This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

हिमाचल में निजी बसें चलाने पर आज हो सकता है फैसला, हड़ताल पर चल रहे हैं ऑपरेटर्स

हिमाचल प्रदेश में हड़ताल पर चल रहे निजी बस आपरेटर बसें चलाने पर मंगलवार को फैसला ले सकते हैं। निजी बस ऑपरेटर्स पथकर में छूट व अन्य मांगों के समर्थन में हड़ताल पर चल रहे हैं। हालांकि सरकार ने ऑपरेटर्स को 40 करोड़ का पैकेज जारी किया है

Rajesh Kumar SharmaTue, 15 Jun 2021 12:45 PM (IST)
हिमाचल में निजी बसें चलाने पर आज हो सकता है फैसला, हड़ताल पर चल रहे हैं ऑपरेटर्स

शिमला, जेएनएन। Himachal Private Bus Operators, हिमाचल प्रदेश में हड़ताल पर चल रहे निजी बस आपरेटर बसें चलाने पर मंगलवार को फैसला ले सकते हैं। निजी बस ऑपरेटर्स पथकर में छूट व अन्य मांगों के समर्थन में हड़ताल पर चल रहे हैं। हालांकि सरकार ने ऑपरेटर्स को 40 करोड़ का पैकेज जारी किया है लेकिन इसे कम मान रहे हैं। आज परिवहन मंत्री के साथ यूनियन के पदाधिकारियों की बैठक हो सकती है। हालांकि जिला कांगड़ा सहित मंडी व कुल्‍लू में कुछ ऑपरेटर्स ने बसें चलाना शुरू कर दी हैं। कांगड़ा जिला में सोमवार से ही कुछ ऑपरेटर्स ने अपने तय रूट पर बसें भेजकर सवारियों को सुविधा दी।

कुल्लू में 20 रूटों पर चलीं निजी बसें

जिला कुल्लू में 34 दिन बाद सोमवार से सार्वजनिक परिवहन सेवा शुरू होने से लोगों ने राहत की सांस ली है। हिमाचल पथ परिवहन निगम कुल्लू डिपो ने सोमवार को अपने 240 रूट में से पहले दिन जिला के 45 रूटों पर बस सेवा शुरू की जबकि निजी बस आपरेटर संघ कुल्लू ने भी 150 में से 20 रूट पर बसें चलाई। कुल्लू डिपो ने सोमवार को जिन रूट पर बसें शुरू कीं उनमें कुल्लू-शिमला, पठानकोट, बागीपुल, दलाश सहित पांच लंबे रूट भी शामिल हैं। हालांकि सरकार ने बसों को 50 फीसदी क्षमता के साथ चलाने को कहा है। कुल्लू जिला निजी बस आपरेटर संघ के अध्यक्ष रजत जंबाल ने बताया कि निजी आपरेटर इन रूटों को ट्रायल के तौर पर शुरू कर रहे हैं यदि सवारियां मिलती हैं तो बसों की संख्या बढ़ाने पर विचार करेंगे। 

मंडी में निजी बस यूनियन में टकराव, कुछ ने चलाई बसें

परिवहन सेवा शुरू होते ही कुछ निजी बस आपरेटरों ने अपनी बसें कुल्लू से मंडी रूट पर भेज दीं। सूचना मिलते ही निजी बस आपरेटर यूनियन मंडी के पदाधिकारी बस अड्डे पर पहुंचे और उन्होंने आपरेटरों से बसें न चलाने का आग्रह किया। इस पर अन्य बस आपरेटर मान गए। यूनियन के पदाधिकारियों ने कहा कि अनभिज्ञता के कारण निजी आपरेटरों ने बसें चलाई थीं, जिन्हें वापस भेज दिया गया है। यूनियन के अध्यक्ष गुलशन कुमार ने कहा कि जब तक सरकार मांगें नहीं मान लेती हड़ताल जारी रहेगी।

Edited By: Rajesh Kumar Sharma

कांगड़ा में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!