नौनिहालों का भविष्य बर्बाद कर रही झारखंड सरकार : पीएन सिंह

जागरण संवाददाता बोकारो बोकारो जिला भाजपा के कार्यकर्ताओं ने बिजली की लचर व्यवस्था के विर

JagranPublish: Sat, 29 Jan 2022 12:40 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 12:40 AM (IST)
नौनिहालों का भविष्य बर्बाद कर रही झारखंड सरकार : पीएन सिंह

जागरण संवाददाता, बोकारो : बोकारो जिला भाजपा के कार्यकर्ताओं ने बिजली की लचर व्यवस्था के विरोध में शुक्रवार को चास विद्युत विभाग के कनीय अभियंता कार्यालय के समक्ष धरना दिया। सांसद पशुपति नाथ सिंह ने कहा कि पूरे क्षेत्र में बिजली की लचर व्यवस्था है। कई माह से उपभोक्ताओं को 12 घंटे भी बिजली नसीब नहीं होती है। विभाग से शिकायत करने पर अधिकारी डीवीसी का रोना रोते हैं। कोरोना काल में स्कूल बंद हैं। विद्यार्थी आनलाइन शिक्षा ग्रहण कर रहे हैं। बिजली की कटौती के कारण बच्चों की पढ़ाई पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है।अगर झारखंड सरकार अविलंब बिजली व्यवस्था में सुधार नहीं करती है तो भाजपा कार्यकर्ता आंदोलन को बाध्य होंगे।

बोकारो के विधायक बिरंची नारायण ने कहा कि 15 माह से राज्य में बिजली की व्यवस्था चरमरा गई है। मुख्यमंत्री से अपना विभाग नहीं संभल रहा है। अब शिक्षा मंत्री से स्कूल नहीं संभला तो अपने विभाग को छोड़ कर मुख्यमंत्री के अधीन विभाग के संबंध में बयानबाजी कर रहे हैं। विधायक ने कहा कि चार विद्युत सब स्टेशन , दो ग्रिड बनाकर हमारी सरकार ने दिया , प्रदेश की निक्कमी सरकार उसे चालू तक नहीं कर सकी। पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यकाल में राज्य में 160 से अधिक नए विद्युत सब स्टेशन व 40 से अधिक पावर ग्रिड का निर्माण कराया गया। भाजपा के शासन में निश्शुल्क ट्रांसफार्मर बदला जाता था। शिक्षा मंत्री विलंब बिजली व्यवस्था में सुधार नहीं होने पर विभाग के कार्यालय में ताला जड़ दिया जाएगा।

जिलाध्यक्ष भरत यादव ने कहा कि जब तक बीस घंटे निर्बाध बिजली नहीं मिलेगी, तक तक आंदोलन जारी रहेगा। सरकार को नींद से जगाने का काम किया जाएगा। इस दौरान डीवीसी के चेयरमैन से दूरभाष पर बातचीत की गई। जिलाध्यक्ष भरत यादव के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल के नाम विद्युत अभियंता को पत्र सौंपा। मौके पर रोहित लाल सिंह, केके मुन्ना, दिलीप श्रीवास्तव, कमलेश राय, संजय त्यागी, लीला देवी, अशोक कुमार, जयदेव राय, गोउर रजवार, जय नारायण मरांडी, अशोक कुमार पप्पू, इंद्र कुमार झा, माथुर मंडल, महेंद्र राय, शंकर रजक, प्रगति शंकर, ऋतुरानी सिंह, गिरिजा देवी, अनिल सिंह, बैद्यनाथ प्रसाद, पीयूष आचार्य, भैरव महतो आदि उपस्थित थे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept