निजी सुरक्षाकर्मियों व ठेका मजदूरों को पुन: किया जाए बहाल

कथारा (बेरमो) कार्य से हटाए गए निजी सुरक्षाकर्मियों व ठेका मजदूरों को पुन किया जाए बहा

JagranPublish: Wed, 20 Oct 2021 08:16 PM (IST)Updated: Wed, 20 Oct 2021 08:16 PM (IST)
निजी सुरक्षाकर्मियों व ठेका मजदूरों को पुन: किया जाए बहाल

कथारा (बेरमो) : कार्य से हटाए गए निजी सुरक्षाकर्मियों व ठेका मजदूरों को पुन: किया जाए बहाल, निजी सुरक्षाकर्मियों व ठेका मजदूरों की उपेक्षा बर्दाश्तनहीं की जाएगी आदि नारे बुधवार को कथारा महाप्रबंधक कार्यालय के समक्ष गूंजे। यहां श्रमिक संगठन इंटक ददई गुट से संबद्ध असंगठित मजदूर कांग्रेस के प्रतिनिधियों ने जुलूस निकालकर प्रदर्शन किया। उसके बाद प्रबंधन को पांच सूत्री मांगपत्र सौंपा। राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ के रीजनल अध्यक्ष इसराफील अंसारी उर्फ बबनी ने कहा कि सीसीएल कथारा प्रक्षेत्र की विभिन्न परियोजनाओं से काम से हटाए गए निजी सुरक्षाकर्मियों और कथारा व स्वांग वाशरी के क्लीनिग एवं इरेक्शन के मजदूरों को पुन: बहाल करने के लिए काफी लंबे समय से आंदोलन किया जा रहा है। इसके बावजूद प्रबंधन चुप्पी साधे हुए है। इसे अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। असंगठित मजदूर कांग्रेस के जिला महामंत्री संतोष कुमार आस ने कहा कि निजी सुरक्षाकर्मियों एवं क्लीनिग मजदूरों ने कई वर्षों तक कड़ी मेहनत कर सीसीएल की सेवा की। उन सबको काम से बैठा दिया गया। इसके खिलाफ अब आरपार की लड़ाई लड़ी जाएगी। यदि निजी सुरक्षाकर्मियों एवं क्लीनिग मजदूरों को पुन: बहाली करने की दिशा में 15 दिन के भीतर सकारात्मक पहल नहीं की गई तो सीसीएल कथारा प्रक्षेत्र का चक्काजाम कर दिया जाएगा।

राष्ट्रीय कोलियरी मजदूर संघ के कथारा क्षेत्रीय सचिव वरुण कुमार सिंह ने कहा कि कथारा वाशरी में स्लरी एवं रिजेक्ट कोल की रोड सेल अविलंब चालू कराई जाए। जारंगडीह स्थित बंद पड़ी कथारा कैप्टिव पावर प्लांट को पुन: चालू कराया जाए। कोलियरी से सटे विस्थापित-प्रभावित गांवों में बिजली-पानी की सुविधा सीसीएल की ओर से दी जाए। असंगठित मजदूर कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष उदय प्रताप सिंह उर्फ कुट्टू सिंह ने कहा कि स्थानीय युवाओं एवं विस्थापितों को झारखंड सरकार के आदेशानुसार सीसीएल की परियोजनाओं में संचालित आउटसोर्सिंग कंपनियों में रोजगार देना होगा। झिरकी ग्राम की सड़क की मरम्मत कराकर खदान में हैवी ब्लास्टिग पर रोक लगाई जाए। मौके पर देवतानंद दुबे, मो. जानी, मो. फारूक, गणेश गोप, मुर्शीद आलम, सुरेंद्र सिंह, कौशल अधिकारी, विनोद यादव, हामिद अंसारी, बानेश्वर प्रजापति, गिरीश्वर मांझी, बेनी माधव, अनिल कुमार, चंद्रदेव मरांडी, इम्तियाज अंसारी, जाकिर अंसारी, तारा सिंह, नेपाली सिंह आदि उपस्थित थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept