60 करोड़ से संवरेगी इस्पात नगरी

जागरण संवाददाता बोकारो बोकारो इस्पात नगर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए सेल प्रबंधन ने कवायद शुरू कर दी है।

JagranPublish: Tue, 10 Aug 2021 12:46 AM (IST)Updated: Tue, 10 Aug 2021 12:46 AM (IST)
60 करोड़ से संवरेगी इस्पात नगरी

जागरण संवाददाता, बोकारो:

बोकारो इस्पात नगर को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए सेल प्रबंधन ने कवायद शुरू कर दी है। शहर में साफ-सफाई के साथ विभिन्न आवासीय कालोनी के जीर्णोद्धार के लिए प्रारूप तैयार कर लिया गया है। योजना की शुरुआत सेक्टर-12 की आवासीय कालोनी से की जाएगी। जहां सेक्टर 12 ए से लेकर 12 एफ के सभी क्षतिग्रस्त मकान, सीढ़ी, छत, बालकनी व पानी की टंकी का मरम्मत कर रंगरोगन का काम किया जाएगा। इसके लिए प्रबंधन ने 35 करोड़ रुपये का प्रबंध किया है। साथ ही नगर के विभिन्न आवासीय कॉलोनी के जर्जर सड़क व नाली की मरम्मत भी की जाएगी, जहां 25 करोड़ रुपये खर्च किये जाने की योजना है। यह पूरा कार्य प्रबंधन साल 2021 के अंत तक करने का लक्ष्य रखी है। मतलब साल 2022 में बोकारो इस्पात नगर एक नए लुक में दिखने लगेगा।

--------

- सड़क व लाइट का काम हुआ शुरू :

सुंदरीकरण की राह पर चल पड़े बोकारो इस्पात नगर में जर्जर सड़क बनाने का काम शुरू हो गया है। इसके अलावा विभिन्न आवासी कॉलोनी में लगी ट्यूब लाइट की जगह 90 वाट का नया एलईडी लाइट लगाया जाएगा। सुंदरीकरण के लिए प्रबंधन का पहला फोकस सेक्टर-12 पर है। ऐसा इसलिए की साल के अंत तक बोकारो से हवाई सेवा की शुरुआत होने वाली है। सेक्टर-12 बोकारो एयरपोर्ट के सबसे निकट का आवासीय कॉलोनी है। एयरपोर्ट का दूसरा गेट जो यात्रियों के लिए आवागमन के लिए होगा, उसका रास्ता सेक्टर-12 के मार्ग से गुजरेगा। ऐसे में, प्रबंधन समय रहते इस आवासीय कालोनी को सुंदरीकरण की दिशा में एक पहचान देने के लिए जुट गई है। इस बीच सेक्टर के अन्य आवासीय कालोनी में क्षतिग्रस्त मकान के मरम्मत का काम क्रमवार तरीके से जारी है।

-----

- स्थानीय व बाहरी ठेका को लेकर फंसा है पेंच :

35 करोड़ की राशि के साथ सेक्टर 12 के सुंदरीकरण का मामला फिलहाल स्थानीय व बाहरी ठेका को लेकर पेंच में फंसा है। बताया जाता है की प्रबंधन के आला अधिकारी बाहरी कंपनी को पूरे कामकाज का ठेका देने के पक्ष में है तो वही कतिपय अधिकारी इस बात का हवाला दे रहे हैं। स्थानीय ठेका कंपनी के साथ पूर्व में हुए करार के मुताबिक सिविल अनुरक्षण संबंधी कार्य करने का अधिकार कंपनी में सूचीबद्ध संवेदक को है। मामला फिलहाल प्रबंधन के पास विचाराधीन है, लेकिन कयास लगाया जा रहा है की इस माह के अंत तक टेंडर को लेकर फैसला हो जाएगा। जिसके बाद सेक्टर-12 में सुंदरीकरण का काम युद्ध् स्तर पर प्रारंभ हो जाएगा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept