आज जमसं कार्यालय में घरवापसी करेंगे झरिया के असंतुष्ट भाजपाई

भाजपा से इस्तीफा देने वाले झरिया विधानसभा क्षेत्र के 15 असंतुष्ट कार्यकर्ता सोमवार को पार्टी में वापसी करेंगे। यह निर्णय उन्होंने धनबाद के दो दिवसीय दौरे पर आए संगठन महामंत्री धर्मपाल के साथ बैठक के बाद लिया।

JagranPublish: Mon, 08 Feb 2021 06:35 AM (IST)Updated: Mon, 08 Feb 2021 06:35 AM (IST)
आज जमसं कार्यालय में घरवापसी करेंगे झरिया के असंतुष्ट भाजपाई

जागरण संवाददाता, धनबाद : भाजपा से इस्तीफा देने वाले झरिया विधानसभा क्षेत्र के 15 असंतुष्ट कार्यकर्ता सोमवार को पार्टी में वापसी करेंगे। यह निर्णय उन्होंने धनबाद के दो दिवसीय दौरे पर आए संगठन महामंत्री धर्मपाल के साथ बैठक के बाद लिया। अरुण साव के मंडल अध्यक्ष बनाए जाने से बिदके ये भाजपा कार्यकर्ता अरिदम बनर्जी व दिलीप भारती के नेतृत्व में हाल ही में जनता मजदूर संघ (बच्चा गुट) में शामिल हो गए थे। असंतुष्ट कार्यकर्ता सोमवार को कतरास मोड़ स्थित जमसं कुंती गुट के कार्यालय में धर्मपाल की उपस्थिति में दोपहर 3:30 बजे भाजपा में वापसी करेंगे। ऐसे बदला माहौल :

असंतुष्टों का नेतृत्व कर रहे अरिदम बनर्जी के मुताबिक पार्टी छोड़कर जमसं (बच्चा गुट) जाने के बाद मोहल्ले के लोगों व अपनों ने भी मुंह मोड़ लिया था। पार्टी की जिला कमेटी व प्रदेश कमेटी के नेताओं का भी लगातार दबाव बना हुआ था कि वे लौट आएं। लिहाजा उन्होंने लौटने का निर्णय लिया है। अरिदम बनर्जी, दिलीप भारती, महेंद्र सिंह, विनोद साव, मोहसीन खान, इमरान शेख, धीरेन महतो, रामप्रकाश सिंह ने रविवार को परिसदन में धर्मपाल सिंह से मुलाकात के बाद लौटने का फैसला लिया। ये नहीं पहुंचे मिलने :

हालांकि सभी 15 असंतुष्ट लौटेंगे या नहीं इस पर संशय बना हुआ है। अरिदम व मोहसिन खान के मुताबिक सभी से सहमति बन गई है। बावजूद इसके प्रदेश संगठन मंत्री से मिलने वालों में राणा मनीष सिंह, संजय अग्रवाल, राहुल पांडेय, मोनू सिंह, चंदन विश्वकर्मा, विकास चंद्रवंशी, रंजीत पासवान शामिल नहीं थे। अरिदम के मुताबिक वे ड्यूटी में होने की वजह से नहीं जा सके। हालांकि बताया जा रहा है कि इनमें से कुछ लौटने के इच्छुक नहीं हैं। इस सवाल पर कि किस पद की जिम्मेदारी मिलेगी, नेताओं ने कहा कि सम्मान देने की बात हुई है। ग्रामीण जिलाध्यक्ष से नाराज लोग भी मिले :

इधर ग्रामीण जिला अध्यक्ष ज्ञान रंजन सिन्हा से नाराज चल रहे कार्यकर्ताओं ने भी प्रदेश संगठन मंत्री से मुलाकात की। इनकी ओर से लगातार चलाए जा रहे अभियान पर धर्मपाल ने नाराजगी जताते हुए कहा कि आपस की बात आपस में होनी चाहिए। बाहर नाराजगी जताना अपनी परंपरा नहीं। उन्होंने सबको साथ मिलकर संगठन चलाने को कहा। आश्वासन दिया कि वे जिला अध्यक्ष से बात कर वरीय नेताओं का सम्मान बहाल करेंगे। मिलने वालों में रामप्रसाद महतो, संजीव मिश्रा, अजय सिंह, अखिलेश सिंह, राजेश सिंह, बाबूलाल गोप आदि थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept