बूंदाबांदी से सड़कों पर फैला कीचड़, सर्दी से ठिठुरे लोग

रात से शुरू हुई बारिश से शनिवार को मौसम सर्द हो गया। शीतलहर में ठंडी हवाओं के चलने और अधिकतम तापमान में कमी के चलते पहले से और ज्यादा तेजी आ गई।

JagranPublish: Sat, 22 Jan 2022 05:07 PM (IST)Updated: Sat, 22 Jan 2022 05:07 PM (IST)
बूंदाबांदी से सड़कों पर फैला कीचड़, सर्दी से ठिठुरे लोग

जागरण संवाददाता, सोनीपत : रात से शुरू हुई बारिश से शनिवार को मौसम सर्द हो गया। शीतलहर में ठंडी हवाओं के चलने और अधिकतम तापमान में कमी के चलते पहले से और ज्यादा तेजी आ गई। लोग दिनभर सर्दी में ठिठुरते रहे। शहर की सड़कों पर कीचड़ फैल गया। मौसम में बदलाव से फसलों को फायदा होगा। आने वाला पूरा सप्ताह शीतलहर का सामना करना पड़ेगा।

दो सप्ताह से चल रही शीतलहर शनिवार को भी जारी रही। रात से हो रही बूंदाबांदी के साथ ही तेज ठंडी हवाओं के चलने से मौसम सर्द हो गया। बारिश के बाद सबसे ज्यादा परेशानी सड़कों पर कीचड़ फैलने से हुई। शहर की प्रमुख सड़कों पर कीचड़ की भरमार रही। इसके साथ ही सड़कों पर जगह-जगह जलभराव हो गया। सर्दी और बारिश के चलते शनिवार को बाजार दिनभर सूने पड़े रहे। ज्यादातर लोग शीतलहर के चलते घरों से नहीं निकले। तापमान कम रहने के साथ ही तेज ठगी हवाओं ने लोगों को परेशान किया। कम रही दृश्यता :

बादल छाने और बारिश होने के चलते दिनभर दृश्यता कम रही। दिन में अधिकतम 150 मीटर तक ही साफ देखा जा सका और शाम को दृश्यता में और कमी हो गई। मौसम विभाग ने दो दिन तक मौसम में बदलाव होने के संकेत दिए हैं। इसके साथ ही भीषण सर्दी लोगों को परेशान करेगी। वाहन चालकों को ऐसे मौसम में विशेष सावधानी बरतने की सलाह दी गई है।

आज भी हो सकती है बारिश :

मौसम विभाग ने दिनभर की बूंदाबांदी के साथ ही रात को भी बारिश होने का पूर्वानुमान जारी किया है। इसके साथ ही रविवार को कई क्षेत्रों में हल्की बारिश होगी। आ‌र्द्रता 88 प्रतिशत होने से लगातार बारिश होने का पूर्वानुमान है। बारिश थमने के बाद घना कोहरा छाने का पूर्वानुमान जारी किया गया है। इसके चलते सफर करने वालों को सावधान रहने की जरूरत है। गेहूं के लिए है लाभकारी :

कृषि विभाग के अनुसार हल्की बारिश फसलों के लिए लाभकारी है। इससे सबसे ज्यादा लाभ गेहूं की फसल को होगा। गेहूं को उर्वरक देने की फिलहाल जरूरत नहीं है। तापमान कम रहने और बारिश होने से गेहूं की बढ़वार अच्छी होगी, जिसका लाभ पैदावार में मिलेगा। किसानों को खेतों में जलभराव नहीं होने देना है। पानी लंबे समय तक भर जाने से फसलों को नुकसान हो सकता है। ऐसे में खेतों में पानी भर जाने के बाद उसको बाहर निकालने की व्यवस्था करें। पशुओं को हो सकती है परेशानी :

लगातार बारिश होने और धूप नहीं निकलने से पालतू पशुओं को परेशानी हो सकती है। पशुओं का बिछावन गीला होने से उनको सर्दी लग सकती है। इसके साथ ही तेज ठंडी हवाओं के सीधे संपर्क में आने से पशुओं को बुखार हो सकता है। ऐसे में पशुओं को सर्दी से बचाकर रखने की जरूरत है। वहीं पशुओं के खानपान पर ध्यान रखा जाना जरूरी है। सर्द रहेगा मौसम : (डिग्री सेल्सियस में)

दिन न्यूनतम - अधिकतम

शनिवार - .........07-13

रविवार - .........04/14

सोमवार - .........04/15

मंगलवार - .........04/14

बुधवार - .........04/15

बृहस्पतिवार - ........ 04/14 बारिश से हवा की सेहत में सुधार :

वायु गुणवत्ता सूचकांक .... 96

पीएम-10 ........... 130

पीएम-2.5 ........... 146

Edited By Jagran

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept
ट्रेंडिंग न्यूज़

मौसम