सीएम जयराम बोले, आदिबद्री बांध से बढ़ेगा पर्यटन और हरियाली, हिमाचल व हरियाणा सरकार ने साइन किया एमओयू

Adibadri Dam MoU Sign मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि पीएम नरेन्द्र मोदी का सपना जल्द पूरा होगा और आदिबद्री बांध से धार्मिक पर्यटन व खेतों में हरियाली बढ़ेगी। मोदी ने तीन अप्रैल 2014 को कुरूक्षेत्र में सरस्वती नदी के पुनरुत्थान के प्रति प्रतिबद्धता जताई थी।

Virender KumarPublish: Fri, 21 Jan 2022 06:19 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 06:19 PM (IST)
सीएम जयराम बोले, आदिबद्री बांध से बढ़ेगा पर्यटन और हरियाली, हिमाचल व हरियाणा सरकार ने साइन किया एमओयू

शिमला, राज्य ब्यूरो। Adibadri Dam MoU Sign, मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा है कि पीएम नरेन्द्र मोदी का सपना जल्द पूरा होगा और आदिबद्री बांध से धार्मिक पर्यटन व खेतों में हरियाली बढ़ेगी। मोदी ने तीन अप्रैल, 2014 को कुरुक्षेत्र में जनसभा को संबोधित करते हुए सरस्वती नदी के पुनरुत्थान के प्रति प्रतिबद्धता जताई थी।

इससे पहले पंचकूला में शुक्रवार को हिमाचल और हरियाणा सरकार के बीच यमुनानगर के आदिबद्री क्षेत्र के समीप हिमाचल में 77 एकड़ भूमि में आदिबद्री बांध के निर्माण के लिए समझौता ज्ञापन (एमओयू) साइन किया गया। इस परियोजना के माध्यम से 215.35 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से सरस्वती नदी का पुनरुद्धार होगा। हिमाचल के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर और हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल की उपस्थिति में दोनों राज्यों के मुख्य सचिवों ने हस्ताक्षर किए।

जयराम ने कहा कि यह परियोजना हिमाचल के लिए अत्यंत लाभदायक सिद्ध होगी, क्योंकि इससे राज्य की 3.92 हेक्टेयर मीटर प्रतिवर्ष पेयजल की आवश्यकता की पूर्ति होगी और प्रभावित बस्तियों के लिए सिंचाई के पानी की उपलब्धता के लिए 57.96 हेक्टेयर मीटर पानी निर्धारित किया जाएगा। बांध का उपयोग न केवल सरस्वती नदी के पुनरुद्धार के लिए किया जाएगा, बल्कि इससे क्षेत्र में जल संरक्षण को भी सहायता मिलेगी। परियोजना के लिए पूरी राशि की व्यवस्था हरियाणा सरकार द्वारा की जाएगी। दोनों राज्य सरकारें परियोजना के प्राथमिक उद्देश्य से समझौता किए बिना स्वयं के संसाधनों का उपयोग करके स्थानीय लोगों के कल्याण और विकास के लिए आवश्यक बुनियादी सुविधाएं विकसित करने के साथ पर्यटन परियोजनाएं बनाने के लिए भी स्वतंत्र होंगी।

ये थे मौजूद

इस समिति में हरियाणा के अतिरिक्त मुख्य सचिव सिंचाई, हिमाचल प्रदेश के जल शक्ति विभाग के सचिव, दोनों राज्यों के इंजीनियर-इन-चीफ और अन्य प्रतिनिधि शामिल हैं। इस अवसर पर हरियाणा सरकार के शिक्षा, भाषा एवं संस्कृति मंत्री कंवर पाल गुज्जर ने मुख्यमंत्रियों का स्वागत किया। हरियाणा के जल शक्ति विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव अनुराग रस्तौगी ने दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों और अन्य गणमान्य व्यक्तियों का स्वागत किया। हरियाणा के जल शक्ति विभाग के अधीक्षक अभियंता अरविंद कौशिक ने प्रस्तावित आदिबद्री परियोजना की मुख्य विशेषताओं के बारे में एक विस्तृत प्रस्तुति दी। हरियाणा विधानसभा के अध्यक्ष ज्ञान चंद गुप्ता, सांसद अम्बाला रत्न लाल कटारिया, हिमाचल प्रदेश के मुख्य सचिव राम सुभाग सिंह, हरियाणा के मुख्य सचिव संजीव कौशल, केंद्रीय जल आयोग के अध्यक्ष आरके सिन्हा, हिमाचल जल शक्ति विभाग के विशेष सचिव डा. अश्विनी कुमार शर्मा और हिमाचल प्रदेश तथा हरियाणा के अन्य वरिष्ठ अधिकारी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Edited By Virender Kumar

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept