मां तू कैसे हो गई पत्थर दिल... रानी बांध तालाब में मिला नवजात का शव, हर किसी ने माता-पिता को कोसा

धनबाद के धैया स्थित रानीबांद तालाब के किनारे एक नवजात बच्ची का शव पड़ा था। इसकी सूचना मिलते ही इलाके में सनसनी फैल गई। बड़ी संख्या में लोग तालाश किराने खड़े होकर देखने लगे जैसे कोई तमाशा हो। धनबाद थाना की पुलिस भी पहुंची।

MritunjayPublish: Mon, 06 Dec 2021 07:31 AM (IST)Updated: Mon, 06 Dec 2021 07:31 AM (IST)
मां तू कैसे हो गई पत्थर दिल... रानी बांध तालाब में मिला नवजात का शव, हर किसी ने माता-पिता को कोसा

जागरण संवाददाता, धनबाद। मां, मेरी क्या गलती थी, आखिर मैं आपके कलेजे का टुकड़ा क्यों न बन सकी? मुझे भी आपके वात्सल्य की छांव का इंतजार था। दुनिया देखनी थी। इतने दिन आपने मुझे गर्भ में रखा, जब आपकी गोद में किलकारियों का वक्त आया तो नाले में फेंक दिया। आपका तनिक भी कलेजा न कलपा? पापा ने भी न रोका। मेरी जान निकल रही थी, मगर आप में से कोई बचाने न आया। आखिर तू कैसे पत्थर दिल हो गई?

बच्ची पूरी तरह विकसित थी

यह दर्द उस नवजात का था, जिसका शव रविवार को धैया के रानी बांध के पास नाली में मिला। बेहद प्यारी इस बच्ची का शव देख हर शख्स इनके माता-पिता को कोस रहा था। आसपास के लोगों का कहना था कि 21वीं सदी में बेटियां देश की शान बढ़ा रही हैं, वहीं कुछ लोगों की ऐसी कारगुजारियां समूचे समाज के लिए अभिशाप हैं।

मालूम हो कि रानी बांध में एक मछुआरा मछली पकडऩे आया था। उसने ही नवजात का सबसे पहले शव देखा। पुलिस भी मौके पर पहुंची। उसका मानना था कि बच्ची पूरी तरह विकसित थी। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया है।

हीरापुर में जनवरी में मिला था बच्ची का शव

21 जनवरी, 2021 को हीरापुर में भी एक नवजात का शव कचरे के ढेर पर मिला था। 2018 में स्टील गेट के पास तालाब में नवजात का शव फेंक दिया गया था। मालूम हो कि केंद्र और राज्य सरकार की ओर से यहां बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ अभियान चलाया जा रहा है। बावजूद धनबाद में ऐसी घटनाएं हो रही हैं। यहां 1000 पुरुषों की तुलना में 908 महिलाएं हैं।

रोक के बाद भी हो रही भ्रूण जांच

नबाद के अल्ट्रासोनोग्राफी जांच केंद्रों की भूमिका संदेह के घेरे में है। कई जांच घरों में कन्या भ्रूण जांच हो रही है। बावजूद स्वास्थ विभाग मामले पर मौन है।

Edited By Mritunjay

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept