हिमाचल के स्कूल व कालेज में कोविड की रैंडम सैंपलिंग के लिए टीमें तैयार, संक्रमण की दर का लगेगा पता

Covid Random Sampling जिला शिमला के स्कूलों व कालेजों में कोरोना की रैंडम सैंपलिंग की तैयारी की जा रही है। छात्रों में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी की है। इसके तहत स्कूलों और कालेजों में पढ़ रहे छात्रों के एहतियात के तौर पर टेस्ट होंगे।

Rajesh Kumar SharmaPublish: Tue, 09 Nov 2021 06:45 AM (IST)Updated: Tue, 09 Nov 2021 07:40 AM (IST)
हिमाचल के स्कूल व कालेज में कोविड की रैंडम सैंपलिंग के लिए टीमें तैयार, संक्रमण की दर का लगेगा पता

शिमला, जागरण संवाददाता। जिला शिमला के स्कूलों व कालेजों में कोरोना की रैंडम सैंपलिंग की तैयारी की जा रही है। छात्रों में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए स्वास्थ्य विभाग ने तैयारी की है। इसके तहत स्कूलों और कालेजों में पढ़ रहे छात्रों के एहतियात के तौर पर टेस्ट होंगे। इस मुहिम को पूरा करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से जगह-जगह टेस्टिंग के लिए टीमें तैयार की हैं जोकि शहरी ईलाको के साथ ग्रामीण इलाकों के कॉलेजों व स्कूलों में बच्चों के रैंडम सैंपल लेंगे। टेस्टिंग वैन के माध्यम से छात्रों के टेस्ट लिए जाएंगे। कोरोना वैक्सीनेशन के चलते 18 साल से अधिक वर्ग के लोगों में संक्रमण कम देखा जा रहा है। वहीं 18 साल से कम बच्चों को वैक्सीन नहीं लगी है और इन दिनों बच्चे संक्रमण की चपेट में आ रहे हैं।

शिमला जिले में अभी तक करीब 22 बच्चे संक्रमित पाए गए हैं। कोरोना वायरस के कारण लंबे समय से स्कूल व कालेज बंद थे। संक्रमण की दर में कमी आने के बाद सरकार की ओर से विशेष दिशानिर्देश के बीच स्कूल व कालेज खोले गए हैं। बच्चों के घर से बाहर निकलने से संक्रमण उन्हें चपेट में ले रहा है। बच्चों में संक्रमण की दर का पता करने के लिए स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है। अस्पतालों में बच्चों के लिए बेड से लेकर वेंटीलेटर व आक्सीजन के विशेष इंतजाम किए जा रहे हैं, वहीं टेस्टिंग पर विशेष जोर दिया जा रहा है।

बच्चों की रैंडम सैंपलिंग से लगेगा संक्रमण का पता

जिला निगरानी अधिकारी डा. राकेश भारद्वाज ने बताया कि स्कूलों व कालेजों में बच्चों की रैंडम सैंपलिग की जाएगी। शिमला में करीब 10 लाख से अधिक लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। वैक्सीन के असर के बाद संक्रमण कम हो गया है। लेकिन बच्चों में कोरोना संक्रमण देखा जा रहा है इसलिए सतर्कता बरतते हुए विभाग की ओर से सैंपलिग करवाने की तैयारी की जा रही है। हालांकि कुछ स्थानों पर यह मुहिम शुरू कर दी गई है। दीपावली की छुट्टियों के बाद अब स्कूल खुल गए हैं तो टेस्टिंग की मुहिम जल्द शुरू की जाएगी।

दूरदराज के इलाकों में टेस्टिंग पर विशेष ध्यान देने की तैयारी

मौजूदा समय में यह टेस्टिंग अभियान शिमला के कई स्थानों पर शुरू किया जा चुका है। कुछ दिन पहले डोडरा क्वार क्षेत्र में स्कूली बच्चों के टेस्ट किए गए तो इनमें से दो बच्चों में संक्रमण की पुष्टि हुई। ग्रामीण क्षेत्रों व दूरदराज के इलाकों में टेस्टिंग पर विशेष ध्यान देने की तैयारी की जा रही है। इसके अलावा हेल्थ सब सेंटर लेवल तक भी आक्सीजन की सप्लाई की व्यवस्था की जा रही है ताकि जरूरत पड़ने पर किसी प्रकार की परेशानी सामने न आए।

Edited By Rajesh Kumar Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept