This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

Indian Railways IRCTC: पटरी पर लाैटी भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस, जानें परिचालन रूट और दिन

Indian Railways IRCTC पूर्व तटीय रेलवे ने भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस को चलाने की घोषणा की है। हालांकि यह ट्रेन प्रतिदिन नहीं चलेगी। सप्ताह में सिर्फ चार दिन चलेगी। वाया आद्रा-गोमो होते हुए नई दिल्ली को ट्रेन जाएगी। इसकी जानकारी पूर्व तटीय रेलवे ने ट्वीट कर जानकारी दी है।

MritunjaySat, 19 Jun 2021 06:50 AM (IST)
Indian Railways IRCTC: पटरी पर लाैटी भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस, जानें परिचालन रूट और दिन

धनबाद, जेएनएन। BBS-New Delhi-BBS Rajdhani Express Special/ Indian Railways IRCTC भुवनेश्वर से नई दिल्ली और नई दिल्ली से भुवनेश्वर से बीच सफर करने वाले रेल यात्रियो के लिए अच्छी खबर है। रेलवे ने भुवनेश्वर-नई दिल्ली राजधानी एक्सप्रेस स्पेशल को चलाने का एलान कर दिया है। यह ट्रेन कोरोना की दूसरी लहर के बाद बंद थी। East Coast Railway ने ट्वीट कर भुवनेश्वर राजधानी को जून के अंत तक चलाने की जानकारी दी है। हालांकि यह ट्रेन फिलहाल सप्ताह में चार दिन ही चलेगी। तीन दिन रद रहेगी। सप्ताह में जो राजधानी एक्सप्रेस चार दिन चलेगी वह वाया धनबाद के नेताजी सुभाष चंद्र बोस गोमो जंक्शन नई दिल्ली जाएगी। वाया टाटा और राउरकेला चलने वाली दोनों राजधानी एक्सप्रेस रद रहेंगी।

वाया गोमो-आद्रा राजधानी का होगा परिचालन 

रेलवे ने भुवनेश्वर-नई दिल्ली के बीच चलने वाली दो राजधानी एक्सप्रेस ट्रेनों को फिर रद कर दिया है। इनमें एक गोमो और टाटानगर होकर चलने वाली और दूसरी गोमो-संबलपुर होकर चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस शामिल हैं। गोमो से आद्रा होकर चलने वाली भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस इस बार रद नहीं की गई है। कोरोना की दूसरी लहर के कारण पिछले महीने से ही भुवनेश्वर से नई दिल्ली के बीच चलने वाली राजधानी एक्सप्रेस को अलग-अलग दिनों में रद किया जा रहा है। जून के अंतिम सप्ताह में भी रेलवे ने भुवनेश्वर राजधानी एक्सप्रेस को दोनों ओर से रद रद किया है। इस बार 02825 भुवनेश्वर-नई दिल्ली वाया आद्रा-गोमो राजधानी एक्सप्रेस तथा 02826 नई दिल्ली- भुवनेश्वर वाया गोमो-आद्रा राजधानी एक्सप्रेस का परिचालन जारी रहेगा।

चार सेकेंड सीटिंग कोच के साथ चलेगी शालीमार-गोरखपुर स्पेशल

गोमो होकर चलने वाली शालीमार-गोरखपुर साप्ताहिक स्पेशल अब 21 कोच के साथ चलेगी। पहले 22 कोच के साथ चलने वाली ट्रेन में गोरखपुर से पांच जुलाई और शालीमार से छह जुलाई से नई व्यवस्था प्रभावी होगी। रेलवे ने इस ट्रेन में स्लीपर और जनरल श्रेणी यानी सेकेंड सीटिंग के कोच कम कर दिए हैं। अभी इस ट्रेन में सेकेंड सीटिंग के सात और स्लीपर के आठ कोच जुड़ते हैं। नई व्यवस्था प्रभावी होते ही स्लीपर का एक कोच कम होकर सात ही जुड़ेंगे। आम यात्रियों के लिए सेकेंड सीटिंग के सात कोच जुड़ते हैं जो अब घटकर चार हो जाएंगे। इसके साथ ही इस ट्रेन में प्रथम श्रेणी का कोच अब स्थायी तौर पर हट जाएगा। इसके बदले में सेकेंड एसी के एक के बजाय दो कोच जुड़ेंगे। इस ट्रेन में सबसे ज्यादा राहत थर्ड एसी के यात्रियों को मिलने वाली है। अभी थर्ड एसी कोच के तीन ही कोच जुड़ते हैं।अब छह कोच जुडेगी।

मौर्य और शालीमार-गोरखपुर स्पेशल 30 जून के बाद भी चलती रहेंगी

धनबाद होकर चलने वाली हटिया-गोरखपुर मौर्य एक्सप्रेस और गोमो होकर चलने वाली शालीमार-गोरखपुर साप्ताहिक स्पेशल के फेरे बढ़ा दिए गए हैं। पहले 30 जून तक दोनों ट्रेनों को चलाने की अनुमति मिली थी। अब अगले आदेश तक चलाने की घोषणा हो गई। अब भी दोनों ट्रेनें त्योहार स्पेशल बनकर ही चलेंगी और किराया भी दूसरी ट्रेनों से अधिक चुकाना होगा। मौर्य एक्सप्रेस के यात्रियों को तत्काल कोटे से टिकट बुक कराने की भी अनुमति नहीं दी गई है। एक-दो दिनों में जुलाई और उसके बाद के लिए टिकटों की बुकिंग शुरू हो जाएगी।

22 छोटे स्टेशनों पर स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट जारी करेंगे जनरल टिकट

अगले महीने से ट्रेनों की संख्या और बढ़ सकती है। इसके साथ ही जनरल टिकट पर सफर की अनुमति का दायरा भी बढ़ाया जा सकता है। यूं कहें कि जनरल टिकट पर पहले की तरह फिर से सफर की अनुमति मिल सकती है। रेलवे ने इसके संकेत दे दिए हैं। धनबाद रेल मंडल ने अलग-अलग हिस्से के 22 छोटे स्टेशनों पर ठेके पर जनरल टिकट जारी करने के लिए टेंडर निकाल दिया है। 14 जून से ही टेंडर की प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। चार जुलाई तक आवेदन का मौका दिया गया है। पांच जुलाई को टेंडर जारी हो जाएगा। यानी जुलाई के पहले हफ्ते के बाद से जनरल टिकट मिलना शुरू होने की पूरी संभावना है। रेलवे अभी भी जनरल टिकट दे रही है। पर सिर्फ चुनिंदा ट्रेनों में ही इसकी अनुमति दी गई है। धनबाद से गुजरने वाली कुछ पैसेंजर ट्रेनों में ही जनरल टिकट के साथ यात्रा कर सकते हैं। 

रेलवे की आय पर असर

मेल एक्सप्रेस और लंबी दूरी की ट्रेनों में जनरल टिकट के बजाए सेकंड सीटिंग का टिकट पहले से बुक करा कर सफर करना पड़ रहा है। जनरल टिकट नहीं मिलने से आम यात्रियों पर इसका काफी असर पड़ा है। साथ ही रेलवे की आमदनी भी प्रभावित हुई है। यही वजह है कि परिस्थिति सामान्य होने पर धीरे-धीरे पहले की तरह जनरल टिकट पर सफर की संभावना तलाशी जा रही है। दूसरी ओर, धनबाद से खुलने वाली सभी पैसेंजर ट्रेन पिछले साल 22 मार्च से ही बंद हैं। धनबाद से सिंदरी के बीच चलने वाली पैसेंजर ट्रेन के सभी फेरे बंद हैं। धनबाद से झाड़ग्राम और धनबाद से बांकुड़ा होकर विष्णुपुर जाने वाली मेमू ट्रेन भी नहीं चली है। रेलवे ने जिन छोटे स्टेशनों पर जनरल टिकट के लिए टेंडर निकाला है। उन स्टेशनों से होकर यह ट्रेनें चलती हैं। ऐसे में इसकी पूरी संभावना है कि जुलाई से धनबाद से खुलने वाली पैसेंजर ट्रेनें फिर से पटरी पर लौट जाएं। 

रेलवे बोर्ड स्तर पर होगा निर्णय

रेल अधिकारी कह रहे हैं कि ट्रेनों को चलाने का निर्णय रेलवे बोर्ड स्तर पर लिया जाएगा। स्टेशन मास्टर को दोहरी ड्यूटी से राहतछोटे स्टेशनों पर ट्रेनों को हरी झंडी दिखाने के साथ-साथ यात्रियों को टिकट देने का काम भी स्टेशन मास्टर ही करते हैं। अब स्टेशन टिकट बुकिंग एजेंट बहाल हो जाने से स्टेशन मास्टरों को इस डबल ड्यूटी से छुटकारा मिल जाएगा। स्टेशन मास्टर सिर्फ ट्रेनों के परिचालन में मदद करेंगे जबकि ठेकेदार के अधीन कर्मचारी जनरल टिकट जारी करेगा। 

इन स्टेशनों पर बहाल होंगे एसटीबीए

बांसजोड़ा, सिंदरी ब्लॉक हाल्ट, रखितपुर, भंडारीदह, चैनपुर, दिलवा, जोगीडीह, झरोखास, चौधरीबांध, डुमरीविहार, गुरमुरा, चरही, कुजू, खुलदिल रोड, कृष्णशीला, फफराकुंड, कर्माहाट, कंसार नवादा, ऐरिगाड़ा, मगरदाहा, बेस।

 

धनबाद में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!