पहाड़ों पर बर्फबारी व मैदानी इलाकों में बारिश से जनजीवन प्रभावित

जागरण संवाददाता ऊधमपुर मौसम का मिजाज बदलने के बाद शुरू हुआ बारिश और बर्फबारी का दौ

JagranPublish: Sun, 23 Jan 2022 06:33 AM (IST)Updated: Sun, 23 Jan 2022 06:33 AM (IST)
पहाड़ों पर बर्फबारी व मैदानी इलाकों में बारिश से जनजीवन प्रभावित

जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : मौसम का मिजाज बदलने के बाद शुरू हुआ बारिश और बर्फबारी का दौर शनिवार को दिनभर जारी रहा। बीच-बीच में कुछ देर के लिए बारिश रुकी रही तो कभी हल्की बूंदाबांदी होती रही। वहीं, शनिवार को लोकप्रिय पर्यटन स्थल पत्नीटाप और नत्थाटाप सहित जिले के लगभग सभी पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी हुई। बारिश और बर्फबारी की वजह से सर्दी में भी इजाफा हुआ है। बारिश के बावजूद जम्मू-श्रीनगर हाईवे श्रीनगर से जम्मू जाने वाले वाहनों के लिए एकतरफा खुला रहा।

हाईवे पर एक-दो बार मिहाड़ में मलबा गिरा, मगर 10 से 15 मिनट के बीच ही इसे साफ कर हाईवे पर आवाजाही बहाल कर दिया गया। जवाहर सुरंग पर बारिश के साथ रुक-रुक कर बर्फबारी होती रही। डीएसपी मुख्यालय निसार अहमद के मुताबिक तीन से चार इंच तक ताजा बर्फबारी हुई है, मगर हाईवे पर यातायात सुचारु रूप से चल रहा है।

बारिश की वजह से सड़कों और गलियों में पानी और कीचड़ की वजह से लोगों को आने जाने में दिक्कत हुई। वहीं बारिश की वजह से सामान्य जनजीवन भी प्रभावित हुआ। जिले के पहाड़ी क्षेत्र डुडु बसंतगढ़, लाटी, पंचैरी, चनैनी, रामनगर और मोंगरी के उंचाई वाले पहाड़ों पर भी बर्फबारी हुई। शिवगली, धार लद्दा, शिवगढ़धार, सियोजधार, गोरी मिट्टी, सांकरी , शंखपाल में भी बर्फबारी हुई। वहीं, पर्यटन स्थल पत्नीटाप और नत्थाटाप में भी बर्फबारी हुई है। बीडीसी चेयरमैन चनैनी प्रकाश चंद ने बताया कि कुद में तीन इंच और पत्नीटाप में आठ इंच से ज्यादा बर्फ गिर चुकी है। वहीं नत्थाटाप में डेढ़ फीट तक बर्फबारी हो चुकी है। बसंतगढ़ निवासी स्वर्ण सिंह के अनुसार बसंतगढ़ में भी छह इंच से ज्यादा बर्फ गिर चुकी है, लाटी में भी इतनी ही बर्फ गिरने की खबर है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept