लद्दाख में 11 हजार फीट पर दिखेगा फुटबाल का जोश, देश का सबसे ऊंचा स्टेडियम बनकर तैयार

लेह के साथ सटे स्पुतनिक में तैयार हो चुका फुटबाल स्टेडियम खिलाड़ियों और दर्शकों का स्वागत करने के लिए तैयार हो चुका है। खेलो इंडिया स्पोर्ट्स इन्फ्रास्ट्रक्चर के तहत निर्मित यह स्टेडियम समुद्रतल से सबसे ऊंचाई वाले इलाकों में स्थित स्टेडियमों में एक है।

Lokesh Chandra MishraPublish: Sun, 16 Jan 2022 08:29 PM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 08:15 AM (IST)
लद्दाख में 11 हजार फीट पर दिखेगा फुटबाल का जोश, देश का सबसे ऊंचा स्टेडियम बनकर तैयार

जिग्मेत जंस्पल, लेह :  समुद्रतल से करीब 11 हजार फुट की ऊंचाई पर चारों तरफ पहाड़ और उनके बीच फुटबाल खेलने का रोमांच क्या होगा, इसका सहज ही अंदाजा लगाया जा सकता है। अगर इस रोमांच को महसूस करना है तो फिर केंद्र शासित प्रदेश लद्दाख में आ जाइए। लेह के साथ सटे स्पुतनिक में तैयार हो चुका फुटबाल स्टेडियम खिलाड़ियों और दर्शकों का स्वागत करने के लिए तैयार हो चुका है।

चांद की दुनिया के नाम से मशहूर लद्दाख में आधारभूत ढांचे का विकास रफ्तार भर रहा है। इसी रफ्तार के बीच स्पितुक में देश का सबसे ऊंचा खेल स्टेडियम बनकर तैयार हो चुका है और जल्द यहां खेल गतिविधियां आरंभ हो जाएंगी। इसके साथ ही यहां एक हजार बेड का युवा हास्टल भी बन रहा है। उसके बाद यह देश का सबसे आकर्षक फुटबाल प्रशिक्षण केंद्र और खेल आयोजन केंद्र बन जाएगा।

सरकार ने खेलो इंडिया कार्यक्रम के तहत लोगों के लिए विभिन्न खेल सुविधाएं विकसित करने के लिए यह पहल की है जिसके तहते इस सुदूर इलाके में ये स्टेडियम बनकर तैयार हुआ है। संबंधित अधिकारियों ने बताया कि स्टेडियम में दर्शक दीर्घा पहले ही तैयार हो चुकी है। इसमें करीब 2500 दर्शकों के बैठने की सुविधा है। एस्ट्रोटर्फ वाला यह केंद्र शासित लद्दाख प्रदेश में अपनी तरह का पहला स्टेडियम हैं।

कोरोना की चुनौतियों के बावजूद यह प्रोजेक्ट तय समय में पूरा कर लिया गया। खूबसूरत वादियों के बीच बने स्टेडियम को जल्द ही खिलाडिय़ों के लिए खोल दिया जाएगा। यह लद्दाख के लोगों और पेशेवर फुटबाल खिलाड़ी बनने की ख्वाहिश रखने वाले बच्चों के लिए स्टेडियम किसी सपने से कम नहीं है। इस खूबसूरत मैदान पर फुटबाल मैचों की मेजबानी शुरू होने के बाद लद्दाख के विकास की उड़ान को और पंख लग जाएंगे। केंद्रीय खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने स्वयं इसकी तस्वीर साझा की।

सितंबर 2020 में किया था रिजिजू ने शिलान्यास

इस स्टेडियम का निर्माण खेला इंडिया के तहत आधारभूत ढांचे के विकास की नीति के तहत किया गया था। करीब डेढ़ वर्ष पूर्व सितंबर 2020 में तत्कालीन खेल राज्यमंत्री किरन रिजिजू ने साढ़े बारह करोड़ से लेह में जिम्नाजियम हाल, फुटबाल स्टेडियम के लिए एस्ट्रोटर्फ और एथलेटिक्स ट्रैक का शिलान्यास किया था। बीच में कोरोना की लहर चुनौती बढ़ाती रही। रिजिजू के अनुसार प्रधानमंत्री के स्पष्ट आदेश थे कि लद्दाख में विकास की रफ्तार थमनी नहीं चाहिए। उन्होंने खुशी जताई कि यह निर्माण दो वर्ष से पहले पूरा कर लिया गया है।

2012-13 से थी मांग

लेह के युवा एवं खेल अधिकारी शेङ्क्षरग ताशी ने बताया कि इसकी मांग 2012-13 से थी लेकिन फंड नहीं मिल पाया। 2019 में एक खेल प्रतिस्पर्धा में किरण रिजिजू भी पहुंचे थे। उस समय प्रशासन ने स्टेडियम में फुटबाल एस्ट्रोटर्फ मैदान और सिंथेटिक ट्रैक की मांग उठाई थी। खेल मंत्री ने इसके बाद इस प्रोजेक्ट को मंजूरी दिलवाई। इसके साथ एक हजार बिस्तर वाले यूथ हास्टल का निर्माण चल रहा है। उसका निर्माण पूरा होते ही यहां बड़े आयोजन हो सकेंगे।

यह साबित करता है कि खेल इंडिया फंड के तहत देश में कैसे खेलों का बुनियादी ढांचा मजबूत हो रहा है। देश में दूरदराज के क्षेत्रों में स्टेडियम बनकर तैयार हो रहे हैं। लेह के स्पितुक में बना यह स्टेडियम वास्तव में आकर्षक है।

अनुराग ठाकुर, केंद्रीय खेल मंत्री

Edited By Lokesh Chandra Mishra

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept