किसान नेताओं ने छापा मार गोदाम से पकड़ा खाद, बिल नहीं होने का आरोप

जोड़िया नाका के पास भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने किसानों के साथ मिलकर हिदुस्तान फर्टिलाइजर के गोदाम पर छापा मारा। यूनियन नेताओं का आरोप है कि गोदाम से काफी संख्या में खाद के ऐसे कट्टे मिले जिनका कोई रिकार्ड नहीं था। यहां तक की दुकान के संचालक ने दो घंटे तक तो गोदाम का ताला ही नहीं खोला।

JagranPublish: Fri, 21 Jan 2022 08:04 PM (IST)Updated: Fri, 21 Jan 2022 08:04 PM (IST)
किसान नेताओं ने छापा मार गोदाम से पकड़ा खाद, बिल नहीं होने का आरोप

जागरण संवाददाता, यमुनानगर : जोड़िया नाका के पास भारतीय किसान यूनियन के पदाधिकारियों ने किसानों के साथ मिलकर हिदुस्तान फर्टिलाइजर के गोदाम पर छापा मारा। यूनियन नेताओं का आरोप है कि गोदाम से काफी संख्या में खाद के ऐसे कट्टे मिले जिनका कोई रिकार्ड नहीं था। यहां तक की दुकान के संचालक ने दो घंटे तक तो गोदाम का ताला ही नहीं खोला। यहां तक की कृषि एवं कल्याण विभाग के अधिकारी भी ताला खोलने के लिए कहते रहे लेकिन किसी ने ताला नहीं खोला। जब ताला खुला तो अंदर जिस खाद का कोई रिकार्ड नहीं था उसमें से 150 से 175 कट्टे किसानों को दिलाए गए। वहीं कृषि विभाग के अधिकारियों ने फर्टिलाइजर दुकान के संचालक को शोकाज नोटिस जारी कर खाद का रिकार्ड मांगा है। वहीं जिस गोदाम से खाद पकड़ा गया उसके संचालक का कहना है कि किसान उसे बेवजह परेशान कर रहे हैं। उसके पास सारा रिकार्ड है।

भाकियू निदेशक मंदीप सिंह रोड छप्पर ने बताया कि वह प्रदेश सचिव हरपाल सिंह सुढल, जिला प्रधान संजू गुंदियाना, किसान इंद्रजीत सिंह, जितेंद्र सिंह, बबलू, गुरप्रीत सिंह, जय सिंह व पप्पल के साथ जोड़ियां नाका पर पेट्रोल पंप के पास स्थित हिदुस्तान फर्टिलाइजर के गोदाम पर पहुंचे थे। उन्हें काफी दिन से सूचना मिल रही थी कि इसका संचालक सुबह चार बजे दुकान की बजाय गोदाम खोलता है। दिनभर दुकान बंद रहती है। इसके बाद रात को आठ बजे दुकान खोली जाती है। जो किसान खाद खरीदने आते हैं वह दुकान को बंद देख कर वापस लौट जाते हैं। आज रोड छप्पर गांव का किसान इंद्रजीत सिंह उसके पास खाद लेने के लिए आया तो वह उसे खाद के साथ सल्फर खरीदने को मजबूर कर रहा था। जिस पर वह किसानों के साथ मौके पर पहुंचे। मंदीप सिंह ने बताया कि दुकान के मालिक ने गोदाम का शटर खोलने से मना कर दिया । उन्होंने कृषि विभाग के एसडीओ सतबीर सिंह व पुलिस को भी मौके पर बुलाया। फिर भी ताला नहीं खोला गया। कड़ी मशक्कत के बाद ताला खुला तो अंदर से करीब 900 कट्टे मिले। इनमें से 400 कट्टे ऐसे थे जिनका कोई रिकार्ड नहीं था। इनमें से कुछ कुट्टे किसानों को उठवा दिए। जिला प्रधान संजू गुंदियाना ने बताया कि एक तरफ किसानों को खाद नहीं मिल रहा। किसान परेशान हो रहा है। परंतु कुछ लोग ऐसे भी हैं जो खाद होते हुए भी किसानों को परेशान कर रहे हैं। शोकाज नोटिस जारी किया है : सतबीर सिंह

कृषि विभाग के एसडीओ सतबीर सिंह का कहना है कि जब वह मौके पर पहुंचे तो किसानों को खाद दिलवा दिया गया। यह विभाग का फर्टिलाइजर लाइसेंस धारक है। उसे शोकाज नोटिस जारी कर पूछा गया है कि जो खाद स्टाक में था उसका पूरा विवरण दिया जाए। यदि उसमें कोई खामी मिली तो फर्टिलाइजर एक्ट के तहत कार्रवाई की जाएगी।

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept