विनोद बने अस्पताल फार्मासिस्ट संघ के प्रदेश अध्यक्ष, इन मांगों पर की वर्चुअली चर्चा

Hospital Pharmasist Association विनोद भारद्वाज को अस्पताल फार्मासिस्ट संघ का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। यह नियुक्ति संघ की वर्चुअल बैठक में की गई है। विनोद पहले कार्यवाहक अध्यक्ष थे। निवर्तमान अध्यक्ष अनिल सोनी की सेवानिवृत्ति के बाद विनोद को इस पद का कार्यभार सौंपा गया है।

Rajesh Kumar SharmaPublish: Thu, 20 Jan 2022 11:20 AM (IST)Updated: Thu, 20 Jan 2022 11:42 AM (IST)
विनोद बने अस्पताल फार्मासिस्ट संघ के प्रदेश अध्यक्ष, इन मांगों पर की वर्चुअली चर्चा

टांडा, जागरण संवाददाता। Hospital Pharmasist Association, विनोद भारद्वाज को अस्पताल फार्मासिस्ट संघ का प्रदेश अध्यक्ष बनाया गया है। यह नियुक्ति संघ की वर्चुअल बैठक में की गई है। विनोद पहले कार्यवाहक अध्यक्ष थे। निवर्तमान अध्यक्ष अनिल सोनी की सेवानिवृत्ति के बाद विनोद को इस पद का कार्यभार सौंपा गया है। नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष विनोद भारद्वाज की अध्यक्षता में हुई बैठक में फार्मासिस्टों के अनेक मुद्दों पर चर्चा हुई। बैठक में नवनियुक्त फार्मासिस्टों के वेतन में पिछले वेतनमान के अनुसार 15 प्रतिशत लाभ प्रदान किए जाने की सिफारिश की। फार्मासिस्टों पर एकीकृत रोग निगरानी कार्यक्रम (आइडीएसपी) जो अब एकीकृत स्वास्थ्य सूचना प्लेटफार्म (आइएचआइपी) के तहत विशेष रोगों के बारे में आनलाइन दैनिक जानकारी उपलब्ध करवाने का अतिरिक्त कार्यभार सौंपे जाने पर भी चर्चा हुई।

इसके अतिरिक्त आरकेएस (रोगी कल्याण समिति) जो अब वर्तमान में जेएएस (जन आरोग्य समिति) तथा एनएचएम (राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन) के तहत केंद्र सरकार द्वारा संचालित कार्यक्रम है। इसके लिए केंद्र सरकार द्वारा अलग से वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। हालांकि प्रदेश सरकार ये भलीभांति जानती है कि इन कार्यक्रमों के तहत फार्मासिस्ट वर्ग पर अतिरिक्त जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहा है, परंतु इसकी एवज में इस वर्ग को विशेष वित्तीय सहयोग से वंचित रखा गया है। इसके विपरीत स्वास्थ्य विभाग में कार्य कर रहे अन्य वर्गों (नियमित एवं अनियमित) को उसी कार्य के एवज में सरकार की ओर से स्पेशल पे एफआरएंडएसआर रूल-9-25(ए-बी) के तहत लाभ दिए जा रहे हैं।

संघ के महासचिव हेम सिंह गुलेरिया ने प्रदेश सरकार द्वारा घोषित नए वेतनमान का स्वागत किया। उन्होंने नए वेतनमान की अधिसूचना के अंतर्गत वेतन निर्धारण की खामियों को उठाया। उन्होंने कहा कि अन्य स्वास्थ्य कर्मचारियों की तरह फार्मासिस्टों ने भी कोविड-19 महामारी में विभिन्न कार्यों को बखूबी निभाया है और निभा रहे हैं। प्रदेश सरकार से अनुरोध किया कि नए वेतनमान की विसंगतियों को दूर करने के साथ साथ फार्मासिस्टों को अन्य वर्गों की भांति विभिन्न कार्यकर्मों के तहत उचित वित्तीय लाभ दिए जाएं। बैठक में सभी फार्मासिस्टों ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व स्वास्थ्य मंत्री श्री राजीव सैजल से फार्मासिस्टों से जुड़े उक्त मुद्दों पर ध्यान देने की मांग की।

Edited By Rajesh Kumar Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept