आज खुल जाएगा बिरमा नदी पर तैयार दूसरा बेली पुल

जागरण संवाददाता ऊधमपुर करीब एक सप्ताह पहले बिरमा नदी पर तैयार किया गया दूसरा बेली पु

JagranPublish: Wed, 01 Dec 2021 06:25 AM (IST)Updated: Wed, 01 Dec 2021 06:25 AM (IST)
आज खुल जाएगा बिरमा नदी पर तैयार दूसरा बेली पुल

जागरण संवाददाता, ऊधमपुर : करीब एक सप्ताह पहले बिरमा नदी पर तैयार किया गया दूसरा बेली पुल बुधवार को सुबह वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा। लोड टेस्ट पहले ही चुका है और अप्रोच के गतिरोध हटाने का काम पूरा कर लिया गया है।

इस बेली पुल के खुल जाने से आवाजाही सुगम हो जाएगी। इस नवनिर्मित बेली पुल से जम्मू से ऊधमपुर की ओर वाहन आएंगे और पूर्व में बने बेली पुल से ऊधमपुर से जम्मू की तरफ वाहन जाएंगे। एक ही बेली पुल होने से एक तरफ से वाहन गुजर जाने के बाद दूसरी तरफ से वाहन आ पाते थे।

बताते चलें कि बिरमा नदी पर बने करीब 50 वर्ष पुराने सीमेंटेड पुल के अबटमेंट (आधार) में लगातार झुकाव के बाद बड़ी दरार पड़ने से असुरक्षित घोषित कर दिया गया। शुरू में झुकाव कम था और दरार भी नहीं थी, जिसके चलते सेना की इंजीनियरिग रेजिमेंट की मदद से सीमेंटेड पुल के प्रभावित हिस्से को बाईपास कर बेली पुल बनाया गया था। इस वर्ष सितंबर के अंत में एक लोड टिप्पर के गुजरने से बेली पुल का अप्रोच टूट गया और टिप्पर उसमें फंस गया। इसके बाद पहले पुल को मरम्मत के लिए बंद किया गया, मगर मरम्मत के दौरान पुल में काफी अधिक झुकाव के कारण काफी बड़ी दरार पड़ गई, जिससे पुल को बंद कर दिया गया और इस पर बनाए गए बेली पुल को डिलांच कर दिया गया।

इसके साथ ही बिरमा नदी पर बीआरओ की ओर से तैयार किए गए बेली पुल के समानांतर दूसरा बेली पुल बनाने को हरी झंडी मिल गई। उसके बाद एंकरिग का काम किया गया, जिसके बाद अबटमेंट बनाकर तैयार कर दिया गया। अबटमेंट मजबूत होने पर उसकी भराई करने के बाद करीब दो सप्ताह पूर्व बेली पुल का निर्माण शुरू कर दिया गया, जो करीब एक सप्ताह पहले बनकर तैयार हो चुका था। अप्रोच के गतिरोधों को अब दूर कर दिया गया है। जैक में खराबी व अप्रोच के गतिरोध की वजह से निर्माण में हुई देरी

बिरमा नदी पर दूसरे बेली पुल का निर्माण कर इसे एक सप्ताह के भीतर खोल दिया जाना था, मगर काम के दौरान बीआरओ की ओर से इस्तेमाल किए जा रहे चार जैक में तीन एक-एक करके खराब हो गए। अन्य वर्कशाप से बीआरओ ने जैक की व्यवस्था तो कर ली, मगर इनकी क्षमता खराब हुए जैक से 20 टन कम होने की वजह से काम की गति मंद पड़ गई। पिछले सप्ताह पुल का निर्माण तो कर लिया गया, मगर इसके बाद पुल की अप्रोच में कुछ गतिरोधों को दूर कर उनको ठीक करने का काम किया गया, जिससे की खुलने के बाद वाहनों को आने-जाने में कोई दिक्कत न हो। ये गतिरोध दूर हो चुके हैं और पुल खोले जाने के लिए तैयार है। कुछ समय बाद पक्का किया जाएगा अप्रोच

दूसरे बेली पुल निर्माण के बाद बीआरओ पुल के अप्रोच के गतिरोध को ठीक करने के साथ इस पर तारकोल बिछाकर इसे खोलना चाहती थी, ताकि पुल खुलने के बाद इस पर तारकोल बिछाने के लिए दोबारा बंद न करना पड़े। इसके लिए बीआरओ ने कंकड़ और बजरी बिछाकर रोड रोल चलाने का काम किया, जिससे वह अच्छी तरह से बैठ जाए। मगर बाद में तकनीकी कारणों से अप्रोच पर बिछाए गए कंकड़ को और बैठाने के लिए कुछ और समय देने व उसके बाद ही तारकोल बिछाने का फैसला लिया गया। इसके साथ ही कुछ दिन बाद बारिश का पूर्वानुमान भी है। बारिश होने से बजरी व कंकड़ को बैठने में और मदद मिलेगी, जिसके चलते कुछ देर तक इसी तरह से वाहनों के लिए खोलने के बाद इस पर तारकोल बिछाया जाएगा। दूसरे बेली पुल का लोड टेस्ट पहले ही किया जा चुका है। इस पुल से 24 टन वजन क्षमता के वाहन गुजर सकेंगे। बुधवार को पुल को वाहनों की आवाजाही के लिए खोल दिया जाएगा। कुछ समय बाद अप्रोच पर तारकोल बिछा कर इसे पक्का कर दिया जाएगा।

मुकुल विशिष्ट, आफिसर कमांडिग (ओसी), 52 आरसीसी, बीकन

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम