नई दिल्ली-हावड़ा रेल खंड़ पर 160 की स्पीड से दाैड़ेंगी ट्रेनें, सुरक्षा के लिए अपनाई जाएगी ऐसी तकनीक

European Train Control System हावड़ा-धनबाद-नई दिल्ली रेल खंड पर आने वाले दिनों में 160 की गति से ट्रेनों का सुरक्षित परिचालन होगा। इसके लिए यूरोपियन ट्रेन कंट्रोल सिस्टम को अपनाया जाएगा। इस प्रणाली को स्थापित करने के कार्यों की पूर्व मध्य रेलवे के जीएम अनुपम शर्मा ने समीक्षा की है।

MritunjayPublish: Thu, 20 Jan 2022 01:00 PM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 10:09 PM (IST)
नई दिल्ली-हावड़ा रेल खंड़ पर 160 की स्पीड से दाैड़ेंगी ट्रेनें, सुरक्षा के लिए अपनाई जाएगी ऐसी तकनीक

जागरण संवाददाता, धनबाद। हावड़ा से नई दिल्ली के बीच अगले कुछ सालों में यात्री ट्रेनें 160 की रफ्तार से चलेंगी। सेमी हाई स्पीड ट्रेनों को सुरक्षित चलाने के लिए रेलवे ट्रैक के दोनों किनारे ऊंची दीवार खड़ी करने का काम शुरू हो चुका है। बाधारहित और दुर्घटना मुक्त ट्रेन चलाने के लिए इलेक्ट्रानिक इंटरलाकिंग के साथ-साथ यूरोपियन ट्रेन कंट्रोल सिस्टम अपनाया जाएगा। यूरोपियन ट्रेन कंट्रोल सिस्टम लेवल-टू आधुनिक सिग्नलिंग प्रणाली है। इस रेडियो आधारित निरंतर स्वचालित ट्रेन सुरक्षा प्रणाली के लग जाने से सिग्नल को नजरअंदाज कर ट्रेनों के आगे बढ़ जाने और ट्रेन की ओवर स्पीडिंग की संभावना काफी हद तक कम हो जाएगी। धनबाद से पंडित दीन दयाल उपाध्याय जंक्शन तक पूर्व मध्य रेल के दायरे वाले ग्रैंड कार्ड सेक्शन पर इस आधुनिक प्रणाली को अपनाने की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है।

ईसीआर जीएम ने की कार्यों की समीक्षा

पूर्व मध्य रेल महाप्रबंधक अनुपम शर्मा ने यूरोपियन ट्रेन कंट्रोल सिस्टम प्रोजेक्ट की अब तक की प्रगति की जानकारी ली है। ढांचागत सुधार के क्रम में मिट्टी के काम, बलास्ट और थीक वेब स्वीचके साथ-साथ यार्ड रिमाडलिंग की जानकारी ली। रेलवे ट्रैक के नवीनीकरण, रेल पुलों का उन्नयन और सिगनल प्रणाली का आधुनिकीकरण के काम में तेजी लाने का निर्देश दिया। उन्होंने लगभग 291 किमी लंबे सोननगर-पतरातु तीसरी लाइन परियोजना समेत 500 करोड़ से अधिक की लागत वाली विभिन्न रेल परियोजनाओं की समीक्षा की । प्राथमिकता के तौर पर तय समय पर पूरा करने का दिशा-निर्देश जारी किया।

रांची-हावड़ा में एलएचबी कोच, दरभंगा-सिकंदराबाद में अतिरिक्त कोच

झारखंड और बंगाल के रेल यात्रियों से जुड़ी अच्छी खबर। रेलवे ने महुदा और बोकारो होकर चलने वाली रांची हावड़ा इंटरसिटी समेत एक दर्जन ट्रेनों में आधुनिक एलएचबी को जोडऩे का निर्णय लिया है। अगले सप्ताह से अलग-अलग दिनों में नई व्यवस्था प्रभावी हो जाएगी। पुराने नीले रंग की कोच से चलने वाली ट्रेन एलएचबी कोच के साथ चलेगी। इससे जहां पहले से ज्यादा आरामदायक सीटों पर बैठकर सफर होगा। वहीं पुरानी पारंपरिक कोच की तुलना में हर कोच में सीटें भी ज्यादा होंगे जिससे प्रति ट्रिप में ज्यादा यात्री सफर कर सकेंगे।

रांची-हावड़ा इंटरसिटी में 24 से प्रभावी होगी नई व्यवस्था

18627 रांची हावड़ा इंटर सिटी एक्सप्रेस में 24 जनवरी से और 18628 हावड़ा रांची इंटरसिटी एक्सप्रेस 25 जनवरी से नई व्यवस्था प्रभावी होगी। इसके साथ ही दरभंगा से सिकंदराबाद के बीच चलने वाली ट्रेन में एक थर्ड एसी का अतिरिक्त कोच स्थायी तौर पर जुड़ेगा। 17007 सिकंदराबाद-दरभंगा एक्सप्रेस में 22 जनवरी से तथा 17008 दरभंगा-सिकंदराबाद एक्सप्रेस में 25 जनवरी से अतिरिक्त कोच जोड़ा जाएगा।

Edited By Mritunjay

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept