This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.
OK

सदमे में टिटौली के ग्रामीण, हवन-यज्ञ के साथ भगवान से कर रहे दुआएं

टिटौली गांव के ग्रामीण बड़े खौफजदा हैं। एक के बाद एक करके कई लोगों की मौत हो चुकी है।

JagranTue, 04 May 2021 05:26 AM (IST)
सदमे में टिटौली के ग्रामीण, हवन-यज्ञ के साथ भगवान से कर रहे दुआएं

जागरण संवाददाता, रोहतक : टिटौली गांव के ग्रामीण बड़े खौफजदा हैं। एक के बाद एक करके सप्ताह में 25 से अधिक लोगों की असमय मौत हो गई है। बुजुर्ग ही नहीं युवाओं की भी जिदगी की डोर टूट रही है, जो ग्रामीणों को डराने का काम कर रही है। पांच दिन पहले गांव में एक दिन में छह लोगों की चिताएं जलीं। ऐसा पहले कभी नहीं हुआ। कोई कोरेाना तो कोई वायरल को मौत की वजह बता रहा है। लेकिन इसकी पुष्टि नहीं हो सकी है क्योंकि बिना कोरोना जांच के ही मौत होने पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। बताया जाता है कि वर्तमान में भी 50 से अधिक लोग ऐसे हैं, जो बुखार से पीड़ित है। इनमें से कई घर में ही ऑक्सीजन पर हैं।

इस समय बुरे दौरे से गुजर रहे हैं।

दूध का कारोबार करने वाले जगदीश ने बताया गांव की आबादी 11 हजार से अधिक है। गांव में लगातार मौतें हो रही हैं। दस दिन में करीब 40 लोगों की मौत हो चुकी है। श्मशानघाट में चिता ठंडी होने से पहले ही फिर से मौत होने की सूचना मिल जाती है। इससे ग्रामीण दहशत में हैं। गांव में इतनी मौतें हो चुकी हैं, लेकिन अभी तक प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग की तरफ से कोई एक्शन नहीं लिया गया है। एक-एक दिन में पांच-पांच या इससे अधिक मौत हो चुकी हैं। ग्रामीण खौफजदा हो गए हैं।

गांव में करवाई जा रही मुनादी

सरपंच प्रतिनिधि सुरेश कुमार ने बताया कि लगातार हो रही मौतों को लेकर ग्रामीणों को जागरूक करने के लिए मुनादी करवाई जा रही है। मास्क का इस्तेमाल करने और शारीरिक दूरी का पालन करने के लिए लगातार प्रेरित किया जाता है। गांव की बैठकों व चौपालों में सामूहिक रूप से हुक्का पीने और ताश खेलने से भी मना किया जाता है ताकि कोरोना संक्रमण न फैल सके। हालांकि अब ग्रामीण जागरूक हो रहे हैं। सैंपल लेने पहुंचे स्वास्थ्य कर्मी, उम्मीद के मुताबिक नहीं पहुंचे ग्रामीण

सुरेश कुमार ने बताया कि प्रशासनिक अधिकारियों को अवगत कराया गया तो दो दिन तक स्वास्थ्य विभाग कर्मी कोरोना जांच के लिए सैंपल लेने पहुंचे। कुछ ग्रामीणों ने सैंपल लिए। लेकिन बाद में ग्रामीणों ने सैंपल देना बंद कर दिया। रविवार को दोपहर बाद स्वास्थ्य विभाग की टीम चली गई। सोमवार को स्वास्थ्य विभाग से संपर्क किया तो पता चला कि गांव में नहीं पहुंचे। स्वास्थ्य कर्मियों से फोन पर बात की तो उन्होंने सरपंच प्रतिनिधि को बताया कि ग्रामीण सैंपल देने ही नहीं पहुंचे, जिसके कारण गांव में नहीं गए। नियम तोड़ने पर करेंगे कार्रवाई : चौकी प्रभारी

टिटौली चौकी इंचार्ज सोमबीर सिंह ने बताया कि गांव में लगातार मौत हो रही हैं। लेकिन ग्रामीण अभी तक कोरोना महामारी बचाव नियमों को लेकर जागरूक नहीं है। ग्रामीणों को मास्क और सैनिटाइजर का इस्तेमाल के लिए प्रेरित किया जा रहा है। कुछ लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई भी की जाएगी। साथ ही, सामूहिक रूप हुक्का पीने और ताश खेलने वालों को भी मना किया जा रहा है। वर्जन

गांव टिटौली में लगातार मौत होने का मामला संज्ञान में आया था। इसके बाद वे रविवार को गांव में गए। गांव में सैनिटाइजेशन कराया गया। लोगों को भी जागरूक किया गया है। कोरोना टेस्ट के लिए स्पेशल कैंप लगाया गया, जिसमें ग्रामीणों के सैंपल लिए गए हैं। साथ ही, ग्रामीणों का जागरूक भी किया गया है। लगातार गांव में मॉनीटिरिग की जा रही है। कोरोना संक्रमण से ही मौत की बात सामने आई है। चूंकि जिन लोगों की मौत हुई है, उनका कोराना का टेस्ट नहीं था।

राजपाल चहल, बीडीपीओ, रोहतक टिटौली में निरंतर जारी रहेगा चलता फिरता हवन : स्वामी आर्यवेश

सार्वदेशिक आर्य प्रतिनिधि सभा नई दिल्ली के अध्यक्ष स्वामी आर्यवेश ने बताया कि टिटौली गांव मे पिछले कई दिनों से हो रही लगातार मौतों को देखते हुए आर्य समाज व ग्राम पंचायत ने निर्णय लिया है कि वातावरण की शुद्धि करने व वायरस आदि के प्रकोप को रोकने के लिए टैक्टर -ट्रॉली में हवन-यज्ञ किया जाएगा। लोगों में मायूसी के माहौल को तोड़कर उनको मुख्य धारा में जोड़ना भी मुख्य लक्ष्य है। यह कार्य गांव की गलियों में पिछले तीन दिन से चल रहा है। इस कार्य ने सरकार के सभी दिशा निर्देशों का पालन भी होता है। इस कार्य में स्वामी आदित्यवेश, स्वामी ब्रह्मानंद, प्रवेश आर्या, पूनम आर्या, अजयपाल आर्य, राजबीर वशिष्ठ, दयानंद शास्त्री, रजनेश आर्य, अमित आर्य, आर्य प्रवीण, आर्य मनीष, आर्य विकास, कृष्ण प्रजापत आदि विशेष जिम्मेदारी निभा रहे हैं।

Edited By Jagran

रोहतक में कोरोना वायरस से जुडी सभी खबरे

डाउनलोड करें हमारी नई एप और पायें अपने शहर से जुड़ी हर जरुरी खबर!