झारखंड के शिक्षा मंत्री ने डीवीसी अधिकारियों को हड़काया, बोले-महतो मांझी को बेवकूफ बनाना छोड़े प्रबंधन

Jharkhand Power Crisis News झारखंड सरकार से बकाया वसूली के लिए दामोदर घाटी निगम बिजली की आपूर्ति में कटाैती कर रहा है। इसे राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने बुधवार को बोकारो में डीवीसी अधिकारियों को हड़काया और बिजली कटाैती रोकने को कहा।

MritunjayPublish: Wed, 26 Jan 2022 04:37 PM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 09:40 PM (IST)
झारखंड के शिक्षा मंत्री ने डीवीसी अधिकारियों को हड़काया, बोले-महतो मांझी को बेवकूफ बनाना छोड़े प्रबंधन

जागरण संवाददाता, धनबाद। Jharkhand Power Crisis News झारखंड राज्य बिजली वितरण निगम लिमिटेड ( JSBVNL) से बकाया वसूली के लिए दामोदर घाटी निगम ( DVC) अपने कमांड क्षेत्र में बिजली की कटाैती कर रहा है। इससे धनबाद, बोकारो, गिरिडीह, हजारीबाग, कोडरमा, रामगढ़ आदि जिलों में गंभीर बिजली संकट है। इसे राज्य के शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने गंभीरता से लिया है। उन्होंने बुधवार को बोकारो में डीवीसी के अधिकारियों को हड़काया और बिजली कटाैती बंद करने को कहा। साथ ही बोकारो डीसी कुलदपी चाैधरी को डीवीसी के खिलाफ कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

वसूली के लिए डीवीसी को भेजें नोटिस

शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो ने बोकारो परिसदन में डीबीसी के अधिकारियों से बिजली कटौती बैठक की। महतो ने कहा कि माझी-महतो को बेवकूफ बनाना छोड़े डीवीसी प्रबंधन। मंत्री ने उपायुक्त बोकारो को निर्देश दिया है कि जलकर, जमीन एवं अन्य मद में राज्य सरकार के तमाम बकाया का आकलन कर तत्काल डीवीसी को नोटिस करें। डीवीसी के अंदर में चलने वाले वाहनों के परिवहन शुल्क का जांच करें और एक एक पैसे की वसूली करें। झारखंड के लोग केवल प्रदूषण झेलने के लिए नहीं है। डीवीसी जेवीवीएनएल के ग्राहकों को तोड़ने का प्रयास कर रहा है। वह बंद करें और बिजली कटौती पर तत्काल लगाम लगाए।

बिजली कटौती से उद्योग-व्यापार प्रभावित, जलापूर्ति पर भी आफत

डीवीसी की बिजली कटौती से एक तरफ उद्योग-व्यापार प्रभावित हो रहे हैं, तो दूसरी ओर आम लोगों की जलापूर्ति भी बाधित हो रही है। डीवीसी नौ घंटे बिजली कटौती कर रही है। बिजली कटौती का सिलसिला तड़के चार बजे से ही शुरू हो गया। उसी समय से शहर के सरायढ़ेला, नया बाजार, मनईटाड़, भूली और बरमसिया आदि क्षेत्रों में बिजली कटौती शुरू हो गई। लगभग दो घंटे के बाद सुबह छह बजे बिजली लौटी। इसके बाद सुबह आठ से नौ बजे तक कटौती की गई। दिन में 11 बजे फिर कटौती कर दी गई। फिर एक घंटे बाद बिजली दी गई। बिजली आने-जाने का सिलसिला रात आठ बजे तक चलता रहा। आधा दर्जन घरों के उड़े मोटर : सरायढेला क्षेत्र के आधा दर्जन घरों में सोमवार को मोटर जल गए। लोगों ने बताया कि सुबह छह बजे बिजली आने के बाद जब मोटर चालू की गयी तो वोल्टेज बहुत हाई था। मोटर चालू होते ही वोल्टेज लो हो गया, जिससे मोटर जल गए। इसके कारण लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ा।

Edited By Mritunjay

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept