जम्मू : गणतंत्र दिवस के मद्देनजर होटलों पर पैनी नजर, हिस्ट्रीशिटरों को भी थानों में हाजिरी लगाने को कहा

पुलिस मुख्यालय जम्मू और सिक्योरिटी शाखा की ओर से भी गणतंत्र दिवस को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है। जम्मू पुलिस ने शहर के विभिन्न होटल व धर्मशालाओं में ठहरे लोगों की जानकारी हासिल करने के लिए विशेष टीम का गठन किया है।

Rahul SharmaPublish: Wed, 19 Jan 2022 01:59 PM (IST)Updated: Wed, 19 Jan 2022 01:59 PM (IST)
जम्मू : गणतंत्र दिवस के मद्देनजर होटलों पर पैनी नजर, हिस्ट्रीशिटरों को भी थानों में हाजिरी लगाने को कहा

जम्मू, जागरण संवाददाता : गणतंत्र दिवस समारोह शांतिपूर्वक मनाने के लिए जम्मू पुलिस ने हाई अलर्ट जारी कर दिया है। पुलिस ने जगह-जगह नाके कड़े कर दिए हैं। लोगों से नाकों पर सहयोग करने की अपील की है। खुफिया एजेंसियों को गणतंत्र दिवस पर राज्य में आतंकी वारदात की सूचना मिली है।

पुलिस मुख्यालय जम्मू और सिक्योरिटी शाखा की ओर से भी गणतंत्र दिवस को लेकर एडवाइजरी जारी की गई है। जम्मू पुलिस ने शहर के विभिन्न होटल व धर्मशालाओं में ठहरे लोगों की जानकारी हासिल करने के लिए विशेष टीम का गठन किया है। इस टीम में शामिल सदस्य थाना स्तर पर तैनात किए गए है।दिन में दो बार सुबह और शाम टीम के सदस्य होटलों में ठहरे लोगों की जानकारी एकत्रित करेंगे।

दरअसल पुलिस यह सुनिश्चित कर रही है कि कोई भी संदिग्ध व्यक्ति चोरी छुपे होटल में शरण ले पाए। होटलों में कमरा किराये पर लेने वालों से उनके जम्मू दौरे के कारणों के बारे में पूछा जा रही है। शहर के व्यस्त चौक चौराहों में पुलिस की मौजूदगी को बढ़ाने के लिए जिला पुलिस लाइन से अतिरिक्त जवानों की तैनाती की जा रही है। जवानों को लगातार बाजारों में गश्त कर संदिग्ध लोगों की गतिविधियों नर नजर रखने को कहा जा रहा है।

हिस्ट्रीशिटरों को थाने में हाजिरी लगाने को कहा जा रहा : अकसर यह देखा जाता है कि आतंकी या शरारती तत्व किसी वारदात को अंजाम देने के लिए अकसर हिस्ट्रीशिटरों का सहारा लेती है। हिस्ट्रीशिटर वह लोग होते है, जिनका थानों में जघन्य अपराध में शामिल होने का रिकार्ड थानों में होता है। गणतंत्र दिवस जैसे संवेदनशील समारोह में भी वारदात को अंजाम देने के लिए हिस्ट्रीशिटरों का प्रयोग हो सकते है। इस आशंका को देखते हुए हिस्ट्रीशिटरों में उनके संबंधित पुलिस थाने में हाजिरी लगाने को कहा गया है ताकि उनकी गतिविधियों पर नजर रखी जा सके।  

Edited By Rahul Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept