This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

भोजपुर, दरंगा, नया चितकाठ और बाघमारी में सौ फीसद टीकाकरण

यस फार वैक्सीन फोटो0 देवीपुर का तीन और मोहनपुर का एक पंचायत को मिला यह गौरव जाग

JagranWed, 28 Jul 2021 05:29 PM (IST)
भोजपुर, दरंगा, नया चितकाठ और बाघमारी में सौ फीसद टीकाकरण

यस फार वैक्सीन फोटो0 देवीपुर का तीन और मोहनपुर का एक पंचायत को मिला यह गौरव जागरण संवाददाता, देवघर: देवघर में सबसे पहले देवीपुर का भोजपुर पंचायत शत प्रतिशत टीकाकरण वाला पंचायत बना। इसके बाद दूसरे स्थान पर देवीपुर का ही दरंगा पंचायत अब तीसरा पंचायत बनने का गौरव मोहनपुर के नया चितकाठ को मिला। चौथा देवीपुर का बाघमारी पंचायत हो गया है। देवीपुर प्रखंड के तीन पंचायत शत प्रतिशत टीकाकरण वाले हो गए हैं। मोहनपुर पंचायत का नया चितकाठ ने खाता खोला है। रिपोर्ट के मुताबिक करौं और पालोजोरी के एक एक पंचायत में काफी तेजी से टीकाकरण चल रहा है। झारखंड में देवघर की सफलता का राज सुरक्षित गांव हमर गांव है। जिसे दैनिक जागरण का यस फार वैक्सीन का साथ मिला।

पहले दस पंचायत को मिलेगा पचीस लाख का माडल स्कूल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन कह रहे हैं कि टीका ही एकमात्र सुरक्षा कवच है। देवघर में उपायुक्त मंजूनाथ भजंत्री के टीकाकरण को बनाए माडल पर पूरा झारखंड चलने की कोशिश कर रहा है। दैनिक जागरण के यस फार वैक्सीन अभियान के प्लेटफार्म पर उपायुक्त ने घोषणा की है कि पहले दस पंचायत को पचीस लाख रुपया का इनाम सुशिक्षित समाज के लिए मिलेगा। यानि उस पंचायत का एक स्कूल निजी स्कूल की तर्ज पर माडल स्कूल बनेगा और जिला प्रशासन 25 लाख रुपया उस स्कूल के विकास में खर्च करेगा। नया चितकाठ की सफलता की कहानी नया चितकाठ के दो गांव बिहरोजी और नावाडीह में सबसे पहले सौ फीसद लोगों ने टीका लिया। बिहरोजी में 18 प्लस से अधिक के 382 लोग रहते है। 344 ने टीका ले लिया है। बाकि लोग मतदाता सूची में तो दर्ज हैं लेकिन वे गांव में नहीं रहते हैं, वह बेंगलुरू, हैदराबाद और सूरत में नौकरी करते हैं। नया चितकाठ गांव में जागरूकता और अनुशासन काम आया। केवल एक व्यक्ति कोरोना पाजीटिव हुआ और वह अस्पताल में भर्ती होकर ठीक हो गया था। पंचायत के कार्यकारी मुखिया अनिल कुमार के जागरूकता अभियान की प्रशंसा राज्य स्तर पर हो चुकी है।

कार्यकारी मुखिया अनिल कुमार के सामने गांव वालों ने पूरी बातें सामने रखी। मई महीने में जब कोरोना पीक पर था गांव में लोग टीका नहीं ले रहे थे। इंद्रदेव यादव एवं कृष्णा यादव को समझाने में कार्यकारी मुखिया कामयाब हुए और उनको रिखिया हाई स्कूल ले आए जहां टीका का केंद्र था। बात इससे भी नहीं बनी तो गांव वालों ने एक शर्त रखी कि वार्ड सदस्य संजय यादव ले लेंगे तो हमलोग टीका लेंगे। संजय को भी समझाकर मई और जून महीने में दो बार टीकाकरण शिविर लगवाया गया। मुखिया ने सीएचसी प्रभारी डॉ. सुनील कुमार एवं नोडल पदाधिकारी कनीय अभियंता अमीत कुमार से बात की। पहले शिविर में 45 प्लस के 134 लोगों ने टीका लिया। लोगों का विश्वास बढ़ा और जून में जब दूसरा शिविर इस गांव में लगा तब 18 प्लस के साथ कुल 210 ने टीका लिया।

नावाडीह गांव में चंद्रवंशी और रमानी समाज के लोगों की आबादी है। बिहरोजी गांव में लोग आगे नहीं आ रहे थे। यहां टीका लेने वाले की आबादी 190 है। डा. अनिल कुमार का एक कंपाउंडर इसी गांव में रहता है, कार्यकारी मुखिया ने समझाने की कोशिश की। दोनों के प्रयास से गांव में टीकाकरण शिविर जून के प्रथम सप्ताह माह में लगा। पहले ही दिन 185 लोगों ने टीका ले लिया। बचे लोग उत्क्रमित मध्य विद्यालय रिखिया के स्थायी टीकाकरण केंद्र में टीका लिया। बताते हैं कि सुरक्षित गांव हमर गांव के इस सपना को साकार करने में कार्यकारी मुखिया को सहिया पूजा देवी, सुमित्रा देवी, डा. संतोष कुमार और पारा शिक्षक गीता कुमारी, पारा शिक्षक अशोक यादव, सहिया साथी गुड़िया देवी, सहिया क्षमावती देवी और सेविका महावती देवी का पूरा समर्थन मिला।

------------------------

प्रखंड में पदस्थापना के साथ सुखद समाचार आया कि नया चितकाठ में संपूर्ण टीकाकरण हो चुका है। इसी पैटर्न पर यहां के सभी पचीस पंचायत जिला के दूसरे पंचायत में आगे रहे यह कोशिश होगी। प्राथमिकता में सुरक्षित गांव हमर गांव को रखा गया है।

विवेक किशोर, बीडीओ मोहनपुर

--------------------- नया चितकाठ में अनुशासन के साथ ग्रामीणों ने कोविड प्रोटोकाल का पालन किया। बाहरी लोगों का प्रवेश नहीं होने दिया। टीकाकरण में कोशिश रखे कि देवघर का नंबर वन पंचायत बनें लेकिन तीसरा स्थान बने। बहुत जतन से पंचायत को सुरक्षित रखा गया है।

अनिल कुमार, कार्यकारी मुखिया नया चितकाठ

---------------

बाघमारी पंचायत ने लिखी सफलता की कहानी संपूर्ण टीकाकरण अभियान में बाघमारी पंचायत देवीपुर प्रखंड का तीसरा पंचायत बना है। सबसे पहले भोजपुर पंचायत के मुखिया आशा देवी शर्मा के सहयोग से संपूर्ण टीकाकरण अभियान में झारखंड में पहला स्थान हासिल किया है। वहीं देवीपुर प्रखंड के ही दरंगा पंचायत के मुखिया विनती देवी के सहयोग से दूसरा स्थान आया है। जहां 18 वर्ष से अधिक उम्र के युवक युवतियों और महिला पुरुष को शत प्रतिशत टीकाकरण किया जा चुका है।

------------------------

देवीपुर प्रखंड के सभी कर्मियों, स्वास्थ्य विभाग के सभी अधिकारियों, कर्मचारियों, एएनएम के आपसी सहयोग से टीकाकरण अभियान में हर गांव हर टोला में घर घर जाकर टीकाकरण अभियान चलाया। लोगों के बीच फैली भ्रांतियों को हर एक व्यक्ति से मिलकर दूर किया।तब जाकर टीकाकरण में सफलता मिली।अब हमारा लक्ष्य है कि देवीपुर प्रखंड के सभी पंचायतों में शत-प्रतिशत टीकाकरण हो।

अभय कुमार,बीडीओ देवीपुर।

------------------------

देवीपुर प्रखंड के सभी पंचायतों में बीडीओ अभय कुमार के कुशल नेतृत्व में हमारे सभी एएनएम, सहिया, स्वास्थ्य कर्मियों ने बेहतरीन काम किया और संपूर्ण टीकाकरण अभियान में सफलता दिलाई, सभी बधाई के पात्र हैं।

डॉ. अवधेश कुमार सिंह,चिकित्सा प्रभारी सीएचसी देवीपुर।

------------------------ पंचायत सचिव दिनेश सिंह, सहिया, आंगनबाड़ी सेविका,पारा शिक्षक, कृषक मित्र और सभी के सहयोग से टीकाकरण में शत प्रतिशत सफलता हासिल की है। मुस्लिम बाहुल्य औरंजा गांव में कैंप किया। पहले युवाओं को समझाया तो टीका लगाने के लिए तैयार हो गये। बच्चों को टीका लगवाते देख सभी महिलाओं और पुरुषों ने शत प्रतिशत टीकाकरण कराया। तब जाकर पंचायत ने सफलता हासिल किया।

नागेश्वर सिंह, कार्यकारी मुखिया बाघमारी पंचायत।

---------------

Edited By Jagran

देवघर में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!