ष जितेन्द्र कुमार भी पूर्व में कह चुके हे कि अतिक्रमण को लेकर कई बार कह चुके हैं, लेकिन कोई उनकी बात नहीं सुनता।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept