This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

मुख्‍यमंत्री बोले, 18 से 44 आयु के लोगों के लिए हर सप्‍ताह चाहिएं कोरोना वैक्‍सीन की पांच लाख डोज

Himachal Covid Vaccination मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंत्रिमंडल बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 18 वर्ष से 44 वर्ष आयु के लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए हर सप्ताह पांच लाख डोज चाहिए। इस संबंध में सीरम कंपनी से मामला उठाया गया है।

Rajesh Kumar SharmaTue, 25 May 2021 07:48 AM (IST)
मुख्‍यमंत्री बोले, 18 से 44 आयु के लोगों के लिए हर सप्‍ताह चाहिएं कोरोना वैक्‍सीन की पांच लाख डोज

शिमला, राज्य ब्यूरो। Himachal Covid Vaccination, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने मंत्रिमंडल बैठक के बाद पत्रकारों से बातचीत में कहा कि 18 वर्ष से 44 वर्ष आयु के लोगों को वैक्सीन लगाने के लिए हर सप्ताह पांच लाख डोज चाहिए। इस संबंध में सीरम कंपनी से मामला उठाया गया है। उम्मीद है कि जून से प्रदेश को अधिक मात्रा में वैक्सीन मिलने लगेगी। जयराम ठाकुर ने स्वास्थ्य सचिव को कहा गया है कि यदि निजी अस्पताल वैक्सीनेशन करने में आगे आना चाहते हैं तो इसका पता लगाया जाए ताकि वह कोविशील्ड या स्पुतनिक वैक्सीन लगाने का कार्यक्रम शुरू कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि पंजीकरण करवाने वाले लोगों को वैक्सीन की उपलब्धता के आधार पर बुलाया जाएगा, इसलिए स्वास्थ्य केंद्रों में अनावश्यक भीड़ न लगाएं। जयराम ठाकुर ने बताया कि प्रदेश में ब्लैक फंगस के पांच मामले आए हैं। तीन मरीजों का सफल आपरेशन किया गया है।

मुख्यमंत्री ने व्यापरियों से आग्रह किया कि प्रदेश कठिन समय से गुजर रहा है और प्रदेश के व्यवसायियों से सरकार सहयोग चाहती है। पांच दिनों के बाद सरकार कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा करेगी और उसके बाद हालात में सुधार को देखते हुए निर्णय लेगी। उन्हें पता है कि कोरोना कफ्र्यू से प्रदेश के हर तबके के लोग प्रभावित हो रहे हैं, लेकिन संक्रमण से बचाव का कोई दूसरा रास्ता भी नहीं है।

यह भी पढ़ें: Himachal Weather Update: प्रदेश में दो दिन मौसम साफ रहने के बाद फ‍िर सक्रिय होगा प‍श्चिमी विक्षोभ

यह भी पढ़ें: Himachal Coronavirus Update: कोरोना संक्रमण के मामलों में कमी, स्‍वस्‍थ होने की दर 85 फीसद पहुंची

यह भी पढ़ें: बच्‍चों व उम्रदराज सहित इन रोगों से पीड़‍ित लोगों के लिए ज्‍यादा खतरनाक है कोरोना संक्रमण

यह भी पढ़ें: आइसीटी लैब से लाइव कक्षाएं लगाने का प्रस्ताव लटका, स्कूल बंद होने व कर्फ्यू की वजह से घरों से ही पढ़ाई

Edited By: Rajesh Kumar Sharma

कांगड़ा में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!