बच्चों ने अपने माता-पिता का पूजन कर लिया आशीर्वाद

युवा पीढ़ी को पश्चिमी सभ्यता से बचाने और भारतीय संस्कृति और सभ्यता के साथ जोड़े रखने के लिए विलेज सोशल वेलफेयर एंड डेवलपमेंट कमेटी किशनपुर डुंगाड़ा की ओर से मकर संक्रांति पर मातृ पितृ पूजन दिवस मनाया गया। इसमें बच्चों ने अपने माता-पिता और बड़े बुजुर्गों का पूजन कर उनका आशीर्वाद लिया।

JagranPublish: Sat, 15 Jan 2022 08:14 AM (IST)Updated: Sat, 15 Jan 2022 08:14 AM (IST)
बच्चों ने अपने माता-पिता का पूजन कर लिया आशीर्वाद

संवाद सहयोगी, बिलावर : युवा पीढ़ी को पश्चिमी सभ्यता से बचाने और भारतीय संस्कृति और सभ्यता के साथ जोड़े रखने के लिए विलेज सोशल वेलफेयर एंड डेवलपमेंट कमेटी किशनपुर डुंगाड़ा की ओर से मकर संक्रांति पर मातृ पितृ पूजन दिवस मनाया गया। इसमें बच्चों ने अपने माता-पिता और बड़े बुजुर्गों का पूजन कर उनका आशीर्वाद लिया।

विलेज सोशल वेलफेयर एंड डेवलपमेंट कमेटी किशनपुर की ओर से कमेटी कार्यालय किशनपुर डुंगाड़ा और कठुआ में कमेटी अध्यक्ष एसपी शर्मा की अध्यक्षता में कार्यक्रम हुए। जहां गांव में बच्चों ने अपने बड़े बुजुर्गों और माता पिता की पूजा की और गांव के हर बुजुर्ग से आशीर्वाद लिया। कमेटी के अध्यक्ष एसपी शर्मा ने कहा कि मौजूदा दौर में हमारे बच्चे पश्चिमी सभ्यता से भ्रमित होकर अपनी सभ्यता संस्कृति को भूलते जा रहे हैं, जिन्हें अपनी सभ्यता और संस्कृति के साथ जुड़ने के लिए कमेटी की ओर से हर वर्ष मकर सक्रांति पर मातृ पितृ पूजन दिवस मनाया जाता है। यह भारतीय होने और भारतीय सभ्यता और संस्कृति के साथ बच्चों को जोड़ने का यह सार्थक प्रयास है। वेद विषय में अगम शर्मा ने मारी बाजी

संवाद सहयोगी, बसोहली : चूड़ामणि संस्कृत संस्थान में स्थापना दिवस और वार्षिक उत्सव की पूर्व संध्या पर वेद, व्याकरण, ज्योतिष, दर्शन एवं गीता विषय में प्रतियोगिताएं हुई, जिसमें संस्थान के बटुकों के साथ कस्बे के अन्य विषयों के विद्यार्थियों ने हिस्सा लिया। वेद विषय में अगम शर्मा पहला, मानिक शर्मा दूसरा और अमनकांत ने तीसरा स्थान हासिल किया।

व्याकरण में प्रथम स्थान पर अगम शर्मा, शमी शर्मा ने द्वितीय व मानिक शर्मा ने तृतीय स्थान पाया। दर्शन के सांख्यकारिका में प्रथम स्थान पर मानिक शर्मा, हरीश शर्मा, द्वितीय स्थान पर अगम एवं विनय ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। दर्शन के तर्कसंग्रह नामक ग्रंथ के कंठ पाठ में सुदर्श ठाकुर व मानिक शर्मा ने प्रथम, विनय, अगम, मोहित ने द्वितीय तथा कार्तिक,सुजल एवं विशाल ने तृतीय स्थान प्राप्त किया। वहीं, गीता प्रतियोगिता में कस्बे के प्रतिभागियों ने भी बेहतर प्रदर्शन कर प्रथम स्थान पर चित्रणी राजधान एवं आर्या शर्मा, द्वितीय स्थान पर राधिका, स्तव्य एवं अनामिका, तृतीय स्थान पर नित्या, देवेश्वर, ख्याति ने कब्जा जमाया।

संस्थान के प्राचार्य आचार्य अभिषेक कुमार उपाध्याय ने प्रतियोगिता के बारे में बताया कि आज अपनी बौद्धिक परंपरा की ओर लौटने की आवश्यकता है, क्योंकि हमारे ज्ञान के सभी रत्न इसी में निहित हैं। प्रतियोगिता में आचार्य गुरमीत शास्त्री, आचार्य सौरभ शर्मा, आचार्य सुरेंद्र शास्त्री ने निर्णायक की भूमिका निभाई। आचार्या अंजू बाला, आचार्या डिंपल शर्मा, देवांश पुरोहित उपस्थित रहें।

नरसिंह गौशाला मांडली के स्थापना दिवस पर हवन

संवाद सहयोगी, बिलावर: श्री नरसिंह गौशाला मांडली के 12 वें स्थापना दिवस और मकर संक्रांति पर शुक्रवार को मांडली में विशेष हवन का आयोजन हुआ, जिसमें विद्वानों पंडितों ने हवन करवाया गया। उसके बाद स्थापना दिवस पर आयोजित भंडारे में सैकड़ों गो भक्तों ने प्रसाद ग्रहण किया।

मकर संक्रांति पर श्री नरसिंह गौशाला मांडली में स्थापना दिवस मनाया गया। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रम में सर्वप्रथम दो भक्तों ने हवन किया, उसके बाद विद्वान पंडितों ने हवन की पूर्णाहुति करवाई। उसके बाद भक्तों के लिए भंडरा खोल दिया गया। इस अवसर पर श्री नरसिंह गौशाला के अध्यक्ष व सरपंच मांडली कैप्टन ओमप्रकाश ने कहा कि 12 वर्ष पूर्व गोरक्षा के उद्देश्य से मांडली में गौशाला की स्थापना की गई थी। यहां से 12 वर्ष से गो माता की सेवा निष्काम भाव से की जा रही है। इस दौरान गौ सेवकों को गौशाला प्रबंधक कमेटी की ओर से स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया गया।

मकर संक्रांति पर बिलाव के मंदिरों में उमड़े श्रद्धालु संवाद सहयोगी, बिलावर : मकर संक्रांति पर शुक्रवार को बिलावर के मंदिरों में श्रद्धालुओं का जमावड़ा लगा रहा। लोगों ने मंगलमय भविष्य की कामना को लेकर देवी मंदिरों में माथा टेका। वहीं लोगों ने धार्मिक अनुष्ठान के साथ ही गरीबों में दान पुण्य भी किया। इसके अलावा लोगों ने खिचड़ी का भंडारा लगाया जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने प्रसाद ग्रहण किया। बिलावर के बिल्केश्वर मंदिर, माता सुकराला देवी के दरबार में बड़ी संख्या में श्रद्धालुओं ने हाजिरी लगाकर पूजा अर्चना की। बिल्केश्वर मंदिर बिलावर में सुबह से ही श्रद्धालुओं की लाइन लगनी शुरू हो गई थी। लोगों ने भगवान बिल्केश्वर पर जलाभिषेक किया तो माता सुकराला देवी के चरणों में हाजिरी लगाकर मंगलमय भविष्य की कामना की। लोगों ने महामारी के इस दौर को खत्म करने वह आने वाले समय में सब मंगल हो, इसकी कामना भी माता सुकराला देवी से की। मकर संक्रांति पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं की ओर से बिलावर की शिव बस्ती में खिचड़ी का प्रसाद बांटा गया।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept