जनता मजदूर संघ के असली और नकली विवाद पर लगा फिलहाल विराम...ये बने जमसं के नए अध्‍यक्ष व महामंत्री

कुंती के अध्यक्ष और सिद्धार्थ के महामंत्री बनने के बाद उनके परिवार के विरोधी राज्य के पूर्व मंत्री बच्चा सिंह और उनके समर्थक फिलहाल चुप है। लेकिन दोनों पक्षों में शह मात देने का खेल जारी है। फिलहाल सिंह मेंशन का ही जनता मजदूर संघ पर कब्जा है।

Atul SinghPublish: Tue, 18 Jan 2022 04:58 PM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 04:58 PM (IST)
जनता मजदूर संघ के असली और नकली विवाद पर लगा फिलहाल विराम...ये बने जमसं के नए अध्‍यक्ष व महामंत्री

जागरण संवाददाता, झरिया : पांच दशक पुराने कोयलांचल के सशक्त मजदूर संगठन जनता मजदूर संघ को लेकर कई वर्षों से चल रहे विवाद पर फिलहाल विराम लग गया है। जेल में बंद जमसं के अध्यक्ष रामधीर सिंह की जगह झरिया की पूर्व विधायक कुंती देवी नई अध्यक्ष और उनके पुत्र जेबीसीसीआई कमेटी के सदस्य सिद्धार्थ गौतम नए महामंत्री बने हैं। कुंती के अध्यक्ष और सिद्धार्थ के महामंत्री बनने के बाद उनके परिवार के विरोधी राज्य के पूर्व मंत्री बच्चा सिंह और उनके समर्थक फिलहाल चुप है। लेकिन दोनों पक्षों में शह मात देने का खेल जारी है। फिलहाल सिंह मेंशन का ही जनता मजदूर संघ पर कब्जा है। वहीं रघुकुल के उनके परिवार लोग भी लगातार चुनौती देने में लगे हैं। जनता मजदूर संघ का नया महामंत्री बनने के बाद सिद्धार्थ गौतम उत्साह के साथ यूनियन के कार्य में जुटे हैं।

झरिया के पूर्व विधायक सूर्यदेव सिंह ने किया था जनता मजदूर संघ का गठन

झरिया के पूर्व विधायक सूर्यदेव सिंह ने कोयलांचल के मजदूरों को उनका हक दिलाने के लिए 1977 में जनता मजदूर संघ का गठन किया था। जनता मजदूर संघ के संस्थापक सदस्य जेएन सिंह धर्मपुरी का कहना है कि कुछ ही वर्षों में यह यूनियन मजदूरों के बीच काफी लोकप्रिय हुआ। वामपंथी यूनियनों के अलावा इंटक के हजारों लोग जनता मजदूर संघ में शामिल हुए। अभी जनता मजदूर संघ के बीसीसीएल, सीसीएल और इसीएल में हजारों सदस्य हैं।

पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर बाबूलाल मरांडी भी रहे हैं इसके अध्यक्ष

जमसं के पहले अध्यक्ष पूर्व प्रधानमंत्री चंद्रशेखर और महामंत्री पूर्व विधायक सूर्यदेव सिंह थे। 1991 में सूर्यदेव सिंह के निधन के बाद बच्चा सिंह महामंत्री बने। अध्यक्ष चंद्रशेखर ही रहें। 2004 में पारिवारिक विवाद के कारण बच्चा सिंह की जगह कुंती सिंह महामंत्री बनी। तब भी अध्यक्ष चन्द्रशेखर थे। 2006 में चन्द्रशेखर की जगह बच्चा सिंह को अध्यक्ष बनाया गया और महामंत्री कुंती देवी बनी। पूर्व सीएम बाबूलाल मरांडी, प्रवीण सिंह, रामधीर सिंह के बाद अब कुंती देवी अध्यक्ष बनी हैं।

विधानसभा में उठाया जाएगा जनता मजदूर संघ का मामला बच्चा

राज्य के पूर्व मंत्री और झरिया के पूर्व विधायक सूर्यदेव सिंह के अनुज बच्चा सिंह ने कहा कि दो दशक से यूनियन का संचालन कर रहे हैं। झारखंड के रजिस्टार गलत तरीके से दूसरे गुट को मान्यता दे दिया है। मामले को झारखंड विधानसभा में उठाने के लिए झरिया की विधायक पूर्णिमा नीरज सिंह से आग्रह किया गया है। बीसीसीएल और अन्य कोल कंपनियों में मेरी यूनियन दो दशक से चल रही है। इसके कई प्रमाण भी हैं। कोर्ट में भी मामला चल रहा है। न्यायालय के आदेश का सम्मान किया जाएगा।

Edited By Atul Singh

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept