श्रीराधा कृष्ण मंदिर के स्थापना दिवस पर पूरोबाना में हवन और प्रवचन

संत राकेश जी ने कहा कि लोगों को प्रभु से जुड़ने के लिए अपनी दिनचर्या में से कुछ समय भगवान को याद करने के लिए भी निकालना चाहिए। आज केस मायावी और लालची समाज में लोग अपने आप के बारे में ही सोच रहे हैं

Lokesh Chandra MishraPublish: Sun, 16 Jan 2022 04:43 PM (IST)Updated: Sun, 16 Jan 2022 04:43 PM (IST)
श्रीराधा कृष्ण मंदिर के स्थापना दिवस पर पूरोबाना में हवन और प्रवचन

आरएसपुरा, संवाद सहयोगी : आरएसपुरा के गांव पूरोबाना स्थित श्रीराधा कृष्ण मंदिर में मूर्ति स्थापना दिवस श्रद्धापूर्वक मनाया गया। मंदिर में दो दिन से मंत्रोच्चारण के साथ हवन यज्ञ में पूर्णाहुति डाली गई। संत राकेश जी अपने प्रवचनों से इस दौरान लोगों को मंत्रमुग्ध किया। उन्होंने कहा कि लोगों को प्रभु से जुड़ने के लिए अपनी दिनचर्या में से कुछ समय भगवान को याद करने के लिए भी निकालना चाहिए। आज केस मायावी और लालची समाज में लोग अपने आप के बारे में ही सोच रहे हैं, जबकि आज हमें दूसरों के लिए भी सोचना चाहिए।

इस मौके पर पूर्व मंत्री चौधरी श्याम लाल तथा डीडीसी सदस्य प्रोफेसर गारू राम भगत मुख्य तौर पर मौजूद थे। उन्होंने मंदिर में माथा टेका और आशीर्वाद प्राप्त किया। सरपंच दर्शन लाल चौधरी ने बताया कि मंदिर में मूर्ति स्थापना की गई है, जिसमें सैकड़ों की संख्या में लोगों ने पहुंचकर आशीर्वाद प्राप्त किया। पूर्व मंत्री चौधरी श्यामलाल ने भी क्षेत्रवासियों को मूर्ति स्थापना दिवस की मुबारकबाद दी और कहा कि क्षेत्र में स्थित धार्मिक स्थलों के कारण ही हमारे क्षेत्र में सुख समृद्धि है। आपसी भाईचारा बनाए रखने के लिए कहा। दोपहर में भंडारा लगाया गया, जिसमें पहुंचे भक्तजनों ने प्रसाद ग्रहण किया।

बढ़ते कोरोना संक्रमण को देखते हुए इस बार राधा कृष्ण मंदिर के स्थापना दिवस पर सावधानी पूर्वक कार्यक्रम किए गए। लोगों को संक्रमण से बचाव के लिए जागरूक रहने को भी कहा गया। लेकिन आयोजन के दौरान मेें लाेगों मेें श्रद्धा और उत्साह मेें कोई कमी नहीं दिखी। लोगों ने बढ़चढ़ कर हवन में शामिल होकर आहुतियां डालीं।

Edited By Lokesh Chandra Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept