जनकौर की 22 हेक्टेयर भूमि को मिला पानी

प्रदेश सरकार किसानों को प्रदान की जाने वाली सुविधाओं को निरंतर मजबूत किया जा रहा है

JagranPublish: Tue, 25 Jan 2022 04:56 PM (IST)Updated: Tue, 25 Jan 2022 04:56 PM (IST)
जनकौर की 22 हेक्टेयर भूमि को मिला पानी

संवाद सहयोगी, ऊना : प्रदेश सरकार किसानों को प्रदान की जाने वाली सुविधाओं को निरंतर मजबूत कर रही है। सरकार ने कृषकों की आय को दोगुना करने की दिशा में अनेक कदम उठाए हैं। हर खेत को पर्याप्त जल मिले और किसानों को अपनी फसलों की अच्छी उपज प्राप्त हो, इसके लिए अधिक से अधिक सिचाई योजनाओं का निर्माण किया जा रहा है। यह बात छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने मंगलवार को जनकौर में 60 लाख रुपये से बनी उठाऊ सिचाई योजना का शुभारंभ करते हुए कही। उन्होंने कहा कि हिमाचल देश का पहला राज्य बन गया है, जहां जलजीवन मिशन के तहत हर घर को नल से जल की आपूर्ति की जा रही है।

उन्होंने कहा कि 60 लाख से निर्मित इस योजना के क्रियाशील होने से क्षेत्र में लगभग 22 हेक्टेयर भूमि को सिचाई योग्य जल की आपूर्ति होगी। उन्होंने कहा कि गांव के लिए डिस्पेंसरी के निर्माण के लिए 42 लाख रुपये का आकलन तैयार कर लिया है। इससे संबंधित अन्य औपचारिकताएं पूरे कर शीघ्र निर्माण कार्य आरंभ किया जाएगा। छह माह के भीतर जनकौर की जनता को एक करोड़ लागत की पेयजल योजना समर्पित की जाएगी।

उन्होंने कहा कि गरीब और जरुरतमंदों को धन के अभाव में ईलाज न करवा सकने की चिता से मुक्त करने की दिशा में आयुष्मान भारत और हिमकेयर योजना प्रदेशवासियों के लिए वरदान सिद्ध हुई है। इसके तहत बीमारी की स्थिति में अस्पताल में भर्ती होने पर पांच लाख रुपये तक के निश्शुल्क ईलाज की सुविधा का प्रविधान है। उन्होंने आह्वान किया कि पात्र व्यक्ति इन योजनाओं के तहत अपना पंजीकरण करवाकर कार्ड अवश्य बनवा लें। इस अवसर पर जनकौर के प्रधान जगदेव सिंह, जलशक्ति विभाग के एक्सईएन नरेश धीमान व एसडीओ होशियार सिंह, सहित अन्य उपस्थित रहे।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept