This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सरकारी कर्मी सहित 53 लोग हुए संक्रमित

शुक्रवार को एक बार फिर से देवघर में कोरोना विस्फोट हुआ है। कई स्वास्थ कर्मी सहित ग्रामीण इलाके के 53 लोग संक्रमित पाए गए हैं। सरकारी कर्मियों के संक्रमण की खबर से हड़कंप मच गया है। जिले के देवीपुर प्रखंड में सबसे ज्यादा 25 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इनमें प्रखंड कार्यालय के 19 कर्मी संक्रमित पाए गए हैं। कार्यालय को सील करने की तैयारी की जा रही है।

JagranFri, 31 Jul 2020 07:31 PM (IST)
सरकारी कर्मी सहित 53 लोग हुए संक्रमित

जागरण टीम, देवघर : शुक्रवार को एक बार फिर से देवघर में कोरोना विस्फोट हुआ है। कई स्वास्थ कर्मी सहित ग्रामीण इलाके के 53 लोग संक्रमित पाए गए हैं। सरकारी कर्मियों के संक्रमण की खबर से हड़कंप मच गया है। जिले के देवीपुर प्रखंड में सबसे ज्यादा 25 लोग संक्रमित पाए गए हैं। इनमें प्रखंड कार्यालय के 19 कर्मी संक्रमित पाए गए हैं। कार्यालय को सील करने की तैयारी की जा रही है। इसके अलावा एक महिला सहित छह अन्य संक्रमित पाए गए हैं। प्रखंड के दो-दो साहेबगंज मथुरापुर व गमहरिया गांव में और बिरनिया, हुसैनाबाद में एक-एक लोग पॉजिटिव पाए गए हैं।

इसके अलावा जसीडीह सीएचसी क्षेत्र के पांच लोग भी संक्रमित मिले हैं। इनमें से दो रामचंदरपुर, दो कजरिया कॉलोनी, एक एसबीआइ के पास का रहने वाला है। जसीडीह सीएचसी प्रभारी डॉ. एके सिंह ने बताया कि संक्रमितों को कोविड केयर सेंटर में भर्ती कराया गया है। वहीं मधुपुर में 18 लोगों का रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। इनमें एसबीआइ मेनब्रांच के सात कर्मी, एचडीएफसी के पांच, महिला थाना की एक एएसआइ, मधुपुर रेल थाना का एक जवान, मधुपुर नगर थाना का एक जवान, डाकघर का एक कर्मी, मधुपुर अनुमंडल अस्पताल का एक स्टाफ व एक प्रवासी मजदूर शामिल हैं। जानकारी हो कि एसबीआइ पहले से पिछले 15 दिनों से बंद हैं। इसके साथ ही अब एचडीएफसी को भी सील करने की तैयारी की जा रही है। महिला थाना को सील कर दिया गया है। डाकघर को भी सील करने पर विचार किया जा रहा है। जो बैंककर्मी संक्रमित मिले हैं उनमें से चार लोग देवघर से आना जाना करते थे। वहीं बाकि मधुपुर में ही किराए के कमान में रहते हैं। जीआरपी को जो जवान संक्रमित मिला है उसके बारे में बताया जा रहा है कि वह छुट्टी में साहेबगंज अपने गांव गया था। वहां से लौटने के बाद उसे सर्दी, खांसी व बुखार हुआ था। उसके बाद उसने अस्पताल जाकर अपना सैंपल जांच के लिए 22 जुलाई को दिया था। रिपोर्ट पॉजिटिव आया है। बताया गया कि सैंपल देने के बाद से वह बैरक में एक अलग कमरे में रह रहा था।

वहीं मोहनपुर एक पत्रकार संक्रमित पाया गया है। वह बाराकोला गांव का रहने वाला है। वहीं सारठ में एक स्वास्थ कर्मी, एक एएनएम का पति व बच्चा व दूसरे एएनएम का पति भी संक्रमित पाए गए हैं। जो लोग संक्रमित पाए गए हैं उनके संपर्क में आए लोगों का पता लगाया जा रहा है। सभी का सैंपल जांच के लिए लिया जाएगा। वहीं मधुपुर में 18 लोगों के संक्रमित होने की सूचना के बाद पुलिस सक्रिय हो गई। दुकानों को बंद कराया जाने लगा। भीड़ हटाने का प्रयास किया जाने लगा। सरकार के निर्देशों का अब यहां शक्ति से अनुपालन किया जाएगा। 242 लोगों का लिया गया सैंपल

अलग-अलग इलाके में शुक्रवार को 157 लोगों का सैंपल लिया गया हैं। इसके तहत मोहनपुर में 40 लोगों का सैंपल लिया गया। वहीं जसीडीह पीएचसी द्वारा मंझियाना व अन्य इलाकों में 51 व देवीपुर में 36 लोगों का सैंपल जांच के लिए भेजा गया है। इसके अलावा सारठ में 24 व सारवां में छह लोगों का सैंपल लेकर जांच के लिए भेजा गया है। वहीं देवघर में एलआइसी कार्यालय के 40 व देवघर डाबरग्राम पुलिस लाइन के 39 लोगों का सैंपल जांच के लिए लिया गया है। जानकारी हो कि एक एलआइसी कर्मी की मौत के बाद यहां के लोगों का सैंपल लिया गया है। इनमें से कुछ जांच टृूनेट से होना है जिसका रिपोर्ट दो दिन में आ जाने की उम्मीद है। वहीं अन्य रिपोर्ट के आने में देर हो सकती है। मधुपुर उपकारा में 98 का लिया गया सैंपल

मधुपुर उपकारा में शुक्रवार को 98 लोगों का सैंपल जांच के लिए लिया गया। इनमें 62 कैदी व 36 कर्मी शामिल हैं। सैंपल लेने के लिए मधुपुर अनुमंडल अस्पताल के नोडल पदाधिकारी डॉ. इकबाल के नेतृत्व में विशेष कैंप आयोजित किया गया था। जानकारी हो कि चार दिन पूर्व पथरौल पुलिस द्वारा एक कैदी को पकड़कर जेल भेजा गया था। रिपोर्ट पॉजिटिव आया। इसके बाद उपकारा के कैदियों व कर्मियों का सैंपल जांच के लिए लेने का निर्णय लिया गया। सभी का सैंपल का रिपोर्ट अगले पांच दिन में आने की उम्मीद है। यहां के कैदियों व कर्मियों को शारीरिक दूरी बनाए रखने को कहा गया है। सैंपल लेने गई टीम में स्वास्थ कर्मी दीपू ठाकुर, प्रमोद पंडित, राकेश कुमार, अजय दास शामिल थे। जानकारी हो कि उक्त कैदी के पॉजिटिव आने की खबर के बाद पथरौल थाने को सील कर दिया गया है। लोगों को शिकायत जमा कराने के लिए बाहर ही एक शिकायत पेटी लगा दी गई है। थाना के कर्मियों का भी सैंपल जांच किया जाएगा। महिला सहित तीन ने दिया कोरोना को मात

सारवां में इलाजरत एक महिला सहित तीन कोरोना संक्रमितों ने बीमारी को मात दे दी है। इन तीनों को शुक्रवार को घर भेज दिया गया। महिला प्रखंड के खरकाना गांव की रहने वाली है। वहीं एक युवक पिछी डहुआ तो दूसरा नारंगी गांव का रहने वाला है। सारवां पीएचसी के प्रभारी डॉ. सुनील सिंह ने बताया कि घर भेजने के दौरान इन तीनों को अगले 14 दिनों तक होम क्वारंटाइन पर रहने की सलाह दी गई है। करौं में 150 लोगों का रिपोर्ट पेंडिग

जांच की रफ्तार धीमी रहने के कारण लोगों का काफी परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। बहुत से लोगों में बीमारी का कोई लक्षण नहीं रहने के बाद भी वे क्वारंटाइन सेंटर व कोविड केयर सेंटर में रिपोर्ट आने के इंतजार में हैं। यहां के करौं प्रखंड के 694 लोगों का अब तक सैंपल जांच के लिए लिया गया है। सीएचसी प्रभारी डॉ. केके सिंह ने बताया कि इनमें से 150 लोगों का रिपोर्ट अभी आना बाकि है। जो रिपोर्ट अब तक आएं हैं उनमें एक को छोड़ बाकि नेगेटिव पाए गए हैं। जो एक मरीज पॉजिटिव पाया गया था वह भी कोरोना संक्रमण मुक्त होकर घर जा चुका है। जांच कराने आए लोगों ने लगाया बदसलूकी का आरोप

देवघर सदर अस्पताल में शुक्रवार को जांच कराने आए कुछ लोगों ने यहां के एक कर्मी पर बदसलूकी करने का आरोप लगाया है। इन लोगों ने कहा कि वे पर्ची कटाकर स्वाब जांच कराना चाहते थे। लेकिन यहां तैनात कर्मी ने बदसलूकी की। उन्होंने उक्त कर्मी से कहा कि वे जांच कराने आए हैं। लेकिन उन्हें सही जबाव नहीं मिला। सारठ निवासी दीपक कुमार ने बताया कि वह बाहर से आए एक मजदूर के संपर्क में आया था। उसका व कुछ अन्य की तबीयत ठीक नहीं है। इस कारण वे यहां जांच कराने आए लेकिन कोई उनका सैंपल लेने वाला नहीं था।

Edited By Jagran

देवघर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!