दही-चूड़ा पर बारिश और ओलावृष्टि, 24 घंटे में धनबाद का 4 डिग्री गिरा पारा; जानें-कब तक बना रहेगा बेमाैसम का मिजाज

Today Dhanbad Weather News Update धनबाद में आज मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जा रहा है। बेमाैसम की बारिश स्नान-दान और दही-चूड़ा के त्योहार का मजा किरकिरा कर रहा है। धनबाद और आसपास के जिलों में रात से ही थम-थम कर हल्की बारिश हो रही है।

MritunjayPublish: Sat, 15 Jan 2022 07:50 AM (IST)Updated: Sat, 15 Jan 2022 07:58 AM (IST)
दही-चूड़ा पर बारिश और ओलावृष्टि, 24 घंटे में धनबाद का 4 डिग्री गिरा पारा; जानें-कब तक बना रहेगा बेमाैसम का मिजाज

जागरण संवाददाता, धनबाद। आज ( शनिवार) मकर संक्रांति का त्योहार है। धनबाद समेत पूरे झारखंड में मकर संक्रांति का त्योहार मनाया जा रहा है। यह स्नान-दान और दही-चूड़ा का त्योहार है। धनबाद की प्रमुख नदियों-दामोदर, बराकर और खुदिया नदी के घाटों पर सुबह से ही श्रद्धालुओं की भीड़ दिख रही है। इस त्योहार का मजा बेमाैसम की बारिश से किरकिरा हो रहा है। शुक्रवार-शनिवार की आधी रात से ही बूंदा-बांदी हो रही है। धनबाद के पड़ोस के जिले-बोकारो, गिरिडीह और जामताड़ा में भी सुबह हल्की बारिश हुई। झारखंड के कुछ इलाकों में ओलावृष्टि भी हुई है। इससे तापमान में गिरावट आया है। पारा 4 डिग्री कर लुढ़क गया है। इससे ठंड बढ़ गई है। ग्रामीण इलाका शीतलहरी की चपेट में है।

आज दिन में होगी हल्के और मध्यम दर्जे की बारिश

धनबाद समेत राज्य के कुछ स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश देखी जा सकती है। इसके साथ ही तापमान में 2 से 4 डिग्री की गिरावट हो सकती है। इस वजह से ठंड और बढ़ने के आसार हैं। शुक्रवार को धनबाद का अधिकतम तापमान 25 डिग्री और न्यूनतम 13 डिग्री रिकार्ड किया गया। शनिवार को भी आसमान में बादल छाए रहेंगे और ठंड का एहसास होगा। रविवार को खिल कर धूप निकलेगी। 15 जनवरी को राज्य के दक्षिणी भाग में कुछ स्थानों पर हल्के से मध्यम दर्जे की बारिश देखी जा सकती है।

फिर सताने लगी ठंड

माैसम विज्ञान केंद्र रांची के वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने बताया कि राज्य में 15, 16 और 17 जनवरी को मौसम शुष्क रहेगा और तापमान में 2 से 4 डिग्री की गिरावट देखी जाएगी। राज्य में फिर कंपकंपाती ठंड लोगों को परेशान करेगी। साथ ही राज्य में सुबह हल्के से मध्यम दर्जे का कोहरा छाए रहने की संभावना है। मौसम विभाग के अनुसार राज्य के अधिकांश हिस्सों में अगले 24 घंटे में तापमान 3 से 4 डिग्री तक गिरेगा। मौसम केंद्र से मिली जानकारी के मुताबिक हिमालय क्षेत्र में बर्फबारी से उत्तर दिशा से आ रही सर्द हवा के चलते राज्य के आधा दर्जन से अधिक जिलों में न्यूनतम तापमान 5 डिग्री से नीचे चला गया है। 

बेमाैसम की बारिश से बदला माैसम का मिजाज

बोकारो जिले में ठंड का प्रकोप बढ़ गया है। पिछले दिनों हुई बारिश के बाद मौसम के मिजाज में जो बदलाव आया, वह शुक्रवार को भी कायम रहा। 24 घंटे में बोकारो जिले का अधिकतम तापमान में तीन डिग्री की गिरावट दर्ज की गई। बीते दिन गुरुवार को जिले का अधिकतम तापमान 22.0 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 14.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया था। वहीं, शुक्रवार को अधिकतम तापमान 19.0 डिग्री एवं न्यूनतम तापमान 12.0 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शुक्रवार की सुबह से आकाश में बादल छाए रहे और सूर्य का दर्शन पूरे दिन नहीं हो सका। जिसकी वजह से जिले वासियों ने ठंड के साथ कनकनी महसूस की। देखा जाए तो जनवरी माह में अबतक तापमान में वृद्धि और गिरावट कई बार हुई है, लेकिन जिस तरह शुक्रवार को तापमान में गिरावट दर्ज की गई, वह पहले कभी देखने को नहीं मिला। मौसम विभाग के अनुसार आने वाले दिनों में न्यूनतम तापमान आठ से 10 डिग्री सेल्सियस बना रहेगा। जिसकी वजह से कड़ाके की ठंड पड़ने की संभावना व्यक्त की जा रही है।

ठंड में रखें स्वास्थ्य का ख्याल

ठंड के बढ़ने से मौसमी बीमारी की चपेट में लोग आ रहे हैं। सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डा. संजय कुमार के अनुसार ठंड की कई लोग अनदेखी करते हैं, जबकि ठंड खतरनाक साबित हो सकता है। इस दौरान अनियमित रहन-रहन और लापरवाही के कारण लोग बीमारियों के शिकार हो सकते हैं। मौसम में बदलाव के कारण इंफ्लूएंजा सहित मौसमी बीमारियों का खतरा बढ़ने लगा है। मौसम बदलने के बाद बच्चे एवं बुजुर्गो की सेहत पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है। इस दौरान रक्तचाप और मधुमेह के मरीजों को भी विशेष सावधानी रखनी चाहिए। मौसमी बीमारी के लक्षण दिखते ही उसे तत्काल चिकित्सक से संपर्क करने की जरूरत है। बताया कि मौसम में बदलाव के समय स्वच्छता एवं सतर्कता बरतकर बीमारियों की आशंका को काफी हद तक कम किया जा सकता है। सर्दी, जुकाम और बदन दर्द की शिकायत पर तुरंत चिकित्सक की सलाह लें। इसके साथ ही बिना चिकित्सक के सलाह के दवा व एंटीबायोटिक की खुराक नहीं लें।

ठंड से बचाव के उपाय

  • सुबह और शाम गर्म कपड़े पहनकर ही बाहर निकलें।
  • ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें।
  • खाने में ज्यादा से ज्यादा हरी पत्तेदार सब्जियों का उपयोग करें।
  • दूध पीने वाले बच्चों को नियमित अंतराल पर दूध दें।
  • गर्म और ताजा खाना ही खाएं।

Edited By Mritunjay

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept