नवग्रह पौधों का नहीं ज्ञान तो एनुअल असेस्‍मेंट में कटेंगे विद्यार्थियों के नंबर, स्‍कूलों में बनेंगी वाटिका

Navagraha Plants Vatika कक्षा छठी से लेकर जमा दो के विद्यार्थियों को परीक्षाओं में अच्छे अंक लेने के लिए सिर्फ पाठ्य पुस्तकों को ही नहीं रटना होगा बल्कि पुस्तकों से हटकर व्यवहारिक अध्ययन करना भी अनिवार्य होगा। ऐसा न करने पर विद्यार्थियों को एनुअल असेस्टमेंट में काफी अंक कम होंगे।

Rajesh Kumar SharmaPublish: Tue, 18 Jan 2022 06:32 AM (IST)Updated: Tue, 18 Jan 2022 07:58 AM (IST)
नवग्रह पौधों का नहीं ज्ञान तो एनुअल असेस्‍मेंट में कटेंगे विद्यार्थियों के नंबर, स्‍कूलों में बनेंगी वाटिका

धर्मशाला, मुनीष गारिया। Navagraha Plants Vatika in School, कक्षा छठी से लेकर जमा दो के विद्यार्थियों को परीक्षाओं में अच्छे अंक लेने के लिए सिर्फ पाठ्य पुस्तकों को ही नहीं रटना होगा, बल्कि पुस्तकों से हटकर व्यवहारिक अध्ययन करना भी अनिवार्य होगा। ऐसा न करने पर विद्यार्थियों को एनुअल असेस्टमेंट में काफी अंक कम होंगे। नई शिक्षा नीति के तहत स्कूली छात्रों को नवग्रह से संबंधित पौधों का ज्ञान भी दिया जाएगा। इसके लिए हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने मेरा विद्यालय मेरी वाटिका योजना शुरू की है।

इस योजना के तहत हर स्कूल में एक नवग्रह वाटिका बनाई जाएगी। इस वाटिका में नवग्रह के पौधे लगाए जाएंगे। स्कूल में छात्र के जन्मदिन के अवसर पर उसे नवग्रह से संबंधित पौधा दिया जाएगा। यह पौधा स्कूल के वाटिका या फिर विद्यार्थी के घर में वह खुद लगाएगा। इस पौधे का विद्यार्थी ही ख्याल भी रहेगा। वार्षिक परीक्षाओं के पूर्व विद्यार्थी पौधों की स्थिति और पौधे से संबंधित अपनी प्रस्तुति देगा। इस प्रस्तुति के आधार पर विद्यार्थी को प्रति विषय एक अंक दिया जाएगा। छठीं से लेकर दसवीं कक्षा के विद्यार्थियों को इस योजना के तहत वार्षिक सात अंक दिए जाएंगे, जबकि जमा एक व दो कक्षा के विद्यार्थियों को कुल पांच अंक दिए जाएंगे। पौधा न लगाने और उसकी देखभाल न करने वाले विद्यार्थी को यह अंक दिए जाएं जाएंगे।

वाटिका और विद्यार्थियों के लिए वन विभाग देगा पौधे

शिक्षा बोर्ड के प्रस्ताव को वन विभाग ने स्वीकृति दे दी है। स्वीकृति के साथ ही विभाग ने कहा कि वह वाटिका के लिए पौधे भी देगा। इसके अलावा स्कूल में एक माली की तैनाती की जाएगी और वाटिका के लिए पानी की व्यवस्था अलग से की जाएगी।

चयनित स्कूलों की वाटिका में लगाई जाएगी नर्सरी

बोर्ड से मान्यता प्राप्त सभी स्कूलों में वाटिका बनाई जाएगी। इसके अलावा जिन स्कूलों में वाटिका के अलावा भी थोड़ा अधिक स्थान है। उन स्कूलों में शिक्षा बोर्ड वन विभाग के सहयोग से नर्सरी भी लगाएगा। इन्हीं नर्सरी से अन्य स्कूलों को पौधे दिए जाएंगे।

क्‍या कहते हैं बोर्ड अध्‍यक्ष

हिमाचल प्रदेश स्‍कूल शिक्षा बोर्ड अध्‍यक्ष डाक्‍टर सुरेश सोनी नई शिक्षा नीति के तहत बोर्ड ने मेरा विद्यालय मेरी वाटिका योजना का प्रस्ताव बनाया है, जिसको वन मंत्री व वन विभाग से स्वीकृति मिल गई है। नई शिक्षा नीति के तहत रटंत शिक्षा से बढ़कर व्यवहारिक शिक्षा पर बल दिया जा रहा है, ताकि बच्चों को सर्वांगीण विकास हो सके।

किस गृह के लिए होता है कौन का पौधा

  • ग्रह, पौधा
  • केतु, कुशा
  • बृहस्पति, पीपल
  • बुध, चिरचिता
  • मंगल, खैर
  • राहू, दुर्वा
  • ग्रह चंद्र, पलाश पौधा
  • शुक्र, गूलर पेड़
  • ग्रह शनि, शीशम
  • सूर्य, आक

Edited By Rajesh Kumar Sharma

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम