कठुआ में दोपहर दो बजे से साप्ताहिक पाबंदी का एलान, शाम तक खुलीं दुकानें

जागरण संवाददाता कठुआ कोरोना के बढ़ते संक्रमण को कम करने के लिए शुक्रवार दोपहर 2

JagranPublish: Sat, 29 Jan 2022 05:53 AM (IST)Updated: Sat, 29 Jan 2022 05:53 AM (IST)
कठुआ में दोपहर दो बजे से साप्ताहिक पाबंदी का एलान, शाम तक खुलीं दुकानें

जागरण संवाददाता, कठुआ : कोरोना के बढ़ते संक्रमण को कम करने के लिए शुक्रवार दोपहर 2 बजे से गैर जरूरी गतिविधियों पर जिला प्रशासन की ओर से साप्ताहिक पाबंदी लगाए जाने को लेकर इस बार भी असमंजस की स्थिति बनी रही। पिछले सप्ताह की तरह इस बार भी पुलिस का वाहन एक बजे से शहर में लोगों को 2 बजे से गैर जरूरी गतिविधियों पर साप्ताहिक पाबंदियां शुरू होने का हवाला देते हुए दुकानों को बंद करने के लिए ढिढोरा पीटना शुरू कर दिया था। हालांकि पुलिस की इस चेतावनी का किसी भी गैर जरूरी गतिविधि पर असर नहीं हुआ। सब कुछ सामान्य दिनों की तरह ही चलता रहा। इससे 2 बजे से साप्ताहिक पाबंदी लगाने का आदेश इस सप्ताह भी प्रभावी नहीं बन पाया। दुकानदारों ने शाम को ही दुकानें बंद कीं। गैर जरूरी सामान एवं गतिविधि में प्रशासन ने फल, सब्जी, दूध, बेकरी, किराना, पशु चारे से जुडे़ सामान को छोड़कर अन्य सभी दुकानें एवं यात्री वाहन को शामिल कर रखा है। दवा की दुकानों एवं हेल्थ क्लीनिकों को पाबंदी से बाहर रखा गया है, लेकिन यहां शहर में 2 बजे के बाद भी सब कुछ खुला रहा। सामान्य गतिविधियां भी जारी रहीं। फिलहाल शनिवार व रविवार को गैर जरूरी सामान की दुकानें सोमवार सुबह 6 बजे तक बंद रहेंगी। इसमें भी आवश्यक सामान वाली दुकानें तय चार घंटे के लिए खुली रहेंगी।

हालांकि जिले बसोहली में एडीसी ने 2 बजे से ही पूरा बाजार बंद करा दिया। इमरजेंसी सेवा को छोड़ कर सभी तरह की गतिविधि को बंद करवा दिया। प्रशासन के इस तरह के आदेश कठुआ शहर के बाजारों में लागू नहीं हो पा रहे हैं। सबसे अहम बात ये है कि प्रशासन सिर्फ आदेश जारी कर रहा है, लेकिन कठुआ शहर में 2 बजे से लागू कराने को लेकर सख्त नहीं दिखाता है। दुकानें खुली हैं तो कोई बात नहीं, इसे गैर जरूरी गतिविधियां चलाने वाले के व्यवहार और मर्जी पर छोड़कर उसे भी जिम्मेदारी का पालन करने की बात कर रहा है, जबकि इससे पहले ऐसा नहीं हुआ। पहले आदेश की अवहेलना होने पर कार्रवाई भी की जाती रही है। 2 बजे बंद करने के आदेश पर प्रशासन ये भी कह रहा है कि जो सरकार की गाइडलाइन है, उसे हर किसी को पालन करना है, ये हम सब की बराबर जिम्मेदारी बनती है।

इसके साथ प्रशासन सभी तरह की दुकानें बंद करवा कर लोगों को काम-धंधे बंद कराने पर खुद जिम्मेदार भी नहीं बनना चाहता है। इसी के चलते 2 बजे से पाबंदियां सिर्फ आदेश हो सकता है, उस पर अमल कराने को लेकर प्रशासन जबरदस्ती या किसी तरह की कार्रवाई भी करने के पक्ष में नहीं है, ये भी साफ हो गया है। जम्मू में चैंबर के बंद न करने को लेकर कठुआ में भी अमल : दरअसल गत सप्ताह जम्मू में वहां के डीसी के 2 बजे से पाबंदियां लगाने के डीसी के आदेश पर चैंबर के सहमत न होने पर दुकानें खुली रखने के बाद कठुआ में असर रहा। जम्मू चैंबर के मुताबिक यहां भी दुकानदारों ने अपनी दुकानें खुली रखीं। इस पर कठुआ प्रशासन को कोई आपत्ति भी नहीं दिखी। उसी का शुक्रवार को भी असर दिखा। जिला उपायुक्त राहुल यादव का कहना है कि सरकार की जो गाइडलाइन है, उसी मुताबिक शुक्रवार दोपहर 2 बजे से गैर जरूरी सामान वाली दुकानें एवं अन्य गतिविधि पर साप्ताहिक पाबंदी सोमवार सुबह 6 बजे तक रहेगी। हम सबको इसका पालना करना चाहिए। अगर कोई ऐसा नहीं कर रहा है तो वो सरकार के साथ सहयोग नहीं कर रहा है। कोरोना के मामले में हम सब को आपदा प्रबंधन द्वारा जारी की जाने वाली गाइडलाइन का पालन करना होगा। ये सबकी जिम्मेदारी बनती है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम