जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर करीब 15 दिनों बाद दोनों ओर से वाहनों की आवाजाही बहाल

ट्रैफिक विभाग के अधिकारी ने बताया कि मौसम साफ है और बनिहाल-रामबन के बीच भूस्खलन के कारण गिरा मलवा भी अब पूरी तरह से हटा दिया गया है। हाईवे पूरी तरह से साफ होने की वजह से अब दोनों ओर के वाहन बिना परेशानी गुजर सकते हैं।

Rahul SharmaPublish: Thu, 27 Jan 2022 10:40 AM (IST)Updated: Thu, 27 Jan 2022 10:40 AM (IST)
जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर करीब 15 दिनों बाद दोनों ओर से वाहनों की आवाजाही बहाल

जम्मू, जेएनएन : जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर करीब 15 दिनों के बाद दोनों ओर से वाहनों की आवाजाही बहाल कर दी गई है। आज वीरवार को दोनों ओर से छोटे-बड़े वाहनों को बिना रोक-टोक छोड़ा जा रहा है। दो तरफा वाहनों की आवाजाही शुरू होने से कई-कई दिनों से हाईवे पर फंसे वाहन चालकों ने राहत की सांस ली है। हाईवे पर लगी ट्रकों की लंबी कतारें भी अब नहीं दिख रही हैं। वहीं ट्रैफिक विभाग मौसम पर पूरी तरह रखे हुए है।

ट्रैफिक विभाग के अधिकारी ने बताया कि मौसम साफ है और बनिहाल-रामबन के बीच भूस्खलन के कारण गिरा मलवा भी अब पूरी तरह से हटा दिया गया है। हाईवे पूरी तरह से साफ होने की वजह से अब दोनों ओर के वाहन बिना परेशानी गुजर सकते हैं। यही वजह है कि आज वीरवार सुबह दोनों ओर के वाहनों को छोड़ दिया गया। हालांकि ट्रैफिक विभाग के कर्मचारी अभी भी हाईवे पर निरंतर नजर रखें हुए है। यदि मौसम में बदलाव होता है तो जरूरत अनुसार नए दिशा-निर्देश जारी किए जाएंगे। फिलहाल सुबह से हाईवे पर सुचारू रूप से वाहनों की आवाजाही जारी है।

हाईवे पर फंसे वाहन लगभग निकाल दिए गए हैं। आज सुबह सबसे पहले छोटे वाहनों को 12 बजे तक निकले की इजाजत दी गई है। जो ट्रक नगरोटा, जखैनी आदि इलाकों में रोके गए हैं, उन्हें 9 बजे के करीब आगे छोड़ा गया। फिलहाल किसी तरह की परेशानी सामने नहीं आई है। उन्होंने कहा कि ट्रैफिक कंट्रोल यूनिट श्रीनगर व ट्रैफिक कंट्रोल यूनिट रामबन लगातार आपस में संपर्क बनाए हुए हैं। किसी तरह की भी परेशानी आने पर वाहनों की आवाजाही को रोक दिया जाएगा।

इसी बीच पीर की गली में अभी भी बर्फ जमा होने की वजह से शोपियां को जिला पुंछ से जोड़ने वाला मुगल रोड वाहनों की आवाजाही के लिए बंद रखा गया है। इसके अलावा श्रीनगर-सोनमर्ग-जोजिला मार्ग भी बर्फ जमा होने की वजह से बंद हैं।  

Edited By Rahul Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept