नक्सल क्षेत्रों में हाई अलर्ट, बिना सशस्त्र बल के न करें पेट्रोलिग

भाकपा माओवादी पोलित ब्यूरो के सदस्य प्रशांत बोस व उसकी पत्नी शीला मरांडी की गिरफ्तारी के खिलाफ माओवादियों के सात दिवसीय प्रतिरोध दिवस एवं 27 जनवरी के बंद को देखते हुए माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस विशेष सतर्कता बरत रही है। पड़ोसी जिला गिरिडीह में दो दिनों से लगातार माओवादियों के धमाके को देखते हुए सतर्कता और बढ़ा दी गई है।

JagranPublish: Mon, 24 Jan 2022 06:10 AM (IST)Updated: Mon, 24 Jan 2022 06:10 AM (IST)
नक्सल क्षेत्रों में हाई अलर्ट, बिना सशस्त्र बल के न करें पेट्रोलिग

जागरण संवाददाता, धनबाद : भाकपा माओवादी पोलित ब्यूरो के सदस्य प्रशांत बोस व उसकी पत्नी शीला मरांडी की गिरफ्तारी के खिलाफ माओवादियों के सात दिवसीय प्रतिरोध दिवस एवं 27 जनवरी के बंद को देखते हुए माओवाद प्रभावित क्षेत्रों में पुलिस विशेष सतर्कता बरत रही है। पड़ोसी जिला गिरिडीह में दो दिनों से लगातार माओवादियों के धमाके को देखते हुए सतर्कता और बढ़ा दी गई है। जिले के माओवाद प्रभावित क्षेत्रों के थाना व ओपी प्रभारियों को निर्देश दिया गया है कि बिना सशस्त्र बल के क्षेत्र में पेट्रोलिग पर नहीं निकलें। जवानों को थाना व ओपी के अंदर ही रहने कहा गया है।

विदित हो कि प्रशांत बोस की पत्नी शीला मरांडी मनियाडीह थाना क्षेत्र के नावाटांड़ गांव की निवासी है। वह भाकपा माओवादी की सेंट्रल कमेटी सदस्य है।

----------------------------------------------

पारसनाथ पहाड़ का तलहटी है माओवादियों का प्रभाव क्षेत्र :

पारसनाथ पहाड़ का तलहटी इलाका चाहे वह धनबाद जिले में हो या फिर गिरिडीह में माओवादियों का प्रभाव क्षेत्र है। माओवादियों पर इस इलाके में नकेल कसना पुलिस एवं सीआरपीएफ के लिए आज भी चुनौती है। गिरिडीह जिले का पीरटांड़ एवं डुमरी प्रखंड माओवादियों का गढ़ है। इन दोनों प्रखंडों से सटे धनबाद जिले के मनियाडीह, तोपचांची, टुंडी, राजगंज एवं बरवाअड्डा थाना क्षेत्र में माओवादियों की सक्रियता है। गिरिडीह में उत्पात मचा रहे कृष्णा हांसदा का ही दस्ता यहां भी सक्रिय है। धनबाद जिले में भी नक्सली उत्पात न मचाए, इसकी चिता पुलिस एवं प्रशासन को है। सीआरपीएफ तोपचांची की सहायक समादेष्टा विनिता कुमारी ने बताया कि सुरक्षा का पुख्ता प्रबंध किया गया है।

--------------------------------------------

गिरिडीह में नक्सली कार्रवाई को देखते हुए विशेष सतर्कता बरती जा रही है। सशस्त्र बल के साथ ही पेट्रोलिंग करने का निर्देश दिया गया है। कोई भी सूचना मिले तो उसकी पूरी जांच के बाद ही क्षेत्र में निकलने का निर्देश दिया गया है। माओवादियों के मंसूबे को सफल होने नहीं दिया जाएगा।

रिष्मा रमेशन, एसपी ग्रामीण

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept