जिले में कोरोना मामलों में इजाफा, 52 और लोग संक्रमित

जम्मू कश्मीर में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही जिला कठुआ में भी कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इससे जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के हाथ-पांव फूलने लगे हैं। अगर इसी तरह संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती रही तो जिले में स्थिति विस्फोटक हो सकती है। शुक्रवार को जिले में 52 और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। इनमें चार यात्री है जो दूसरे राज्यों से सफर करके आए हैं। बाकी 48 मरीज स्थानीय हैं। इससे साफ है कि जिला में कोरोना संक्रमण कितनी तेजी से फैल रहा है।

JagranPublish: Sat, 15 Jan 2022 07:06 AM (IST)Updated: Sat, 15 Jan 2022 07:06 AM (IST)
जिले में कोरोना मामलों में इजाफा, 52 और लोग संक्रमित

जागरण संवाददाता,कठुआ : जम्मू कश्मीर में कोरोना के नए वैरिएंट ओमिक्रोन से संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ने के साथ ही जिला कठुआ में भी कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। इससे जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के हाथ-पांव फूलने लगे हैं। अगर इसी तरह संक्रमित मरीजों की संख्या बढ़ती रही तो जिले में स्थिति विस्फोटक हो सकती है। शुक्रवार को जिले में 52 और लोगों में कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई। इनमें चार यात्री है, जो दूसरे राज्यों से सफर करके आए हैं। बाकी 48 मरीज स्थानीय हैं। इससे साफ है कि जिला में कोरोना संक्रमण कितनी तेजी से फैल रहा है। अच्छी बात यह है कि 29 मरीज स्वस्थ होकर अपने घर लौट गए हैं। अब जिले में सक्रिय मरीज की संख्या 338 रह गई है।

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के अनुसार, जिले में मिले नए 52 मामलों में कठुआ शहर में 22, नगरी परोल में 13, हीरानगर में सात, बिलावर में छह, बसोहली में एक और बनी में 3 नए मामले मिले हैं। इस बार जिला में सबसे ज्यादा संक्रमित मरीज कठुआ शहर में मिल रहे हैं और सबसे ज्यादा भीड़ भी शहर के विभिन्न संस्थानों एवं बाजारों में ही रहती है। प्रशासन ने जिला में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए जहां भीड़भाड़ वाले स्थानों पर लोगों को सिर्फ अति जरूरी कार्य के लिए ही आने की अपील करना का क्रम पहले से ही शुरू कर रखा है। इसके साथ कोरोना का नया वैरिएंट ओमिक्रोन के खतरे से भी जिलावासियों को आगाह किया जा रहा है, ताकि ओमिक्रोन को जिले में फैलने से रोका जा सके।

हालांकि, अभी तक जिला में ओमिक्रोन का कोई भी मामला नहीं आया है,लेकिन प्रशासन ने पहले ही जिलावासियों को इसके खतरे से बचने के लिए जागरूक करना शुरू कर दिया है।

जिला उपायुक्त कार्यालय के बाहर लगा जागरूकता पोस्टर

शहर के सबसे प्रमुख सार्वजनिक स्थल जिला उपायुक्त कार्यालय कठुआ के मुख्य गेट पर ओमिक्रोन के खतरे से बचने के लिए पोस्टर लगाए गए, ताकि लोग इस नए वैरिएंट को लेकर जागरूक हो सकें। इसी बीच पुलिस ने जगह जगह नाके लगाकर बिना मास्क पहने घरों से बाहर निकलने वालों का चालान काटना शुरू कर दिया है। कोरोना के बढ़ते खतरे के बीच अभी भी काफी संख्या में लोग कोरोना से बचाव के नियमों का पालन नहीं कर रहे हैं। ऐसे लोगों के खिलाफ अब प्रशासन ने कार्रवाई शुरू कर दी है।

लखनपुर में 85 यात्री मिले संक्रमित, 40 मरीजों को वापस भेजा

जम्मू कश्मीर के प्रवेश द्वार लखनपुर में दूसरे राज्यों से प्रदेश में प्रवेश होने वाले यात्रियों की कोरोना जांच जारी है। शुक्रवार को 4,128 यात्रियों की कोरोना जांच की गई। इसमें 85 यात्रियों में कंसंक्रमण की पुष्टि हुई। संक्रमित मरीजों में अन्य राज्यों के शामिल 40 यात्रियों को लखनपुर से लौटा दिया गया। 41 यात्री जम्मू कश्मीर के रहने वाले हैं, उन्हें प्रदेश में प्रवेश की अनुमति देने के साथ ही उन्हें होम आइसोलेशन में भेज दिया गया। वहीं चार यात्री कठुआ जिले के हैं, जिन्हें होम आइसोलेशन में भेजा गया। उधर कठुआ रेलवे स्टेशन पर भी 283 रेल यात्रियों की कोरोना जांच की गई, जिसमें कोई भी यात्री संक्रमित नहीं मिला।

जिले में 231 को लगी सतर्कता डोज

कोरोना के बढ़ते संक्रमण के बीच जिला में स्वास्थ्य विभाग ने भन्न आयु वर्ग के लोगों को वैक्सीन की डोज लगाने के लिए टीकाकरण अभियान जारी रखा है। शुक्रवार को जिले 231 लोगों को सतर्कता डोज लगाई गई। इसमें स्वास्थ्य, फ्रंट लाइन वर्कर्स एवं वरिष्ठ नागरिक शामिल हैं। इसी तरह 15 से 17 साल आयु वर्ग में 280 किशोरों को कोवैक्सीन की पहली डोज लगाई गई। वहीं 1748 को दूसरी डोज लगाई गई और 188 को पहली डोज भी लगाई गई।

जिला अदालत में अब वर्चुअल मोड पर होगी सुनवाई

कोरोना संक्रमण के मामलों में आई तेजी के बाद अब जिला न्यायालय में भी सारा कार्य वर्चअुल मोड़ पर होगा। शुक्रवार को जिला प्रधान एवं सत्र न्यायाधीश जफर हुसैन बेग ने वर्चअुल मोड पर काम शुरू करने का लिखित आदेश जारी कर दिया है। आदेशानुसार

सभी सुनवाई वाले मामले कोर्ट के ई-मेल पत्ते पर उपलब्ध रहेंगे। सुनवाई के लिए वकील व वादियों को कोर्ट की वेबसाइट से नए लिक दिए जाएंगे। वादियों को कोर्ट परिसर में मुख्य गेट से आने की अनुमति नहीं होगी। इसी तरह कर्मियों को भी कोर्ट की इमारत के कक्षों एवं वकीलों के चेंबर्स में जाने की अनुमति नहीं होगी। कहां कितना मिले नए मामले

कठुआ 22

नगरी परोल 13

हीरानगर 7

बिलावर 6

बसोहली 1

बनी 3

अटल सेतु पर 150 यात्रियों की कोरोना जांच, दो संक्रमित

संवाद सहयोगी, बसोहली : तहसील बसोहली में अटल सेतु पर शुक्रवार को 150 यात्रियों की कोरोना संक्रमण की जांच की गई। इनमें से दो यात्रियों में संक्रमण पुष्टि हुई है, उन्हें वापस भेज दिया गया। संक्रमितों में एक बिलावर और दूसरा ऊधमपुर का रहने वाला है। इस संबंध में संबंधित स्वास्थ्य विभाग को सूचित कर दिया गया है।

अटल सेतु पर कोविड सैंपलिग व टेस्टिग काउंटर पर दिन भर यात्रियों की कतार लगी रही। यहां कोरोना जांच में सिर्फ दो ही यात्री संक्रमित पाए गए। वहीं, तीन वरिष्ठ नागरिकों व स्वास्थ्य कर्मियों सहित आठ लोगों को सतर्कता डोज लगाई गई। 45 से 60 आयु के तीन लोगों ने वैकसीन की दूसरी डोज ली, जबकि 18 से 44 आयु वर्ग के 38 लोगों ने दूसरी डोज ली।

बसोहली में अब लोग घर बैठे डाक्टरों का ले सकते हैं परामर्श

संवाद सहयोगी, बसोहली : कोरोना संक्रमण के मामलों में लगातार हो रही बढ़ोतरी को देखते हुए एडीसी बसोहली तिलक राज थापा के निर्देश पर अमल करते हुए बीएमओ बसोहली अनु राधा केरनी ने सीएचसी बसोहली के डाक्टरों के मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं। अब लोग अस्पताल जाने के बजाय घर बैठे डाक्टरों से रोजाना परामर्श ले सकते हैं।

सीएचसी बसोहली में भीड़ न हो और कोरोना को देखते हुए एडीसी बसोहली ने बीएमओ बसोहली को लोगों को घर बैठे डाक्टरों के परामर्श की सुविधा मुहैया करवाने के निर्देश दिए थे। उसके बाद बीएमओ बसोहली ने डा. रजनीश शर्मा 9858676125, डा. मुदित 88250 30328, डा. मेहताब 70065 18662, डा. शुभम 96220 41780 एवं डा. जसमीत 7006752789 का नंबर जारी किया है, ताकि ग्रामीण क्षेत्रा के लोगों को सफर कर बसोहली न अना पड़े और घर बैठे ही उन्हें उपचार की सुविधा मिल सके। बीएमओ बसोहली ने बताया कि यह समय बहुत ज्यादा सावधानी बरतने का है। इसलिए लोगों की सुविधा के लिए डाक्टरों के मोबाइल नंबर जारी किए गए हैं। लोग इन नंबरों पर संपर्क कर रोजाना डाक्टरों से परामर्श लेकर अपने उपचार के बारे में जानकारी ले सकते हैं। बता दें कि कोरोना के बढ़ते प्रसार को लेकर उप जिला प्रशासन की ओर से एहतियातन कदम उठाए जा रहे हैं, ताकि कहीं भी भीड़ न लगे और लोग कोरोना से सुरक्षित रह सकें। शहर के पटेल नगर शिवानगर कंटेनमेंट जोन घोषित

शहर के के पटेल नगर व शिवानगर में 12 संक्रमित मिलने के बाद प्रशासन ने दोनों क्षेत्र को माइक्रो कंटेनमेंट जोन घोषित कर दिया। इन क्षेत्रों में आम लोगों की आवाजाही पर पूरी तरह पाबंदियां लगा दी गई हैं। स्वास्थ्य विभाग को दोनों क्षेत्रों में सभी लोगों की कोरोना जांच करने के विशेष निर्देश दिए गए हैं। इससे पहले हीरानगर के मथुरा चक गांव को भी माइक्रो कंटेनमेंट बनाया गया है। वहीं शहर के वार्ड 4, एक और सात को पहले से ही माइक्रो कंटेनमेंट घोषित किया गया है।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम