जम्मू-कश्मीर: अंतिम बार चैट पर लिखा बुरे फंस गए, पिता की तबीयत बिगड़ रही, फिर लापता हो गया लखनऊ का परिवार

रामबन जिला पुलिस को शनिवार को लखनऊ में उनके स्वजन से इंटरनेट मीडिया के माध्यम से परिवार के तीन सदस्यों का सुराग न लगने की सूचना मिली थी। लखनऊ निवासी महमूद खान उनकी पत्नी द्राक्षा खान और बेटा शाहनवाज खान कश्मीर जा रहे थे।

Vikas AbrolPublish: Mon, 17 Jan 2022 02:30 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 03:08 PM (IST)
जम्मू-कश्मीर: अंतिम बार चैट पर लिखा बुरे फंस गए, पिता की तबीयत बिगड़ रही, फिर लापता हो गया  लखनऊ का परिवार

ऊधमपुर, जागरण संवाददाता : लखनऊ का परिवार जम्मू-श्रीनगर राजमार्ग पर गुम हो गया है। बताया जा रहा है कि लखनऊ के विकास नगर का रहने वाला यह परिवार के लिए कश्मीर जा रहा था, लेकिन दो दिन पहले हुए भूस्खलन के कारण मार्ग में कहीं फंस गया। उसके बाद उनका रामबन और ऊधमपुर पुलिस उन्हें राजमार्ग के साथ आसपास के क्षेत्रों में खोज रही है। साथ ही अस्पतालों और होटलों में भी उनका सुराग नहीं मिल पाया है।

रामबन जिला पुलिस को शनिवार को लखनऊ में उनके स्वजन से इंटरनेट मीडिया के माध्यम से परिवार के तीन सदस्यों का सुराग न लगने की सूचना मिली थी। लखनऊ निवासी महमूद खान, उनकी पत्नी द्राक्षा खान और बेटा शाहनवाज खान कश्मीर जा रहे थे। महमूद अली खान हाल ही में इंडियन आयल कारपोरेशन से रिटायर हुए थे। शुक्रवार को उनकी वाट्सएप पर परिवार से अंतिम बार चैट हुई थी। इसमें बेटे ने लिखा था कि भूस्खलन के कारण वह रास्ते में बुरे फंस गए हैं और कश्मीर नहीं पहुंच पाए हैं। अभी रास्‍ते में ही अटके हैं। पिता की तबीयत भी खराब हो रही है।

उन्होंने कुछ क्षेत्रों के फोटो भी साझा किए थे। उसके बाद उनका लखनऊ में परिवार से संपर्क नहीं हो पाया। रामबन की एसपी मोहिता शर्मा ने बताया कि तलाश अभियान जारी है। हमने काफी तलाश की है पर परिवार की कोई सूचना नहीं है। रामबन के डीएसपी हेडक्‍वार्टर प्रदीप सिंह ने बताया कि परिवार को सब जगह खोजा गया है। परिवार ने बताया था कि अंतिम बार रामसू के पास थे पर कोई सुराग नहीं है। ऊधमपुर पुलिस की भी मदद ले रहे हैं।

ऊधमपुर के एसपी विनोद कुमार ने बताया कि परिवार से मिलीं तस्वीरें ऊधमुपर के चेनैनी और कुद क्षेत्र की दिखाई पड़ रही हैं। जिले में भूस्खलन से इस दौरान किसी हादसे की सूचना नहीं है। लगातार प्रयास जारी हैं।

एसडीपीओ चेनैनी ने बताया कि अस्पतालों और होटलों से भी संपर्क साधा गया है। उन्होंने कहा कि भूस्खलन के कारण हाईवे पर हजारों वाहन फंस गए थे। ऐसे में हादसे की जानकारी तुरंत मिल जाती। शनिवार और रविवार को सभी छोटे वाहन निकाले गए हैं पर परिवार का कोई सुराग नहीं मिला।

हरदोई के संडीला निवासी सलीम खान के मुताबिक, उनके साढ़ू महमूद अली परिवार के साथ कश्मीर घूमने गए हैं। दो दिन से संपर्क नहीं होने के कारण पूरा परिवार परेशान है।

Edited By Vikas Abrol

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept