भारी बारिश व हिमपात से पटरी से उतरा जनजीवन

जिला चंबा में शुक्रवार से हो रही भारी बारिश व हिमपात से जनजीवन पूरी तरह से पटरी से उतर गया है।

JagranPublish: Sun, 09 Jan 2022 07:04 PM (IST)Updated: Sun, 09 Jan 2022 07:04 PM (IST)
भारी बारिश व हिमपात से पटरी से उतरा जनजीवन

जागरण टीम, चंबा/पांगी/भरमौर/सलूणी/चुराह/मैहला : जिला चंबा में शुक्रवार से हो रही भारी बारिश व हिमपात से जनजीवन पूरी तरह से पटरी से उतर गया है। रविवार को सुबह से ही भरमौर में हिमपात का दौर जारी रहा तथा शाम तक मुख्यालय में एक फीट से अधिक हिमपात दर्ज किया गया। वहीं सलूणी, चुराह सहित अन्य ऊंचाई वाले क्षेत्रों में भी हिमपात हुआ है। हालांकि पांगी में रविवार को दोपहर तक ताजा हिमपात नहीं हुआ था लेकिन यहां पर मौसम के तेवर कड़े थे। वहीं चंबा-भरमौर एनएच पर मैहला के समीप भारी भूस्खलन से बंद हुआ मार्ग रविवार दोपहर करीब तीन बजे तक बहाल कर दिया गया जिसके बाद यहां से आगे वाहनों की आवाजाही सुचारू हो पाई। मार्ग शनिवार दोपहर करीब दो बजे बाधित हुआ था जिसे बहाल करने में करीब 25 घंटे लग गए। हालांकि यहां पर अभी तक भूस्खलन का खतरा बना हुआ है। यदि भारी बारिश का दौर जारी रहता है तो यहां पर फिर से भूस्खलन शुरू हो सकता है, जिस कारण लोगों की दिक्कतें बढ़ सकती हैं। भारी हिमपात के कारण भरमौर व होली क्षेत्र में रविवार को दूध, ब्रेड व सब्जियों की सप्लाई नहीं हो पाई। लोग घरों में ही दुबके रहे।

------

जिला में बारिश व हिमपात से करीब 140 मार्ग बाधित हो गए हैं। इनमें 102 मार्ग जिला चंबा के विभिन्न हिस्सों व 38 मार्ग पांगी घाटी में बंद पड़े हैं। बीते एक सप्ताह से हो रही भारी बारिश व हिमपात के कारण लोक निर्माण को करीब 10 से 12 करोड़ का नुकसान हो चुका है। वहीं अकेले रविवार को विभाग को करीब तीन करोड़ 46 लाख का नुकसान हुआ है। इसमें पांगी घाटी में हुए नुकसान का आंकड़ा नहीं है।

------

कहां कितने मार्ग बंद

लोनिवि मंडल,मार्ग बंद,नुकसान

भरमौर,15,41 लाख

डलहौजी,10,57 लाख

चंबा,34,90 लाख

तीसा,22, 63 लाख

सलूणी,21,95 लाख

पांगी,38,--

--------

कहां कितना हिमपात

उपमंडल मुख्यालय भरमौर में करीब एक फीट, सचूई के मलकौता गांव में डेढ फीट, बुलमुई, सुप्पा, खुंड, ग्रीमा, उल्लांसा, कुगति में एक से डेढ़ फीट, भरमाणी में करीब दो फीट तक हिमपात हो चुका है। सलूणी मुख्यालय में करीब पांच इंच, संघणी, लंगेरा व त्रियूंदी में आठ इंच तथा गढ़ माता में करीब एक फीट तक हिमपात हुआ है। इसके अलावा चुराह में भी पांच इंच से डेढ़ फीट तक बर्फबारी हुई है। वहीं पांगी घाटी में रविवार दोपह को भले ही कोई बर्फबारी न हुई हो लेकिन शनिवार को बर्फबारी का दौर जारी था। ऐसे में पांगी मुख्यालय किलाड़ में करीब चार फीट तो ऊपरी क्षेत्रों में करीब पांच फीट तक हिमपात हो चुका है। वहीं जोत में करीब दो फीट, खजियार में करीब डेड़ फीट व डलहौजी में करीब एक फीट तक हिमपात हुआ है।

-----

चंबा में 150 ट्रांसफार्मर बंद

भारी बारिश व हिमपात के कारण जिला चंबा में करीब 300 ट्रांसफार्मर बंद पड़ गए थे। इनमें से करीब 150 ट्रांसफार्मरों को विद्युत बोर्ड द्वारा बहाल करवा दिया गया है जबकि बाकी बचे 150 ट्रांसफार्मरों को बहाल करने में विद्युत बोर्ड के कर्मचारी जुटे हुए थे। ट्रांसफार्मर बंद होने के कारण सैकड़ों गांव अंधेरे में हैं। अधिशाषी अभियंता पवन शर्मा ने कहा कि मौसम खुलते ही सभी ट्रांसफार्मरों को दुरुस्त करवा दिया जाएगा।

------

जिला चंबा में लगातार बारिश व बर्फबारी का दौर जारी है इसलिए सभी विभागों को निर्देश दिए गए हैं कि जिदगी की रफ्तार को बरकरार रखने के लिए युद्धस्तर पर कार्य करें। लोगों को भी एहतियात बरतने की जरूरत है। यदि जरूरी न हो तो लोग घरों से बाहर न निकलें।

-डीसी राणा, उपायुक्त चंबा।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept