वेज रिवीजन की दूर होनी चाहिए विसंगतियां

बोकारो स्टील वर्कर्स यूनियन के महामंत्री चंद्रशेखर दुबे के नेतृत्व में यूनियन का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को बीएसएल के अधिशासी निदेशक कार्मिक समीर स्वरूप से मिला और कर्मियों के वेज रिवीजन में व्याप्त विसंगतियों पर चर्चा की।

JagranPublish: Sat, 04 Dec 2021 07:36 PM (IST)Updated: Sat, 04 Dec 2021 07:36 PM (IST)
वेज रिवीजन की दूर होनी चाहिए विसंगतियां

जासं, बोकारो: बोकारो स्टील वर्कर्स यूनियन के महामंत्री चंद्रशेखर दुबे के नेतृत्व में यूनियन का प्रतिनिधिमंडल शनिवार को बीएसएल के अधिशासी निदेशक कार्मिक समीर स्वरूप से मिला और कर्मियों के वेज रिवीजन में व्याप्त विसंगतियों पर चर्चा की। दुबे ने कहा कि कर्मचारियों को वेज रिवीजन का एरियर एक जनवरी 2017 से मिलना चाहिए, अन्यथा वेतन समझौता का कोई मतलब नहीं रह जाता है। कहा कि वर्तमान में प्लांट में मैनपावर की भारी कमी के बावजूद उत्पादन के नए कीर्तिमान स्थापित हो रहे हैं। यह कीर्तिमान मेहनतकश कर्मचारियों की बदौलत स्थापित हो रहा है। हरहाल में वेज रिवीजन में हुई विसंगतियों को दूर करते हुए पूरे एरियर की राशि का भुगतान करने के साथ ही कर्मचारियों को अधिकारियों की भांति एक समान चिकित्सा व्यवस्था, आवास अनुरक्षण जैसी समस्याओं का निराकरण प्रबंधन को करना चाहिए। प्रतिनिधिमंडल में यूनियन के अध्यक्ष कमल दुबे, इंटक के बोकारो जिलाध्यक्ष रघुनाथ महतो, डा. इंद्रदेव पासवान, अजय चौबे, जगदीश पांडेय, दीनानाथ पांडेय, गोपाल ठाकुर, आरके मिश्रा, संजय कुमार ठाकुर, कन्हैया पांडेय, एसके सिंह, मेराज अंसारी, प्रवीण पांडेय, संजय दास, आरके राय, संटू ओझा शामिल थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept