हिमाचल में नया मोटर व्‍हीकल एक्‍ट लागू होने के बाद हादसों का ग्राफ घटा, मरने वालों का आंकड़ा बढ़ा, देखिए आंकड़े

Himachal Road Accident Graph हिमाचल प्रदेश में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होते ही सड़क हादसों में भी कमी आना शुरू हो गई है। सख्त नियमों के साथ जुर्माना ज्यादा होने से वाहन चालक यातायात नियमों का पालन कर रहे हैं।

Rajesh Kumar SharmaPublish: Mon, 17 Jan 2022 07:09 AM (IST)Updated: Mon, 17 Jan 2022 08:04 AM (IST)
हिमाचल में नया मोटर व्‍हीकल एक्‍ट लागू होने के बाद हादसों का ग्राफ घटा, मरने वालों का आंकड़ा बढ़ा, देखिए आंकड़े

शिमला, अनिल ठाकुर। Himachal Road Accident Graph, हिमाचल प्रदेश में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू होते ही सड़क हादसों में भी कमी आना शुरू हो गई है। सख्त नियमों के साथ जुर्माना ज्यादा होने से वाहन चालक यातायात नियमों का पालन कर रहे हैं। यातायात नियमों की कड़ाई से पालना होने से सड़क हादसों में भी कमी आई है। वर्ष 2019 में 514 सड़क हादसे हुए थे, जबकि 2021 में केवल 371 ही सड़क हादसे हुए। हालांकि पिछले दो सालों की तुलना में 2021 में सड़क हादसे भले ही कम हुए हैं लेकिन मौत का आंकड़ा बढ़ा है। दिसंबर 2020 में नया मोटर व्हीकल एक्ट लागू किया गया है। इसके बाद से लगातार हादसों में कमी दर्ज हुई। सड़क हादसों में घायल भी कम हुए और जान-माल की काफी हद तक सुरक्षा भी हुई।

शिमला पुलिस ने पिछले तीन सालों के सड़क दुर्घटनाओं के आंकड़े जारी किए हैं। आंकड़ों के अनुसार, सड़क दुर्घटनाओं के ग्राफ में एक तिहाई तक की कमी आई है। सबसे ज्यादा सड़क हादसे शराब पीकर गाड़ी चलाने या फिर गाड़ी चलाते वक्त मोबाइल फोन सुनते हुए होते हैं। इसमें चालान की राशि बढ़ाई गई है। पुलिस का मानना है कि ज्यादा जुर्माने की राशि व पुलिस के जागरूकता अभियान से सड़क हादसे कम हुए हैं। पुलिस का भी मानना है कि सितंबर में सड़क दुर्घटनाओं में काफी कमी आई।

शराब पीकर गाड़ी चलाने पर 22,500 रुपये जुर्माना

नए मोटर व्हीकल एक्ट में जुर्माने की राशि काफी ज्यादा बढ़ाई गई है। शराब पीकर गाड़ी चलाने वालों पर शिकंजा कसा गया है। मोबाइल ट्रैफिक मेजिस्ट्रेट ने खुद अक्टूबर को शराब पीकर गाड़ी चलाने पर 22,500 रुपये का जुर्माना लगाया था। गाड़ी चलाते वक्त मोबाइल फोन सुनना, शराब पीकर गाड़ी चलाने के अलावा यातायात नियमों की अवहेलना पर काफी ज्यादा जुर्माना बढ़ाया गया है। ऐसे में लोग अब खुद भी यातायात नियमों का पालन करने लग पड़े हैं।

जागरूकता अभियान चला रही है पुलिस

एसपी शिमला डाक्‍टर मोनिका भुटूंगरू ने कहा शिमला पुलिस सड़क हादसों में कमी लाने के लिए जागरूकता अभियान भी चला रही है। इसी के प्रयासों से सड़क दुर्घटनाओं में कमी है। जागरूकता के अभियान के दौरान टैक्सी चालकों सहित लोगों को भी यातायात नियमों की जानकारी दी जाती है ताकि हादसे न हों। उन्होंने कहा कि यातायात नियमों की अवहेना करने वालों के चालान भी काटे जा रहे हैं।

किस साल कितने हादसे

  • वर्ष हादसे मौत जख्मी
  • 2019 514 186 847
  • 2020 402 157 773
  • 2021 361 187 579

Edited By Rajesh Kumar Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept