सरकार चंद लोगों के लिए नहीं, बल्कि प्रदेश के हर नागरिक के कल्याण के लिए काम कर रही : सिन्हा

उपराज्यपाल ने कहा कि उनका प्रयास है कि सुविधाओं में बढ़ोतरी हो शांति व खुशहाली बहाल हो उद्योग जम्मू कश्मीर में आएं और युवाओं को रोजगार मिले। श्री अमरनाथ यात्रा पर उपराज्यपाल ने कहा कि लोगों में शंका है कि बाबा अमरनाथ यात्रा सुरक्षित नहीं है।

Lokesh Chandra MishraPublish: Mon, 29 Nov 2021 07:49 PM (IST)Updated: Mon, 29 Nov 2021 07:49 PM (IST)
सरकार चंद लोगों के लिए नहीं, बल्कि प्रदेश के हर नागरिक के कल्याण के लिए काम कर रही : सिन्हा

जम्मू, राज्य ब्यूरो : जम्मू के मजीन इलाके में सोमवार को उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने यात्री निवास के निर्माण के लिए आधारशिला रखी। इसके लिए हुए भूमि पूजन में वह खुद बैठे। उन्होंने जम्मू में एसडीआरएफ के कार्यालय के निर्माण के लिए भी नींव रखी। यात्री निवास निर्माण के लिए हुए भूमि पूजन के बाद उपराज्यपाल ने पत्रकारों से रूबरू हुए। इस दौरान उन्होंने स्पष्ट कहा कि प्रदेश प्रशासन जम्मू कश्मीर के सभी लोगों के कल्याण के लिए काम कर रहा है, चुनिंदा लोगों के लिए नहीं।

उपराज्यपाल ने कहा कि उनका प्रयास है कि सुविधाओं में बढ़ोतरी हो, शांति व खुशहाली बहाल हो, उद्योग जम्मू कश्मीर में आएं और युवाओं को रोजगार मिले। श्री अमरनाथ यात्रा पर उपराज्यपाल ने कहा कि लोगों में शंका है कि बाबा अमरनाथ यात्रा सुरक्षित नहीं है। हम सबको मिल कर यह सुनिश्चित बनाना है कि देश की अन्य यात्राओं की तरह बाबा अमरनाथ यात्रा भी पूरी तरह से सुरक्षित है। इस दिशा में काम किया जा रहा है। यात्री निवास के लिए दिल्ली स्कूल आफ आर्केटेक्चर दो महीने में डिजाइन बनाकर दे देगा और जल्द निर्माण शुरू हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि एक साल में प्रोजेक्ट बनकर तैयार हो जाएगा। यात्रा के लिए रोपवे की संभावनाएं भी तलाशी जा रही है। जैसे ही इस संबंध में रिपोर्ट आएगी तो इस दिशा में आगे बढ़ेंगे। जिंदल फाउंडेशन ने रियासी जिले में शिव खोड़ी में भी बेहतर सुविधाएं उपलब्ध करवाने के लिए सर्वे किया है। इस पर अगले महीने कार्य शुरू हो जाएगा। सरकार माता वैष्णो देवी, शिव खोड़ी, पुरमंडल, मानसर व सुरईंसर पर्यटन सर्किट विकसित होगा। 370 हटने के बाद सुरक्षा हालात और खराब होने के उमर अब्दुल्ला के बयान पर उपराज्यपाल ने कोई प्रतिक्रिया देने से साफ इनकार कर दिया। दरअसल, उमर ने कहा कि नुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद सुरक्षा हालात खराब हुए हैं। आतंकी बाहर से नहीं आ रहे हैं, बल्कि स्थानीय युवा ही बंदूक उठा रहे हैं।

Edited By Lokesh Chandra Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept