Jammu Kashmir: समाज की नि:स्वार्थ भाव से सेवा और चरित्र निर्माण के सिद्धांतों पर चलें युवा : उपराज्यपाल

कन्वेंशन सेंटर में जम्मू-कश्मीर भारत स्काउट और गाइड्स के राज्य पुरस्कार अवार्ड समारोह का आयोजन किया गया। इस दौरान उपराज्यपाल ने युवाओं से पंडित मदन मोहन मालवीय के समाज की निस्वार्थ भाव से सेवा चरित्र निर्माण और आत्मनिर्भरता के सिद्धांतों पर चलने का आह्वान किया।

Lokesh Chandra MishraPublish: Fri, 02 Apr 2021 07:47 PM (IST)Updated: Fri, 02 Apr 2021 07:47 PM (IST)
Jammu Kashmir: समाज की नि:स्वार्थ भाव से सेवा और चरित्र निर्माण के सिद्धांतों पर चलें युवा : उपराज्यपाल

जम्मू, राज्य ब्यूरो : उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने युवाओं से पंडित मदन मोहन मालवीय के समाज की नि:स्वार्थ भाव से सेवा, चरित्र निर्माण और आत्मनिर्भरता के सिद्धांतों पर चलने का आह्वान किया। उन्होंने युवाओं से राष्ट्र निर्माण में अपना योगदान देने को कहा। उपराज्यपाल ने यह बातें कन्वेंशन सेंटर में जम्मू-कश्मीर भारत स्काउट और गाइड्स के राज्य पुरस्कार  वितरण समारोह के दौरान शुक्रवार को कही। उन्होंने कई स्कूलों के विद्यार्थियों को राज्य पुरस्कार से सम्मानित किया। उपराज्यपाल ने कहा कि जम्मू-कश्मीर भारत स्काउट और गाइड्स को आज से हर वर्ष बीस लाख रुपये ग्रांट दी जाएगी। यह पहले दी जा रही ग्रांट से लगभग दोगुना होगी।

उपराज्यपाल ने संबंधित डिप्टी कमिश्नरों को निर्देश दिए कि जम्मू और श्रीनगर में जेएंडके भारत और स्काउट्स के प्रशिक्षण केंद्र स्थापित करने के लिए जगह का चयन करें। एक सेंटर जम्मू और दूसरा श्रीनगर में बनेगा। उन्होंने इस संगठन को बेहतर तरीके से चलाने के लिए शिक्षा विभाग को भी इसकी सहायता करने को कहा। उपराज्यपाल ही जेएंडके स्काउट्स और गाइड्स के चीफ पैट्रन भी हैं। उन्होंने कार्यक्रम में कैडेट, ट्रेनर्स, अधिकारियों और इससंस्था से जुड़े हर किसी की कोविड संक्रमण के दौरान भी पर्यावरण संरक्षण, रक्तदान, आपदा प्रबंधन सहित हर गतिविधि में शामिल होने की सराहना की।

उपराज्यपाल ने कहा कि पंडित मदन मोहन मालवीय एक जाने माने शिक्षाविद होने के साथ-साथ बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के संस्थापक थे। उन्होंने ही वर्ष 1918 में भारत में स्काउट्स और गाइडस का गठन किया था। उस समय उन्होंने प्रयागराज में माघ मेले के दौरान उमड़ी भीड़ के प्रबंधन में अहम भूमिका निभाई थी। सेवा समितियों का भी गठन किया था। इसमें स्वार्थरहित समाज की सेवा करने वाले स्कूली विद्यार्थियों को शामिल किया था। उन्होंने कहा कि हमें पंडित मोहन मालवीय से प्रेरणा लेनी चाहिए। समाज का विकास हर किसी के चरित्र पर निर्भर करता है।

भारत स्काउट्स और गाइड्स को अनेकता में एकता के सिद्धांत पर काम करना है। यही नहीं चरित्र निर्माण, पर्यावरण संरक्षण, वसुधैव कुटुम्बकम पर काम करना है। सभी स्वयं सेवकों को इसी का प्रशिक्षण देने की जरूरत है। इससे इस संस्था को एक अलग पहचान मिलेगी। उन्होंने आत्मनिर्भरता के लिए भी संगठन को सराहा और स्काउटस और गाइडस के मुद्दों पर उपराज्यपाल ने प्रशासन को जेएंडके में स्काउट्स और गाइड्स के लिए हर प्रकार की मदद का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि सभी जायज मुददों का समाधान किया जाएगा।

अमृत महोत्सव को लेकर स्काउट्स एंड गाइड्स को जगरूक किया : इस समय चल रहे आजादी का अमृत महोत्सव का जिक्र करते हुए उपराज्यपाल ने स्काउट्स और गाइड्स को जागरूकता अभियान चलाने को कहा। यही नहीं उन्होंने ब्रिगेडियर राजेंद्र सिंह, मकबूल शेरवानी, गुज्जर समुदाय से संबंध रखने वाली माली की बहादुरी के किस्से सभी को सुनाने को कहा। बाद में उपराज्यपाल ने संगठन को पचास हजार रुपयों का चैक सौंपा। इस मौके पर उपराज्यपाल को स्काउट्स और गाइड्स का बैज भी लगाया गया। संगठन की त्रैमासिक मैगजीन न्यूज रिपोटर का भी उन्होंने विमोचन किया। भारत स्काउटस् और गाइडस की जम्मू कश्मीर और लद्दाख की प्रशासक नसरीन खान ने संगठन के लंबित मुद्दों के समाधान के लिए उपराज्यपाल का आभार जताया। आइडी सोनी ने संगठन की उपलब्धियों पर अपने विचार रखे।

Edited By Lokesh Chandra Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept