This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Jharkhand Unlock 5.0: वीकेंड लॉकडाउन खत्‍म ! अब सबकी नजरें अनलॉक-5 पर...जान‍िए सरकार क्‍या न‍िर्णय लेने जा रही?

आज से पूरे राज्‍य में वीकेंड लॉकडाउन खत्‍म हो गया है। अब सबकी नजरें अनलॉक-5 के फैसले पर ट‍िक गई है। क्‍या सरकार इस बार छूट का दायरा बढ़ाकर व्‍यवसायी वर्ग व स्‍कूल-कोच‍िंंग संचालकों को राहत देगी या फ‍िर स्‍थ‍ित‍ि जस की तस बनी रहेगी। पढ़ि‍ए पूरी खबर

Atul SinghMon, 28 Jun 2021 01:07 PM (IST)
Jharkhand Unlock 5.0: वीकेंड लॉकडाउन खत्‍म ! अब सबकी नजरें अनलॉक-5 पर...जान‍िए सरकार क्‍या न‍िर्णय लेने जा रही?

 जागरण, संवाददाता: आज से पूरे राज्‍य में वीकेंड लॉकडाउन खत्‍म हो गया है। अब सबकी नजरें अनलॉक-5 के फैसले पर ट‍िक गई है। धनबाद की बात करें तो यहांं के व्‍यवसायी लगातार छूट की मांग करते आए है। दुकान बंद करने के समय को शाम 4 बजे से बढ़ाकर सात बजे तक करने की इजाजत मांग रहे है। वहीं स्‍कूल व कोच‍िंंग संचालक भी संस्‍थाओं को खोलने की अनुमत‍ि की गुहार लगाते आए है। बस म‍ाल‍िकोंं का अपना दर्द है। वे भी पर‍िचालन की अनुमत‍ि सख्‍ती की न‍ियमों के साथ मांग रहे है।

तीसरी लहर छूट में डाल सकती है खलल

कोरोना की तीसरी लहर की संभावना एम्‍स के डॉक्‍टर पहले ही जता चुके है। इसके अलावा आइआइटी कानपूर जैसी संस्‍था भी भारत में तीसरी लहर की दस्‍तक के बारे में प्रीड‍िक्‍शन कर चुकी है। झारखंड सरकार भी इसे लेकर अलर्ट है। अनलॉक-5 का फैसला सरकार इस बात को ध्‍यान में रखकर ही लेने वाली है। इसका इशारा वो अनलॉक-4 के फैसले से दे चुकी है। अनलॉक-4 में भी लोगों को यह उम्‍मीद थी क‍ि सरकार छूट देगी लेक‍िन म‍िली नहीं। 

अनलॉक आजादी नहीं, ज‍िम्‍मेवारी है

झारखंड में अनलॉक शुरू होने के बाद से ही लोग ज‍िस तहर से कोरोना गाइडलाइन की अनदेखी कर रहे उससे राज्‍य में तीसरी लहर की संभावना दूर नहीं द‍िखती। धनबाद में अनलॉक शुूरू होते ही लोगों की ठचा-ठचा भीड़ बाजारों में द‍िखी। दो गज की दूरी को ठेंगा द‍ि‍खाते हुए आमजन दि‍खे। मास्‍क भी अध‍िकांश लोग डर से या फ‍िर खानापूर्त‍ि के ल‍िए पहने हुए द‍िखे। लोगों अनलॉक को आजादी समझ रहे है। सरकार बता रही है क‍ि अनलॉक आजादी नहीं ज‍िम्‍मेवारी है।

इन लोगों का बढ़ता जा रहा दर्द 

सरकार के ल‍िए भी यह असमंजस की स्‍थ‍ित‍ि के जैसी ही है। एक तरफ तो कोरोना की तीसरी लहर को लेकर सुगबुगाहट तेेज होगई है। वहीं दूसीर ओर उन्‍हें अपने राज्‍य के लोगों के रोजी-रोटी की भी च‍िंंता है। ऐसे में सरकार को बहुत सोच समझकर फैसला लेने की ज‍िम्‍मेवारी है। सरकार को दुकानदार, स्‍कूल व कोच‍िंंग संचालक, बस माल‍िक से लेकर अन्‍य सभी वर्ग ज‍िनका व्‍यवसाय या रोजी रोटी इस लॉकडाउन के कारण प्रभाव‍ि‍त हो रहा उन सबकी च‍िंंता है। अब देखना यह द‍िलचस्‍प होगा क‍ि इनसबों के बीच सरकार क्‍या फैसला लेती है। राज्‍य में छूट का दायरा बढ़़ेगा या बढ़ जाएगी सख्‍ती या फ‍िर स्‍थ‍ित‍ि रह जाएगी जस की तस। सरकार के अगले फैसले तक का लोगों को इंतजार करना होगा। तब तक के ल‍िए बने रह‍िए दैन‍िक जागरण के साथ।

 

Edited By: Atul Singh

धनबाद में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!