देश के लिए दो युद्ध लड़े पर अब बुढ़ापे में सड़क के लिए ठोकरें खा रहे दो पूर्व सैनिक भाई, धर्मशाला में सीएम से मिले

Dharamshala News बड़ोल के दो पूर्व सैनिकों ने रास्ते के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा है। इन्‍होंने सीएम से आग्रह किया है कि रास्ता जल्द से जल्द बनाया जाए। उन्होंने कहा कि अभी कूहल की पगडंडी से घर जाते हैं।

Rajesh Kumar SharmaPublish: Mon, 13 Dec 2021 01:37 PM (IST)Updated: Mon, 13 Dec 2021 01:37 PM (IST)
देश के लिए दो युद्ध लड़े पर अब बुढ़ापे में सड़क के लिए ठोकरें खा रहे दो पूर्व सैनिक भाई, धर्मशाला में सीएम से मिले

धर्मशाला, जागरण संवाददाता। Dharamshala News, बड़ोल के दो पूर्व सैनिकों ने रास्ते के निर्माण के लिए मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा है। इन्‍होंने सीएम से आग्रह किया है कि रास्ता जल्द से जल्द बनाया जाए। उन्होंने कहा कि अभी कूहल की पगडंडी से घर जाते हैं। सेना में रहते हुए दो युद्ध लड़े पर यहां सिविल में कोई कद्र नहीं है। किशन चंद व सूरमा राम पुत्र स्व मलू राम निवासी महाल उपरली बड़ोल के स्थायी निवासी है। दोनों भाई भारतीय सेना से सेवानिवृत्त हैं। दोनों ने ही भारत पाक 1965 व 1971 में चीन के साथ लड़ाई लड़ी है। 1965 में जब पाकिस्तान की वायुसेना ने धर्मशाला पर हमला करते हुए जो बम फेंका था वो भी उनके घर बड़ोल में आकर गिरा था जिसमें घर तबाह हो गया था तथा पिता की मृत्यु हो गई थी। उस समय किशन चंद सियालकोट सेक्टर में बार्डर पर लड़ाई लड़ रहे थे।

उन्होंने बताया दोनों भाई अब बूढ़े हो गए हैं। हमारे व अन्य स्थानीय निवासियों के लिए न तो सीवरेज और न ही योग्य रास्ता है। अगर परिवार के सदस्य बीमार हो जाएं तो उन्हें कंथों पर उठा के ले जाना पड़ता है। वर्तमान में राजस्व विभाग की कूहल के साथ बनी पगडंडी का चलने के लिए प्रयोग करते हैं। लेकिन रास्ते में अंधेरे के कारण बच्चों व बुजुर्गों का कूहल में गिरने का भय बना रहता है। कई बार स्थानीय लोग इस कूहल में गिरते रहे हैं। दिन के समय रोजाना बड़ोल के अधिकतर निवासी इस छोटे रास्ते का प्रयोग करते हैं। इस समस्या के संबंध में कई सालों से सभी दलों के नेता स्थानीय निकाय के चुने हुए प्रतिनिधियों को बताते आए हैं पर समस्या का समाधान नहीं हो सका है।

कूहल की निशानदेही करवाने का आग्रह

कूहल की राजस्व विभाग से निशानदेही करवाने की कृपा करें तथा निशानदेही के बाद उक्त कूहल पर जाला डालकर रास्ते का निर्माण करवाया जाए। यह रास्ता मुख्य सड़क से राजेश मल्होत्रा की जमीन से लेकर शिवचरण की जमीन तक बनाया जाए। उन्‍होंने सीएम से पुन आग्रह किया कि इस रास्ते के निर्माण के साथ-साथ सीवरेज, पानी व स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था भी करवाएं। स्थानीय निवासी कूहल के दोनों तरफ रास्ते का निर्माण व अन्य सुविधाओं के लिए अपनी मलकीयत भूमि भी देने के लिए तैयार हैं। यह विभागों को इस संबंध में किसी प्रकार की एनओसी की आवश्यकता है तो वह भी देने को तैयार हैं।

यह शामिल हुए प्रतिनिधिमंडल में

मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से मिले प्रतिनिधिमंडल में किशन चंद, सूरमा राम, उत्तम चंद, एलडी चौधरी, संजीव कुमार, ममता शर्मा, अनिल कुमार, प्रदीप कुमार, जगदीश कुमार, ओंकार सिंह, एमआर नंनदू, शिव चरण, हंसराज आदि शामिल हुए।

Edited By Rajesh Kumar Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept