सेलकर्मियों के वेतन निर्धारण के लिए सब कमेटी की बैठक अगले माह

सेल कामगारों के पे रिवीजन पर प्रबंधन और यूनियन के बीच 22 अक्टूबर 2021 को सहमति बनी थी। जहां एमजीबी के मद में 13 फीसद और पक्र्स के मद में 26.5 फीसद पर समझौता हुआ था। इसकी तैयारी जोरशोर के साथ चल रही है।

Gautam OjhaPublish: Tue, 25 Jan 2022 05:02 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 05:02 PM (IST)
सेलकर्मियों के वेतन निर्धारण के लिए सब कमेटी की बैठक अगले माह

जागरण संवाददाता, बोकारो। स्टील अथारिटी आफ इंडिया लिमिटेड सेल कामगारों के वेतन पुनरीक्षण पर समझौता होने के बाद संयंत्रकर्मियों के वेतन निर्धारण के लिए एनजेसीएस सब कमेटी की बैठक नई दिल्ली में अगले माह होगी। इस बाबत विभागीय प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। 28 जनवरी को सेल मुख्यालय में आहूत निदेशक मंडल की बैठक में तारीख पर निर्णय ले लिया जाएगा। हालांकि, सब कमेटी की बैठक इसी माह 31 जनवरी को होनी थी लेकिन कंपनी के प्रबंधकीय व्यवस्था में फेरबदल के कारण बैठक की तारीख को फरवरी माह तक बढ़ा दिया गया है। एनजेसीएस सब कमेटी के समन्वय ईडी पसर्नल केके ङ्क्षसह का तबादला नई दिल्ली से भिलाई हो गया है, जबकि सेल के निदेशक वित्त अमित सेन भी दिसंबर 2021 को सेवानिवृत्त हो गए। ऐसे में इस पद पर काबिज नए अधिकारी सभी पहलुओं का मूल्यांकन कर सब कमेटी से रूबरू होने का मन बनाए है।

21 और 22 दिसंबर को वार्ता हुई थी असफल : सेल कामगारों के पे रिवीजन पर प्रबंधन और यूनियन के बीच 22 अक्टूबर 2021 को सहमति बनी थी। जहां एमजीबी के मद में 13 फीसद और पक्र्स के मद में 26.5 फीसद पर समझौता हुआ था। रिवीजन इस बार पांच के बजाए 10 साल के लिए हुआ है। इसलिए कंपनी में कार्यरत एस-1 से एस-11 ग्रेड के कर्मचारियों को उनके मूलवेतन और महंगाई भत्ता के आधार पर नये वेतनमान के निर्धारण के लिए सब कमेटी गठित की गई है। मसले पर बीते माह 21 और 22 दिसंबर को सब कमेटी की पहली बैठक प्रबंधन के साथ नई दिल्ली में रखी गई लेकिन मामला सिफर रहा। अब फिर से फरवरी माह में बैठक बुलाई जा रही है। यदि मसला सुलझा जाता है तो कर्मियों के पेंशन, एचआर सहित एरियर की बकाया राशि का समाधान हो जाएगा अन्यथा मामला नए वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए टलना संभव है।

सेलकर्मियों के वेतन निर्धारण के लिए एनजेसीएस सब कमेटी की बैठक अगले माह होगी। प्रबंधकीय समीकरण में बदलाव के कारण बैठक को अगले माह के लिए टाला गया है। हमारा प्रयास होगा की संयंत्रकर्मियों के लंबित मसलों का समाधान हर-हाल में अगली बैठक में करा लिया जाए।

डा. जी संजीवा रेड्डी

राष्ट्रीय अध्यक्ष, इंटक।

Edited By Gautam Ojha

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept