उपराज्यपाल मनोज सिन्हा बोले- आज जम्मू-कश्मीर आर्थिक विकास की नई दहलीज पर खड़ा है

उपराज्यपाल ने कहा कि कश्मीरी विस्थापित पोर्टल के जरिए 7312 आवेदन हासिल हुए है जिनमें से अधिक का निवारण कर दिया गया है। शेष का निवारण करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। जम्मू कश्मीर में खेलों का बेहतर बुनियादी ढांचा विकसित किया जा रहा है।

Rahul SharmaPublish: Wed, 26 Jan 2022 11:44 AM (IST)Updated: Wed, 26 Jan 2022 01:31 PM (IST)
उपराज्यपाल मनोज सिन्हा बोले- आज जम्मू-कश्मीर आर्थिक विकास की नई दहलीज पर खड़ा है

जम्मू, राज्य ब्यूरो : कड़े सुरक्षा प्रबंधों के बीच केंद्र शासित प्रदेश जम्मू कश्मीर में गणतंत्र दिवस उत्साह, जोश, हर्षोल्लास से मनाया जा रहा है। जम्मू कश्मीर का मुख्य समाराेह मौलाना आजाद स्टेडियम जम्मू में आयोजित किया गया। उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने तिरंगा फहराया और परेड की सलामी ली।

श्रीनगर में उपराज्यपाल के सलाहकार राजीव राय भटनागर ने तिरंगा फहराया। निर्धारित आदेश के तहत जिला मुख्यालयों में जिला विकास परिषदों के चेयरपर्सन ने तिरंगे फहराए। मौलाना आजाद स्टेडियम जम्मू में उपराज्यपाल ने संबोधित करते जम्मू कश्मीर के नागरिकों को हार्दिक बधाई दी। उन्होंने जम्मू कश्मीर की विकास की तेज गति, रोजगार के अवसरों का उल्लेख करने के साथ आतंकवाद से लोहा ले रहे सुरक्षा बलों को सराहा। उन्होंने कहा कि मैं स्वतंत्रता सेनानियों को नमन करता हूँ, जिन्होंने राष्ट्र के महायज्ञ में अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया। आज का यह दिन हम उनकी पवित्र स्मृति में समर्पित करते हैं।

आज मैं जम्मू कश्मीर पुलिस, सेना तथा केन्द्रीय सुरक्षा बलों के बहादुर जवानों, अफसरों के प्रति श्रद्धांजलि अर्पित करता हूँ, जिन्होंने मातृभूमि की एकता, अखंडता की रक्षा में अपने जीवन का सर्वोच्च बलिदान दे दिया। उनके अद्भुत पराक्रम, शौर्य तथा बलिदान को नमन करते हुए आज हम पड़ोसी मुल्क द्वारा चलाए जा रहे आतंकवाद को जड़ से उखाड़ फेंकने के संकल्प को दोहराते हैं।

उपराज्यपाल ने कहा कि कश्मीरी विस्थापित पोर्टल के जरिए 7312 आवेदन हासिल हुए है जिनमें से अधिक का निवारण कर दिया गया है। शेष का निवारण करने के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। जम्मू कश्मीर में खेलों का बेहतर बुनियादी ढांचा विकसित किया जा रहा है। प्रधानमंत्री हमें विशेष सहयोग कर रहे हैं। उन्होंने जम्मू कश्मीर में विकास, निवेश का जिक्र किया। आज हम आर्थिक विकास की नई दहलीज पर खड़े हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तथा गृह मंत्री अमित शाह जी के मार्गदर्शन में नई इंडस्ट्रियल पॉलिसी के लागू होने के पश्चात जम्मू कश्मीर को अभी तक 48,000 करोड़ रुपये के निवेश प्रस्ताव मिल चुके हैं। इसके अलावा लैंड यूज पॉलिसी में परिवर्तन के पश्चात इंडस्ट्री के लोग अपने स्तर पर भी जमीन देखकर कारोबार शुरू कर रहे हैं। इसलिए यह आंकड़ा 50,000 करोड़ रुपये के ऊपर जाएगा।

एक खास वर्ग अक्सर भुगौलिक परिवर्तन की बेबुनियाद अफवाहें फैलाकर लोगों की भावनाओं को भड़काने का प्रयास करता रहता है। मैं इस अवसर पर आप सभी को आश्वस्त करना चाहता हूँ कि अन्य पहाड़ी राज्यों की तरह जम्मू कश्मीर में भी भूमि संरक्षण की व्यवस्था की गई है और तरक्की के नए रास्ते भी खोजे जा रहें हैं।

स्टेडियम में सेना, पुलिस, अर्द्ध सैनिक बलों की टुकड़ियों, एनसीसी कैडट ने भाग लिया। स्कूली बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम प्रस्तुत किए। स्टेडियम के आसपास के इलाकों में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए हैं। उपराज्यपाल केसरी रंग की पगड़ी पहन कर समारोह में पहुंचे। 

Edited By Rahul Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept