कोयला चोरी पर राज्य सरकार से बात करेगी कोल इंडिया

धनबाद कोयला चोरी गंभीर समस्या है। धनबाद में भी ये हो रही है। इस मुद्दे पर राज्य सरकार से बात होगी।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 08:37 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 08:37 PM (IST)
कोयला चोरी पर राज्य सरकार से बात करेगी कोल इंडिया

धनबाद : कोयला चोरी गंभीर समस्या है। धनबाद में भी ये हो रही है। इस मुद्दे पर राज्य सरकार के साथ बात करेंगे। चोरी रोकने को हम मिलकर काम करेंगे। यह बात कोल इंडिया चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने शुक्रवार को धनबाद आगमन पर कही।

कहा कि कोयला चोरी से कंपनी के साथ सरकार को भी राजस्व का नुकसान हो रहा। ठोस नीति बनाकर ही चोरी रोक सकते हैं। कहा कि कोयला आयात कम करने को कोल इंडिया तत्पर है। कोयला मंत्रालय ने 2025 तक कोल इंडिया को एक बिलियन टन कोयला उत्पादन करने का लक्ष्य दिया है। पहले यह समय 2023-24 था। 2019-20 व 2020-21 में कोरोना के कारण कंपनी की स्थिति पर असर पड़ा है। हमें 20 फीसद ग्रोथ चाहिए, जो कंपनी नहीं पा सकी है। कोल इंडिया चेयरमैन ने संकेत दिया कि जल्द कोयले के दाम बढ़ेंगे। स्टेक होल्डर से राय मशविरा ले रहे हैं। सबकी सहमति से निर्णय लिया जाएगा।

फरवरी में जेबीसीसीआइ की होगी बैठक : कोरोना के कारण जनवरी में जेबीसीसीआई की बैठक नहीं हुई। यह फरवरी में होगी। जल्द ही तिथि तय होगी। यह भी कहा कि झारखंड में जमीन का संकट है। जमीन नहीं मिलने से ईसीएल की राजमहल व चितरा खदान पर असर पड़ा है। सरकार से जमीन मुद्दे पर बातचीत चल रही है। जल्द संकट का समाधान होगा। जमीन की समस्या से दर्जनों परियोजनाओं का काम लंबित है। बीसीसीएल में कई प्रोजेक्ट पर शानदार काम : अग्रवाल ने कहा कि बीसीसीएल के साथ साथ ईसीएल में कई प्रोजेक्ट पर काम हो रहा है। कोल गैसीफिकेशन, कोल बेड मीथेन प्रोजेक्ट व सोलर पैनल के साथ सोलर प्लांट लग रहे। यहां इन प्रोजेक्ट पर अच्छा काम हो रहा। चेयरमैन से मिले डीसी, झरिया मास्टर प्लान पर विमर्श : कोल इंडिया चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल से धनबाद डीसी संदीप सिंह कोयला नगर गेस्ट हाउस में मिले। यहां झरिया मास्टर प्लान पर चर्चा हुई। मास्टर प्लान का मामला फिलहाल पीएमओ की गठित कमेटी के पास है। जबतक वहां से निर्णय नहीं हो जाता, तब तक स्थिति पर नजर रखनी होगी। जानमाल की क्षति न हो इस पर ध्यान देने की जरूरत है। चेयरमैन ने कहा कि प्राथमिकता के आधार पर लोगों को सुरक्षित स्थान पर जल्द शिफ्ट करें। बीसीसीएल सीएमडी समीरन दत्ता, तकनीकी निदेशक चंचल गोस्वामी, सीवीओ कुमार अनिमेष, ईडी एमके सिंह आदि थे। :::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::::: कार्यसंस्कृति में लाएं बदलाव लाएं अधिकारी और कर्मी

समीक्षा बैठक ::

जागरण संवाददाता, धनबाद :

कोयला भवन में शुक्रवार को कोल इंडिया चेयरमैन प्रमोद अग्रवाल ने बीसीसीएल की समीक्षात्मक बैठक कहा कि हर क्षेत्र में काम करने का तरीका बदल रहा है। हम सभी को कार्यसंस्कृति में बदलाव लाना चाहिए। इससे पहले सीएमडी समीरन दत्ता समेत अन्य अधिकारियों ने उनका स्वागत किया। अग्रवाल ने ईआरपी कार्यान्वयन प्रक्रिया और बीसीसीएल के प्रदर्शन की समीक्षा की। विभिन्न सेप माड्यूल की प्रगति, परियोजना प्रबंधन प्रणाली, कोयला उत्पादन और डेटा संप्रेषण, मशीनरी रखरखाव, संयंत्र रखरखाव, सामग्री प्रबंधन, वित्तीय प्रबंधन, बिक्री और वितरण, मानव पूंजी प्रबंधन और अस्पताल प्रबंधन जैसे बिंदुओं पर चर्चा की गई। प्रगति पर संतोष जताया। बीसीसीएल में सेप साफ्टवेयर के माध्यम से डेटा उत्पादन हो। ताकि बिजनेस आपरेशन बेहतर हों।

कोयला उत्पादन की समीक्षा :

अग्रवाल को बीसीसीएल के कोयला उत्पादन, प्रेषण और ओबी हटाने के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बताया गया कि कंपनी लक्ष्य के अनुसार काम कर रही। वित्तीय वर्ष 2021-22 के लक्ष्य को प्राप्त कर लेंगे। चेयरमैन ने बीसीसीएल सीएमडी समीरन दत्ता, डीटी चंचल गोस्वामी व जेपी गुप्ता समेत पूरी टीम को बधाई दी। कंपनी के मुख्य सतर्कता अधिकारी कुमार अनिमेष समेत मुख्यालय स्थित विभागों के विभागाध्यक्ष व महाप्रबंधक बैठक में थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept